33 C
Lucknow

यूपी कांग्रेस कार्यालय पर स्वतंत्रता सेनानी नेताजी सुभाष चंद्र बोस की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उनकी जयंती मनाई गई

उत्तर प्रदेश

लखनऊ: उत्तर प्रदेश कांग्रेस कार्यालय पर आज यहां भारत के प्रमुख स्वतंत्रता सेनानी नेताजी सुभाष चंद्र बोस की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उनकी जयंती मनाई गई। इस अवसर पर आयोजित एक संगोष्ठी को सम्बोधित करते हुए कांग्रेस नेताओं ने उनके व्यक्तित्व और कृतित्व पर प्रकाश डाला।

कांग्रेस कोषाध्यक्ष पूर्व विधायक सतीश आज़मानी ने नेताजी को एक वीर सैनिक, योद्धा, महान सेनापति और कुशल राजनीतिज्ञ बताया। उन्होंने कहा कि नेता जी सुभाष चंद्र बोस ने देश को अंग्रेजों से आजादी दिलाने के लिए आजाद हिंद फौज का गठन किया। उनके द्वारा दिया गया नारा श्तुम मुझे खून दो, मैं तुम्हें आजादी दूंगाश् ने हर भारतवासी के खून में उबाल ला दिया था।

पूर्व विधायक श्री आज़मानी ने बताया कि नेता जी ने शिक्षा पूरी होने के बाद वे 1920 में इंडियन सिविल सर्विसेज की परीक्षा में बैठे और चौथा स्थान हासिल किया। भारत आकर उन्होंने प्रशासनिक सेवा का पद संभाला, लेकिन यहां पर भारतीयों की दयनीय स्थिति को देखकर उन्होंने जॉब छोड़ दी और आजादी की जंग में कूद गए।

उत्तर प्रदेश कांग्रेस संगठन प्रभारी श्री दिनेश सिंह ने  उनके कृतित्व के विषय में विस्तार से बताया । उन्होंने कहा कि  नेता जी को साल 1938 में राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी का अध्यक्ष भी निर्वाचित किया गया। उन्होंने राष्ट्रीय योजना आयोग का गठन किया। दूसरा विश्व युद्ध शुरू होने पर नेता जी ने अंग्रेजों के खिलाफ अपनी मुहिम तेज कर दी। जिसके कारण उन्हें घर पर ही नजरबंद कर दिया गया, लेकिन नेताजी किसी तरह जर्मनी भाग गए और वहां से अपनी मुहिम जारी रखी।

श्री दिनेश सिंह जी ने बताया कि नेताजी एक नाटकीय घटनाक्रम में 7 जनवरी, 1941 को गायब हो गए और अफगानिस्तान और रूस होते हुए जर्मनी पहुंचे। 9 अप्रैल, 1941 को उन्होंने जर्मन सरकार को एक मेमोरेंडम सौंपा जिसमें एक्सिस पावर और भारत के बीच परस्पर सहयोग को संदर्भित किया गया था। सुभाष चंद्र बोस ने इसी साल नवंबर में स्वतंत्र भारत केंद्र और स्वतंत्र भारत रेडियो की स्थापना  और 21 अक्टूबर 1943 को आजाद हिंद सरकार और फौज का गठन किया। इसके साथ ही उन्होंने आजाद हिंद बैंक भी स्थापित किया। उस समय दुनिया के दस देशों ने उनकी सरकार, फौज और बैंक को अपना समर्थन दिया था। उनकी फौज में ब्रिटिश, सिंगापुर और अन्य दक्षिण पूर्व एशिया के हिस्सों के युद्ध बंदी और बागानों में काम करने वाले मजदूर शामिल थे।

इस अवसर पर पंचायती राज प्रकोष्ठ के चेयरमैन विक्रम पांडे केके शुक्ला विपिन गुप्ता और और हरि कृष्ण अरोड़ा सोमेश चौहान शिव भूषण मिश्रा डॉ शंकर पांडे, लखनऊ पूर्व जिलाध्यक्ष विजय बहादुर, कांग्रेस प्रवक्ता विकास श्रीवास्तव ,उमा शंकर पांडे सहित तमाम कांग्रेसजन उपस्थित रहे।

Related posts

बाढ़ पीड़ितों की समस्याओं का तत्काल समाधान करने के लिये प्रदेश सरकार दृढ़ संकल्पित: मुख्यमंत्री

आर0टी0आई0 से हुई कार्यवाही आवासीय कालोनी मेें हुई सामानों की चोरी, एफ0आई0आर0 दर्ज

मेडिकल सप्लाई कार्पोरेशन एवं चिकित्सा विभाग के अधिकारियों के साथ दवाओं की आपूर्ति एवं उपलब्धता की समीक्षा की: ब्रजेश पाठक