एड्स नियन्त्रण के लिए जनजागरूकता होना अति-आवश्यक: श्रीमती कामिनी चैहान रतन – Online Latest News Hindi News , Bollywood News
Breaking News
Home » उत्तर प्रदेश » एड्स नियन्त्रण के लिए जनजागरूकता होना अति-आवश्यक: श्रीमती कामिनी चैहान रतन

एड्स नियन्त्रण के लिए जनजागरूकता होना अति-आवश्यक: श्रीमती कामिनी चैहान रतन

लखनऊ: अन्तर्राष्ट्रीय युवा दिवस के उपलक्ष्य में एमेटी विश्वविद्यालय परिसर में उ0प्र0 राज्य एड्स नियन्त्रण सोसाइटी द्वारा राज्य स्तरीय कार्यक्रम आयोजित किये गये। कार्यक्रम का शुभारम्भ मुख्य अतिथि श्रीमती कामिनी चैहान रतन, प्रमुख स्टाफ आफीसर, मुख्य सचिव एवं परियोजना निदेशक, उ0प्र0 राज्य एड्स नियन्त्रण सोसाइटी लखनऊ ने किया।

इस अवसर पर मुख्य अतिथि श्रीमती कामिनी चैहान रतन ने कहा कि एच.आई.वी. अथवा एड्स से सम्बन्धित जन-जागरूकता समाज में होना अति आवश्यक है। उन्होनें बताया कि एच.आई.वी. अथवा एड्स का सम्बन्ध सीधे तौर पर जनमानस से हैं, जो व्यक्ति एच.आई.वी. अथवा एड्स से ग्रसित हैं, उनके प्रति समाज में किसी प्रकार की हीन भावना नहीं होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि जो लोग ड्रग्स लेते हैं,नशा करते हैं, उनको सुधारने के लिए भी आवश्यक जानकारियों का प्रचार कराया जाना चाहिए, जिससे कि एच.आई.वी. अथवा एड्स को रोका जा सके। एच.आई.वी. अथवा एड्स के फैलाव के कारण एवं बचाव के तरीके का प्रचार-प्रसार गाॅव-गाॅव में किया जाये जिससे आम जनमानस एच.आई.वी. अथवा एड्स के प्रति जागरूक रहे।

उ0प्र0 राज्य एड्स नियन्त्रण सोसाइटी द्वारा अन्तर्राष्ट्रीय युवा दिवस 12 अगस्त के मौके पर आज दिनांक 13 अगस्त, 2019 को एमेटी विश्वविद्यालय के सभागार में विभिन्न प्रकार के एच.आई.वी. अथवा एड्स विषयक जन जागरूकता कार्यक्रमों का आयोजन ‘‘ठम मकनबंजमक ंइवनज भ्प्ट’’ (बी एजूकेटेड अबाउट एच0आई0वी0) विषय वस्तु पर किया गया। दीप  प्रज्जवलन उपरान्त राजधानी के प्रतिष्ठित यायावर सांस्कृतिक दल द्वारा ‘प्रेम न हाट बिकाय’ की प्रस्तुति की गयी, जिसके माध्यम से युवाओं को स्वस्थ्य जीवन शैली अपनाने के लिए प्रेरित किया गया तथा एच.आई.वी. के प्रति युवाओं की संवेदनशीलता को देखते हुए संयम बरतने का सन्देश दिया गया। कार्यक्रम में विश्वविद्यालय के छात्र-छात्राओं द्वारा लघु फिल्म प्रतियोगिता के अन्तर्गत तैयार की गयी लघु फिल्मों का प्रदर्शन भी किया गया। प्रदर्शित फिल्मों के माध्यम से उपस्थित जन समूह को एच.आई.वी. अथवा एड्स से जुड़े विषयों से जागरूक एवं संवेदीकृत किया गया। इसके उपरान्त सभी उपस्थित युवाओं को विषय से सम्बन्धित जानकारी देने तथा उनकी दुविधाओं को दूर करने के उद्देश्य से ‘‘ओपेन माइक’’ सत्र भी आयोजित किया गया। ओपेन माइक सत्र में कई युवाओं ने खुल कर अपनी बात कही।

इस अवसर पर एमेटी विश्वविद्यालय परिसर में एक पोस्टर प्रतियोगिता तथा लघु फिल्म प्रतियोगिता आयोजित की गयी। पोस्टर प्रतियोगिता में प्रथम पुरस्कार श्रद्धा सिंह, अनुप्रिया पटेल को द्वितीय पुरस्कार मारिया सदफ, समृृद्धि को तृतीय पुरस्कार अश्वनी, मनी, दिव्या को तथा महक अग्रवाल, उरूज, आदर्श, आकांशा दिक्षित, निलेश गुलाटी, स्मृति पाॅल को सात्वना पुरस्कार दिया गया। लघु फिल्म प्रतियोगिता में प्रथम पुरस्कार निविदिता सिंह को द्वितीय पुरस्कार श्रुति माथुर, श्रुति सिंह, आकृति को तृतीय पुरस्कार  मोहित, शिवम, दीपक तथा दिव्यांशी, अमित को सांत्वना पुरस्कार  दिया गया।

About admin