पुलिस महानिदेशक द्वारा पुलिस साइबर ट्रेनिंग लैब का उद्घाटन – Online Latest News Hindi News , Bollywood News
Breaking News
Home » उत्तर प्रदेश » पुलिस महानिदेशक द्वारा पुलिस साइबर ट्रेनिंग लैब का उद्घाटन

पुलिस महानिदेशक द्वारा पुलिस साइबर ट्रेनिंग लैब का उद्घाटन

लखनऊ: ओ0पी0 सिंह, पुलिस महानिदेशक, उ0प्र0  द्वारा मुख्यालय डायल 100 में केन्द्र सरकार द्वारा चलाई जा रही सीसीपीडब्ल्यूसी (ब्लइमत ब्तपउम च्तमअमदजपवद ।हंपदेज ॅवउमद ंदक ब्ीपसकतमद) योजना के अंतर्गत निर्मित साइबर फाॅरेंसिक लैब व आधुनिक ट्रेनिंग क्लास रूम का उद्घाटन किया गया। इस फोरेंसिक लैब में मोबाईल फोरेंसिक एवं डिस्क फोरेंसिक व साइबर क्राइम से सम्बंधित सभी अत्याधुनिक साॅफ्टवेयर एवं हार्डवेयर अधिस्थापित किया गया है। घटित होने वाले सभी साइबर अपराधों में संकलित किये गये साक्ष्यों व डिजिटल साक्ष्यों की फोरेंसिक जांच इस लैब में की जायेगी, जो विवेचनाओं के त्वरित निस्तारण व अपराधियों को सजा दिलाने में कारगर सिद्ध होगी।

    नवीनतम उपकरणों से लैस साइबर ट्रªेनिंग लैब में 25 साइबर फोरेंसिक वर्क स्टेषन स्थापित किये गये है। जिसमें ट्रेनिंग के उद्देश्य से सभी हार्डवेयर व साॅफ्टवेयर को इन्सटाॅल किया गया है ताकि प्रशिक्षणार्थी ट्रेनिंग के दौरान इस साॅफ्टवेयर व हार्डवेयर का प्रायोगिक उपयोग कर सके। इसको दृष्टिगत रखते हुए अगले 02 वर्षों में लगभग 1540 पुलिसकर्मियों को साइबर अवेयरनेस ट्रªेनिंग दी जायेगी एवं पंजीकृत साइबर अपराधों की विवेचना में गुणवत्ता हेतु 950 विवेचकों को भी प्रशिक्षण प्रदान किया जायेगा। साथ ही 1200 न्यायिक अधिकारियों एवं अभियोजन अधिकारियों को भी साइबर अपराध के सम्बंध में प्रशिक्षित किया जायेगा ताकि मा0 न्यायालय में विचाररत् अभियोगो का समयबद्ध एवं निष्पक्ष विचारण किया जा सके और साइबर अपराधियों को अधिक संख्या में सजा दिलाई जा सके।

    इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक साइबर क्राइम श्री सुशील घुले के द्वारा एक पाॅवर प्वांइट प्रजेंटेशन दिया गया, जिसमें केन्द्र सरकार द्वारा सीसीपीडब्ल्यूसी योजना के अंतर्गत लगाये गये सभी साॅफ्टवेयर, हार्डवेयर के कन्फीग्रेशन, उनकी विशेषताआंे एवं उपयोगिताओं के बारे में विस्तृत जानकारी दी गई।

श्री ओ0पी0 सिंह, पुलिस महानिदेशक, उ0प्र0 द्वारा अपने वक्तव्य में साइबर क्राइम को दृष्टिगत रखते हुए अपर पुलिस महानिदेशक स्तर के अधिकारी के नेतृत्व में साइबर क्राइम की अलग शाखा निकट भविष्य में सृजित करने हेतु आश्वस्त किया गया। साथ ही साथ साइबर क्राइम रोकथाम हेतु स्कूल तथा काॅलेजों में भी इस तरह के साइबर अपराध रोकथाम के प्रोग्राम एक विशेष टीम गठित कर अभियान चलाये जाने हेतु निर्देशित किया गया तथा घटित होने वाले महत्वपूर्ण साइबर क्राइम एवं उसके प्रकार जैसे साइबर विषिंग, साइबर बुलिंग, स्टाॅकिंग, सोषल मीडिया क्राइम एवं फायनेंनसियल फ्राड पर जानकारी दी एवं प्रदेश में पंजीकृत साइबर क्राइम की संख्या के विषय में भी अवगत कराया। जनपद गौतमबुद्धनगर में सीएसआर के तहत बनाये जा रहे साइबर कवच योजना के तहत साइबर ट्रªेनिंग सेन्टर की स्थापना, साइबर इन्वेस्टिगेशन में गुणवत्ता हेतु फोरेंसिक लैब एवं ट्रªेनिंग की व्यवस्था व साइबर रिसर्च विंग के विषय में विस्तृत जानकारी दी। साथ ही आम जनता की सुविधा हेतु उ0प्र0 पुलिस द्वारा आॅनलाइन लांच की गई न्च् काॅप एप के बारे में भी जानकारी दी गयी, जिसमें कोई भी व्यक्ति साइबर सम्बन्धी शिकायत आॅनलाइन दर्ज करा सकता है।

    इस अवसर पर श्री ओ0पी0 सिंह, पुलिस महानिदेशक, उ0प्र0 के अतिरिक्त श्री आनंद कुमार, पुलिस महानिदेशक, कानून एवं व्यवस्था, श्री डी0के0 ठाकुर अपर पुलिस महानिदेशक यूपी 100, श्री आशुतोष पाण्डेय, अपर पुलिस महानिदेशक तकनीकी सेवायें, श्री के0एस0प्रताप कुमार, अपर पुलिस महानिदेशक क्राइम, श्री अमिताभ यश, पुलिस महानिरीक्षक एसटीएफ, श्री अभिषेक सिंह, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक एसटीएफ, श्री सुशील कुमार घुले, पुलिस अधीक्षक साइबर क्राइम व श्री अनूप कुमार, अपर पुलिस अधीक्षक साइबर क्राइम एवं अन्य पुलिस अधिकारीगण उपस्थित रहे।

About admin