Tokyo Olympics 2021: सतीश यादव की हार पर बोले पिता, 11 टांके लगने के बाद भी बहादुरी से लड़ा बेटा

Image default
खेल समाचार

Tokyo Olympics 2021 के बॉक्सिंग में भारत के पदक की एक और उम्मीद रविवार को खत्म हो गई. सुपर हेवीवेट वर्ग में भारत के सतीश यादव (Satish Yadav) को उज्बेकिस्तान के बखोदिर जालोलोव ने एकतरफा मुकाबले में 5-0 से हरा दिया है. बखोदिर जालोलोव सतीश को पूरे मैच में कोई मौका नहीं दिया.

सर्वसम्मति से जालोलोव बने विजेता
पहले राउंड में सतीश ने कोशिशें जरूर की, लेकिन फिर भी जजों ने सर्वसम्मति से जालोलोव को विजेता माना. वहीं दूसरे राउंड में भी यही हुआ और सतीश यादव को हार के साथ बाहर होना पड़ा.सतीश ने प्लस 91 किलोग्राम भार वर्ग के अंतिम-16 दौर के मुकाबले में गुरुवार को जमैका के रिकाडरे ब्राउन को 4-1 से हराकर क्वार्टर फाइनल का टिकट कटाया था.

11 टांके लगने के बाद भी बहादुरी से लड़ा सतीष
क्वार्टर फाइनल में बेटे की हार के बाद बोले सतीश यादव के पिता ने कहा कि प्री क्वार्टर फाइनल में सतीश यादव चोटिल हो गया था. प्री क्वार्टर में सतीश की भों और ठोड़ी पर ग्यारह टांके आए थे. उन्होंने बताया कि
क्वार्टर फाइनल को लेकर सतीश हताश था, जिसके बाद परिवार ने होंसला बढ़ाया.

भारत की एक मात्र उम्मीद लोवलिना बोर्गोहैन
अगर सतीश आज का मैच जीत लेते तो बॉक्सिंग में भारत का एक और पदक पक्का हो जाता. इससे पहले महिला वेल्टरवेट वर्ग में लोवलिना बोर्गोहैन ने सेमीफाइनल में प्रवेश करके एक पदक पक्का कर लिया था. बॉक्सिंग में भारत की एकमात्र उम्मीद अब लोवलिना ही हैं और सेमीफाइनल में जीत हासिल कर वह फाइनल में प्रवेश करने की कोशिश करेंगी.

Related posts

Stokes Caught on Video ‘Throwing 15 Punches in a Minute’ in Street Brawl

ट्रिपल नाइन ने किंग्स इलेवन को 87 रन से हराया, संदीप छाबड़ा बने मैन ऑफ द मैच

शाहिद अफरीदी की ऑल टाइम वनडे इलेवन में सचिन तेंदुलकर एकमात्र भारतीय खिलाड़ी