अब देहरादून में ले सकेंगे लिटटी चोखा व्यंजन का स्वाद

उत्तराखंड

अब आप देहरादून मे लिटृटी चोखा व्यंजन के स्वाद का आनन्द ले सकते है । आज रिस्पना पुल के पास दून-लिटृटी-चोखा डाटकाम के नाम से पहला रेस्टोरेन्ट का उद्याटन किया गया । आपको बताते चले कि लिट्टी चोखा एक पारंपरिक व्यंजन है, माना जाता है कि इसकी उत्पत्ति भारत के बिहार राज्य से हुई है। लेकिन आज पूरे भारत में लिटृट-चोखा को एक हेल्दी फुड के रूप मे पसंद किया जा रहा है । लिटृट-चोखा मे गेहूं के आटे के गोले सत्तू से भरे होते हैं। लिट्टी को पारंपरिक रूप से कोयले या गाय के गोबर के उपले पर भुना जाता है ।

इस व्यंजन का दूसरा भाग चोखा है जिसमे मूल रूप से कुछ मसालों के साथ भुने हुए बैंगन, टमाटर और आलू को मैश किया जाता है। घी के साथ लिट्टी और चोखा एक साथ खाया जाता है। यदि आप घी को छोड़ देते हैं, तो यह पूरी तरह से शाकाहारी व्यंजन है,लेकिन घी इस व्यंजन का एक अनिवार्य हिस्सा है। सत्तू की फिलिंग में अजवायन, कलौंजी, अदरक और अचार के मसाले जैसे मसाले भरे जाते हैं।

Related posts

माननीय मुख्यमंत्री, उत्तराखंड के साथ अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक व निदेशक (तकनीकी) टीएचडीसीआईएल की भेंट

उत्तराखण्ड शिल्पकार चेतना मंच की स्मारिका विमोचन करते हुएः मुख्यमंत्री

रेडक्रॉस सोसाइटी द्वारा ही प्रधानमंत्री भारतीय जन औषधि केंद्र चलाये जाएंगे