स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर सीएम आवास में राष्ट्रीय एकता की शपथ दिलाते हुएः सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत – Online Latest News Hindi News , Bollywood News
Breaking News
Home » उत्तराखंड » स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर सीएम आवास में राष्ट्रीय एकता की शपथ दिलाते हुएः सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत

स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर सीएम आवास में राष्ट्रीय एकता की शपथ दिलाते हुएः सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत

देहरादून: मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने 73वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर देहरादून के परेड ग्राउण्ड में आयोजित मुख्य कार्यक्रम में ध्वजारोहण किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों व उनके आश्रितों को शाॅल भेंट कर सम्मानित किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने थाना मुनस्यारी को सर्वश्रेष्ठ थाना घोषित होने पर एस.ओ मुनस्यारी श्री प्रदीप चैहान को भी सम्मानित किया। विभिन्न खेल प्रतियोगिताओं में राज्य की ओर से उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों को भी मुख्यमंत्री द्वारा सम्मानित किया गया। इस बार स्वतंत्रता दिवस पर परेड ग्राउण्ड एवं सचिवालय में आयोजित कार्यक्रम में प्लास्टिक के उत्पादों को पूर्णतः प्रतिबंधित किया गया था एवं स्थानीय उत्पादों पर आधारित मिष्ठान वितरित किया गया। प्रदेश को पाॅलिथीन मुक्त बनाने व स्थानीय उत्पादों को बढ़ावा देने के लिए राज्य सरकार द्वारा पहल की जा रही है। मुख्यमंत्री ने फोटो गैलरी का अवलोकन भी किया।
मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि वर्ष 2019 को रोजगार वर्ष के रूप में मनाया जा रहा है। सभी रिक्त सरकारी पदों पर समयबद्ध तरीके से भर्ती की जाएगी। इसकी माॅनिटरिंग के लिए कैबिनेट मंत्री की अध्यक्षता में टास्क फोर्स का गठन किया जाएगा। जो लोग पहले से संविदा में लगे हैं, उनके लिए अधिमान अंक की व्यवस्था की जाएगी। महिला उद्यमियांे को बढ़ावा देने के लिए ‘‘मुख्यमंत्री महिला उद्यमिता प्रोत्साहन योजना’’ शुरू की जा रही है। इससे 20 हजार से अधिक महिलाओं को आजीविका का साधन मिलेगा। ‘‘मुख्यमंत्री प्रतिभा प्रोत्साहन योजना’’ के तहत टाॅपर 25 बच्चों को सभी कोर्सेज में 50 प्रतिशत फीस की स्काॅलरशिप दी जाएगी।
मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि ‘‘देश को जानो योजना’’ के तहत कक्षा 10 के टाॅप 25 रैंकर्स को भारत भ्रमण कराया जाएगा। ये सभी बच्चे उत्तराखण्ड बोर्ड के होंगे। इनका एक भ्रमण हवाई जहाज से भी होगा। इससे बच्चों को भारत के विभिन्न प्रान्तों की संस्कृति, इतिहास, रहन सहन, खान-पान आदि के बारे में जानने का मौका मिलेगा। अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति आश्रम पद्धति के विद्यार्थियों के भोजन भत्ते को 3000 रूपए प्रति माह से बढाकर 4500 रूपए प्रति माह किया जा रहा है। राज्य में सर्विस सेक्टर को बढ़ावा देने के लिए सरकार प्रायसरत है। शीघ्र ही वेलनेस योगा, आयुर्वेद व पर्यटन पर आधारित संयुक्त रूप से एक समिट का आयोजन किया जायेगा। प्रदेश के समस्त विद्यालयों में फर्नीचर, वाटर सप्लाई, टॉयलेट, कंप्यूटर, लाइब्रेरी और लैब की व्यवस्था को चरणबद्ध तरीके से 2022 तक पूर्ण किया जाएगा। 2020 तक प्रदेश की समस्त सहकारी समितियों को कंप्यूटरीकृत किया जाएगा। उन्होंने कहा कि बुजुर्ग किसी भी समाज की अनमोल धरोहर होते हैं। उनका अनुभव व बुद्धिमत्ता परिवार, समाज व देश के लिए बहुत जरूरी होता है। बुजुर्गों की देखभाल हम सभी का परम दायित्व है। यह देखकर बड़ा दुख होता है कि बहुत से लोग अपने बुजुर्गों की उपेक्षा करते हैं। यह सब समाज में नैतिक व सामाजिक मूल्यों में गिरावट से होने लगा है। हम वृद्ध व्यक्तियों की देखभाल के लिए कानून लाने पर विचार कर रहे हैं।
