दिव्यांगजनों और वरिष्ठ नागरिकों के लिए बिष्णुपुर (मणिपुर) में ‘सामाजिक अधिकारिता शिविर’ का आयोजन किया गया

देश-विदेश

सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय, भारत सरकार की ‘राष्ट्रीय वयोश्री योजना’ (आरवीवाई योजना) के तहत वरिष्‍ठ नागरिकों और एडीआईपी योजना के तहत दिव्यांगजनों को सहायता और सहायक उपकरण वितरित करने के लिए दिव्‍यांगजनों के सशक्तिकरण विभाग द्वारा एएलआईएमसीओ (एलिम्‍को) समाज कल्याण विभाग, मणिपुर और जिला प्रशासन बिष्णुपुर के सहयोग से आज ‘सामाजिक अधिकारिका शिविर’ का क्यांबा निंगशिंग शांगलान, बिष्णुपुर (मणिपुर) में आयोजन किया गया।

इस कार्यक्रम की मुख्य अतिथि केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री कुमारी प्रतिमा भौमिक ने इस शिविर का उद्घाटन किया। इस अवसर पर मणिपुर सरकार के सार्वजनिक निर्माण विभाग, युवा मामले और खेल मंत्री श्री गोविंददास कोंठौजम, मणिपुर सरकार के शिक्षा, कानून और विधायी मामलों के मंत्री श्री थौनाओजम बसंत कुमार सिंह, मणिपुर सरकार के समाज कल्याण, कौशल, श्रम और रोजगार, उद्यमिता तथा मत्स्य पालन मंत्री श्री हेखम डिंगो सिंह और अन्य स्थानीय जनप्रतिनिधि एवं गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

    उपस्थितजनों को संबोधित करते केंद्रीय राज्य मंत्री कु. प्रतिमा भौमिक ने कहा कि केंद्र सरकार दिव्यांगजनों के सशक्तिकरण के लिए प्रतिबद्ध है और माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी के ‘सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास और सबका प्रयास’ के विज़न पर काम कर रही है। अपने मंत्रालय द्वारा अर्जित उपलब्धियों और कार्यों के बारे में उन्‍होंने कहा कि मणिपुर राज्य में 70 लाख 56 हजार रूपये की निधि जारी करके लगभग 1180 दिव्यांगजनों को कौशल प्रशिक्षण दिया गया है। उन्‍होंने राज्य सरकार से राज्य में यूडीआईडी ​​कार्ड जारी करने के काम में तेजी लाने का अनुरोध किया ताकि अधिक से अधिक दिव्यांगजन सरकारी योजनाओं का लाभ उठा सकें।

कोविड-19 महामारी को देखते हुए विभाग द्वारा तैयार एसओपी का पालन करते हुए ब्लॉक/पंचायत स्तर पर 170 दिव्यांगजनों और 1029 वरिष्ठ नागरिकों को केंद्र सरकार की योजना के तहत 129.98 लाख रुपये मूल्‍य के कुल 5706 सहायता और सहायक उपकरण नि:शुल्क वितरित किए जाएंगे।

विभिन्न प्रकार के सहायक उपकरण पहचान किए गये उन दिव्यांगजन लाभार्थियों में चरणबद्ध तरीके से वितरित किए जाएंगे, जिन्हें ब्लॉक स्तर पर मूल्यांकन शिविरों के दौरान पंजीकृत किया गया था, जिनमें 08 ट्राइसाइकिल, 827 व्हीलचेयर, 316 बैसाखी, 849 वॉकिंग स्टिक, 03 रोलेटर, 50 वॉकर, 24 स्मार्ट फोन 25 स्मार्ट केन, 41 ब्रेल किट, 16 सी.पी. चेयर, 21 एमएसआईईडी किट, 01 एडीएल किट (कुष्ठ रोग के लिए) सेल फोन के साथ और 628 हियरिंग एड मशीनें शामिल है और वरिष्ठ नागरिकों के लिए प्रमुख मदों में 99 फुट केयर यूनिट, 87 स्पाइनल सपोर्ट, 901 एलएस बेल्ट, 953 नीब्रेसेस, 41 वॉकिंग स्टिक विद सीट, 235 डेन्चर, 402 चश्मा, 110 सरवाइकल कॉलर शामिल हैं।

डीएम बिष्णुपुर, निदेशक समाज कल्याण विभाग, मणिपुर और एलिम्को के वरिष्ठ अधिकारी भी इस कार्यक्रम के दौरान उपस्थित थे।

Related posts

स्वतंत्रता के 75 वर्ष के जश्न के क्रम में 75 रेलवे स्टेशनों पर खादी और ग्रामोद्योग आयोग की प्रदर्शनी और बिक्री स्टॉल

ईपीएफ सदस्यों को अब अपने सदस्यों/आश्रितों की बीमारी के मामले में अग्रिम राशि के लिए केवल स्व घोषणा पत्र प्रस्तुत करना होगा

सरकार आंतरिक सुरक्षा समस्याओं को दृढ़ता के साथ सुलझाने के लिए दृढ़ संकल्पित है: जी. किशन रेड्डी