भारत के विभिन्न हिस्सों में आवश्यक चिकित्सा सामग्री पहुंचाने के लिए लाइफलाइन उड़ान की उड़ानों ने 3 लाख किमी से अधिक की दूरी तय की

देश-विदेश

नई दिल्ली: लाइफलाइन उड़ान सेवा की उड़ानों ने लगभग 507.85 टन आवश्यक चिकित्सा कार्गो के परिवहन के लिए 3 लाख किलोमीटर से ज्यादा की हवाई दूरी तय की है। एयर इंडिया, एलायंस एयर, आईएएफ और निजी वाहकों द्वारा लाइफलाइन उड़ान के तहत 301 उड़ानें संचालित की गई हैं। इनमें से 184 उड़ानें एयर इंडिया और एलायंस एयर द्वारा संचालित की गई हैं। कोविड-19 के खिलाफ भारत की लड़ाई में सहयोग करने के लिए देश के दूरदराज के हिस्सों में आवश्यक चिकित्सा कार्गो परिवहन के लिए नागरिक उड्डयन मंत्रालय द्वारा लाइफलाइन उड़ान सेवा की उड़ानों को संचालित किया जा रहा हैं।

पवन हंस लिमिटेड सहित अन्य हेलीकॉप्टर सेवाएं जम्मू एवं कश्मीर, लद्दाख, द्वीप और पूर्वोत्तर क्षेत्रों में संचालन करते हुए महत्वपूर्ण चिकित्सा सामग्री और रोगियों का परिवहन कररही हैं। 19 अप्रैल 2020 तक पवन हंस ने 6537 किलोमीटर की दूरी तय करते हुए 1.90 टन माल ढोया है। घरेलू लाइफलाइन उड़ान के कार्गो में कोविड-19 संबंधित अभिकर्मक, एंजाइम, चिकित्सा उपकरण, परीक्षण किट, व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण (पीपीई), मास्क, दस्ताने, एचएलएल एवं आईएमसीआर की अन्य सामग्री और राज्य / केन्द्र शासित प्रदेश सरकारों का जरूरी कार्गो व डाक पैकेट आदि शामिल हैं।

पूर्वोत्तर क्षेत्र, द्वीप क्षेत्रों और पहाड़ी राज्यों पर विशेष ध्यान केंद्रित किया गया है। एयर इंडिया और आईएएफ ने मुख्य रूप से जम्मू एवं कश्मीर, लद्दाख, पूर्वोत्तर और अन्य द्वीप क्षेत्रों के लिए ये सहयोग किया है। इन कार्गो में बड़ी मात्रा में मास्क, दस्तानों और अन्य उपभोग्य सामग्रियों के कम वजन और बड़े आकार वाले पैकेज होते हैं जो विमान में अधिक जगह घेरते हैं। यात्री के बैठने की जगह में और ओवरहेड कैबिनों में उचित देखभाल और सावधानियों के साथ कार्गो को भंडारित करने के लिए विशेष अनुमति ली गई है।

लाइफलाइन उड़ान सेवा की उड़ानों के समन्वय के लिए राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र (एनआईसी) और नागरिक उड्डयन मंत्रालय द्वारा एक पोर्टल विकसित किया गया ताकि विभिन्न हितधारकों के बीच निर्बाध समन्वय स्थापित किया जा सके। लाइफलाइन उड़ान की उड़ानों से संबंधित सार्वजनिक जानकारी प्रतिदिन इस पोर्टल पर अपडेट की जाती है – https://esahaj.gov.in/lifeline_udan/public_info

घरेलू कार्गो ऑपरेटर स्पाइसजेट, ब्लू डार्ट और इंडिगो वाणिज्यिक आधार पर कार्गो उड़ानें संचालित कर रहे हैं। स्पाइसजेट ने 24 मार्च से 19 अप्रैल 2020 के दौरान 427 कार्गो उड़ानें संचालित कीं जिसमें 6,29,325 किलोमीटर की दूरी तय की गई और 3414 टन माल ढोया गया। इनमें से 135 अंतर्राष्ट्रीय कार्गो उड़ानें थीं। ब्लू डार्ट ने 25 मार्च से 19 अप्रैल 2020 के दौरान 1,39,179 किमी की दूरी को कवर करते हुए 141 घरेलू कार्गो उड़ानों का संचालन किया और 2241 टन कार्गो ढोया। इंडिगो ने 3-19 अप्रैल 2020 के दौरान 33 कार्गो उड़ानों का संचालन किया है जिनमें 37,160 किमी की दूरी तय की गई और लगभग 66 टन कार्गो ढोया गया। इसमें सरकार के लिए मुफ्त में ढोई जाने वाली चिकित्सा आपूर्ति भी शामिल है।

दवा, चिकित्सा उपकरणों और कोविड-19 राहत सामग्री के परिवहन के लिए पूर्वी एशिया के साथ एक कार्गो एयर-ब्रिज की स्थापना की गई है। लाए गए मेडिकल कार्गो की तिथि-वार मात्रा निम्नानुसार है:

क्र.सं. दिनांक कहां से मात्रा (टनों में)
04.4.2020 शंघाई 21
07.4.2020 हॉन्ग कॉन्ग 06
09.4.2020 शंघाई 22
10.4.2020 शंघाई 18
11.4.2020 शंघाई 18
12.4.2020 शंघाई 24
14.4.2020 हॉन्ग कॉन्ग 11
14.4.2020 शंघाई 22
16.4.2020 शंघाई 22
16.4.2020 हॉन्ग कॉन्ग 17
16.4.2020 सियोल 05
17.4.2020 शंघाई 21
18.4.2020 शंघाई 17
18.4.2020 सियोल 14
18.4.2020 गुआंगझू 04
16. 19.4.2020 शंघाई 19
कुल 261

एयर इंडिया आवश्यकता के अनुसार महत्वपूर्ण चिकित्सा सामग्री के हस्तांतरण के लिए अन्य देशों को समर्पित तय कार्गो उड़ानों का संचालन करेगी।

Related posts

प्रधानमंत्री ने साइबर स्पेणस पर पांचवें वैश्विक सम्मे लन-2017 का उद्घाटन किया

हार्दिक पटेल ने ईवीएम पर फिर उठाए सवाल, कहा-जारी रहेगा आंदोलन

कृषि एवं मनरेगा से संबंधित नीतिगत दृष्टिकोणों में समन्‍वय स्‍थापित करने के लिए मुख्‍यमंत्रियों का उप-समूह गठित