चारधाम यात्रा की तैयारियांः केदारनाथ के लिए हेली रजिस्ट्रेशन सेवा शुरू

अध्यात्म उत्तराखंड

देहरादून: बीते सालों की अपेक्षा इस वर्ष चारधाम यात्रा में बड़ी संख्या में यात्रियों के आने की सम्भावना है। इस संबंध में चारधाम यात्रा व्यवस्था से जुड़े रेखीय विभागों को आपसी समन्वय के साथ अप्रैल तक समुचित व्यवस्थाएं बनाने के निर्देश दिए।

चारधाम यात्रा की तैयारियां और व्यवस्थाओं को लेकर सोमवार को आयुक्त गढ़वाल मंडल सुशील कुमार की अध्यक्षता में नगर निगम सभागार ऋषिकेश में बैठक हुई। गढ़वाल मण्डल के सभी जिलाधिकारी, पुलिस अधिकारी, रेखीय विभाग के आला अधिकारियों के साथ चारधाम यात्रा की तैयारी को लेकर बैठक की। बताया कि, केदारनाथ के लिए हेली पंजीकरण मंगलवार आज से शुरू हो चुकी है। https://heliservices-uk-gov-in श्री बदरीनाथ और श्री केदारनाथ धाम के पूजा की ऑनलाइन बुकिंग htttps://badrinath&kedarnath- uk-gov-in पर उपलब्ध है।

इस तरह करवा सकते है पंजीकरण

तीर्थ यात्री https//registrationandtouristcare-uk-gov-in पर अपना ऑनलाइन और ऑफलाइन पंजीकरण जरूर करवा सकते है। वेब पोर्टल, रेजिस्ट्रेशन सेंटर, मोबाइल एप, यात्री मित्र के माध्यम से अपना पंजीकरण करवाये। हरिद्वार से लेकर संयुक्त बस अड्डा, गुरूद्वारा ऋषिकेश, बद्रीनाथ मार्ग, केदारनाथ, गंगोत्री, यमुनोत्री मार्ग पर आफ लाईन पंजीकरण व्यवस्था है।

गढ़वाल आयुक्त सुशील कुमार ने कानून व्यवस्था, यात्रा मार्गो, परिवहन, पेयजल, विद्युत आपूर्ति, यात्रा रजिस्ट्रेशन, स्वास्थ्य चिकित्सा, प्राथमिक उपचार, खाद्यान्न व्यवस्था की समीक्षा की। आवास व्यवस्था, धामों में दर्शन-पूजा व्यवस्था, सूचना संचार, हेली यात्रा, आपातकालीन परिचालन, स्वच्छता व्यवस्था, यात्रा वाहनों के ग्रीन कार्ड और पंजीकरण के विषयों पर संबंधित विभागों कार्यवाही की समीक्षा की गई। स्वास्थ्य टीम को पर्याप्त मात्रा में उपकरण और मेडिसिन उपलब्ध कराने के निर्देश दिए।

निकायों व पंचायतों और चारधाम यात्रा मार्गों पर सुलभ इंटरनेशनल सोशल सर्विस आर्गेनाइजेशन द्वारा धामों व पैदल मार्गों पर सफाई व्यवस्था बनाते हुए इसकी प्रतिदिन मॉनिटरिंग करने के निर्देश दिए। पेयजल व्यवस्था, विद्युत व्यवस्था, दूर संचार व्यवस्था, खाद्य व रसद सामग्री के लिए संबंधित विभागों को निर्देश दिए।

चारधाम यात्रा मार्गों पर पार्किंग, यात्रियों के लिए ठहरने के लिए व्यवस्था बनाने के लिए जीएमवीएम व यूकेटीएस को निर्देश दिए। पंजीकरण के लिए टूरिस्ट केयर सिस्टम ऐप विकसित किया गया है। ऑनलाइन पंजीकरण की सुविधा दी जा रही हैं। निजी वाहनों का विवरण भी दर्ज रहेगा। मौसम और सड़कों की अपडेट स्थिति की जानकारी मिल सकेगी।

साथ ही यात्रियों की आमद का पूर्ण विवरण भी उपलब्ध रहेगा। 12 चैकपोस्टों पर उपकरण सहित काउन्टर लगाए जाएंगे। बैठक में श्री बदरीनाथ- केदारनाथ मंदिर समिति के मुख्य कार्याधिकारी बीडी. सिंह, मुख्य विकास अधिकारी उत्तरकाशी गौरव कुमार, अपर आयुक्त और यात्रा प्रशासन संगठन के विशेष कार्याधिकारी नरेंद्र सिंह क्वीरियाल, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक श्वेता चौबे, पौड़ी यशवंत सिंह, टिहरी नवनीत भुल्लर, रूद्रप्रयाग आयुश अग्रवाल, अपर जिलाधिकारी हरिद्वार वीर सिंह वुदियाल, अपर जिलाधिकारी पौड़ी ईला गिरी, आरटीओ देहरादून एस.के.शर्मा, एआरटीओ अरविंद पाण्डेय, वाईएस तोमर ईई यूपीसील, ए के श्रीवास्तव, डा. हरीश गौड़ सहित परिवहन विभाग, चिकित्सा, एन एच, पीडब्ल्यूडी, खाद्यान्न, उरेड़ा पंचायत राज, संयुक्त यात्रा रोटेशन, सुलभ इंटरनेशनल के प्रतिनिधि बैठक में मौजूद रहे.

Related posts

उत्तराखण्ड पुलिस को फिक्की स्मार्ट पुलिस अवॉर्ड

सिद्धपीठ प्राचीन शिव मन्दिर के हाॅल का लोकार्पण व विवाह मण्डप का उद्घाटन अवसर पर सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत

वार मेमोरियल के लिए कारगी में चयनित भूमि का निरीक्षण करते हुए: मुख्यमंत्री