अपने सम्बोधन में मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों, सैन्य व अर्धसैन्य बलों के शहीद जवानों एवं उत्तराखण्ड राज्य निर्माण के सभी अमर शहीदों व आंदोलनकारियों को श्रद्धापूर्वक नमन करते हुए कहा कि हम उत्तराखण्ड को भ्रष्टाचार मुक्त व्यवस्था देने व हर प्रदेशवासी के जीवन में खुशहाली लाने का हर सम्भव प्रयास कर रहे हैं। हमारी कोशिश है कि इनकम इंडेक्स के साथ हैप्पीनेस इंडेक्स में भी हम आगे रहें। विकास का लाभ दूरस्थ क्षेत्रों तक पहुंचाने व पलायन को रोकने के लिए ग्रामीण अर्थव्यवस्था को और मजबूत करना होगा। राज्य सरकार ने ‘मुख्यमंत्री आंचल अमृत योजना’ शुरू की है, इसके तहत बीस हजार आंगनबाड़ी केंद्रों के ढ़ाई लाख बच्चों को निःशुल्क दूध उपलब्ध कराया जा रहा है।
मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने कहा उत्तराखण्ड में वर्ष 2022 तक किसानों की आय को दोगुना करने के लिए ‘मिट्टी से बाजार तक’ की रणनीति पर काम किया जा रहा है। राज्य सरकार नेे प्रदेश में सामान्य वर्ग के आर्थिक रूप से पिछड़ों के लिए 10 प्रतिशत आरक्षण की व्यवस्था की है। युवाओं को प्लेटफार्म उपलब्ध करवाने के लिए ‘स्टार्ट अप पाॅलिसी’ लाई गई है। उत्तराखण्ड में माउंटेनियरिंग, रिवरराफिं्टग, ट्रैकिंग, कैमिं्पग, पैराग्लाईडिंग, माउंटेन बाईकिंग आदि की बहुत सम्भावनाएं हैं। इसके लिए साहसिक पर्यटन का अलग से निदेशालय बनाया जा रहा है। वैलनैस टूरिज्म पर भी फोकस किया जा रहा है। देश की पांचवी साइंस सिटी देहरादून में बनाई जा रही है। देश के पहले ड्रोन एप्लीकेशन प्रशिक्षण केंद्र एवं अनुसंधान प्रयोगशाला की स्थापना देहरादून में की गई है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि सबका साथ, सबका विकास व सबका विश्वास से हमें नए भारत का निर्माण करना है। प्रधानमंत्री जी के 5 ट्रिलियन डाॅलर इकोनोमी के सपने को साकार करने के लिए हम सभी को एकजुट होकर निष्ठा के साथ काम करना होगा। प्रधानमंत्री जी ने जलशक्ति अभियान शुरू किया है। हम केंद्र के सहयोग से हर घर जल के लक्ष्य को हासिल करने के लिए संकल्पबद्ध हैं। नदियों व जलस्त्रोतों को पुनर्जीवित करने की पहल बड़े स्तर पर की गई है। मुझे खुशी है कि आम जन भी इसमें बढ़-चढ़कर हिस्सा ले रहे हैं।
इस अवसर पर विधायक श्री खजान दास, मेयर श्री सुनील उनियाल गामा, मुख्य सचिव श्री उत्पल कुमार सिंह, पुलिस महानिदेशक श्री अनिल रतूड़ी, जिलाधिकारी देहरादून श्री सी. रविशंकर, एस.एस.पी देहरादून श्री अरूण मोहन जोशी एवं अन्य गणमान्य उपस्थित थे।
इससे पूर्व मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने मुख्यमंत्री आवास पर ध्वजारोहण किया। इस अवसर पर उन्होंने राष्ट्रीय एकता की शपथ भी दिलाई। मुख्यमंत्री ने प्रदेशवासियों को रक्षाबन्धन की शुभकामनाएं भी दी।
इस अवसर पर विधायक श्री गणेश जोशी, अपर मुख्य सचिव श्री ओम प्रकाश, अपर सचिव डाॅ. मेहरबान सिंह बिष्ट, मुख्यमंत्री कार्यालय के अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित थे।

About admin