राज्य सरकार प्रदेश की जनता को उत्कृष्ट एवं प्रभावी स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराने के लिए कटिबद्ध: मुख्यमंत्री – Online Latest News Hindi News , Bollywood News
Breaking News
Home » उत्तर प्रदेश » राज्य सरकार प्रदेश की जनता को उत्कृष्ट एवं प्रभावी स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराने के लिए कटिबद्ध: मुख्यमंत्री

राज्य सरकार प्रदेश की जनता को उत्कृष्ट एवं प्रभावी स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराने के लिए कटिबद्ध: मुख्यमंत्री

लखनऊउत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने राज्य में नए स्थापित होने वाले मेडिकल काॅलेजों के सभी निर्माण कार्यों को गुणवत्ता के साथ निर्धारित समय-सीमा के अन्दर पूरा किए जाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार प्रदेश की जनता को उत्कृष्ट एवं प्रभावी स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराने के लिए कटिबद्ध है। उन्होंने अटल बिहारी वाजपेयी चिकित्सा विश्वविद्यालय के लिए भूमि का प्रबन्ध शीघ्र किए जाने के निर्देश दिए। उन्होंने उत्तर प्रदेश निर्माण निगम को जौनपुर मेडिकल काॅलेज का निर्माण कार्य पूर्ण किया जाना सुनिश्चित करने के भी निर्देश दिए, जिससे अगले सत्र से इस मेडिकल काॅलेज में छात्रों का प्रवेश हो सके।

मुख्यमंत्री जी आज यहां लोक भवन में चिकित्सा शिक्षा विभाग के कार्यों की समीक्षा कर रहे थे। मुख्यमंत्री जी ने मेडिकल काॅलेजों एवं चिकित्सा संस्थानों में चिकित्सकों और दवाओं की उपलब्धता के साथ-साथ सभी आधारभूत सुविधाएं सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि आगरा व कानपुर मेडिकल काॅलेज में जर्जर भवनों  के स्थान पर नए भवनों का निर्माण सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने कहा कि सभी मेडिकल काॅलेजों में अग्निशमन की फूलप्रूफ व्यवस्था तथा लिक्विड आॅक्सीजन की उपलब्धता सुनिश्चित हो।

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि 05 स्वशासी मेडिकल काॅलेजों-अयोध्या, बस्ती, बहराइच, शाहजहांपुर एवं बहराइच का निर्माण कार्य हर हाल में 30 सितम्बर, 2019 तक पूर्ण किया जाए। इनके अलावा, फेज-2 के अन्तर्गत अन्य 08 स्वशासी मेडिकल काॅलेज-एटा, गाजीपुर, प्रतापगढ़, मीरजापुर, फतेहपुर, हरदोई, देवरिया एवं सिद्धार्थनगर के निर्माण कार्यों को फरवरी, 2021 तक पूरा किए जाने के निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि अस्पतालों में डायलिसिस मशीनों की उचित देखरेख और माॅनीटरिंग सुनिश्चित हो। उन्होंने कहा कि मेडिकल काॅलेजों में मरीज एवं उनके परिजनों के साथ सद्भावपूर्ण एवं सहानुभूतिपूर्ण व्यवहार सुनिश्चित हो। अस्पतालों में ऐसी व्यवस्था की जाए मरीजों एवं उनके परिजनों की दिक्कतों का समाधान सुनिश्चित हो सके।

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि चिकित्सा संस्थानों व मेडिकल काॅलेजों में साफ-सफाई के प्रबन्ध सुनिश्चित किए जाएं। स्वास्थ्य एवं चिकित्सा सेवाओं में सुधार हो और इस दिशा में परिवर्तन दिखाई पड़े। राज्य सरकार हर सहयोग के लिए तत्पर है। उन्होंने कहा कि मेडिकल काॅलेजों से निकले हुए पूर्व छात्रों को इस प्रकार से जोड़ा जाए कि वे भी अपने संस्थान के विकास में सहयोग कर सकें। मेडिकल काॅलेज में फैकल्टी की समस्या का भी निस्तारण हो। उन्होंने कहा कि टीम भावना से ही परिवर्तन लाया जा सकता है। निर्णयों में तेजी लायी जाए। किसी भी स्तर पर फाइलों के निस्तारण में विलम्ब न हो। कार्योें को पूरी ईमानदारी एवं पारदर्शिता के साथ किया जाए।

मुख्यमंत्री जी ने संजय गांधी स्नातकोत्तर आयुर्विज्ञान संस्थान, डाॅ0 राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान, किंग जाॅर्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय, लखनऊ के सम्बन्ध में भी समीक्षा की। उन्होंने कहा कि किंग जाॅर्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय के जनपद बलरामपुर में सैटेलाइट कैम्पस की स्थापना सम्बन्धी कार्यों में तेजी लायी जाए। उन्होंने प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना के अन्तर्गत भी कार्यों की समीक्षा की। इसके तहत उन्होंने गोरखपुर, प्रयागराज, झांसी, मेरठ में सुपर स्पेशियलिटी ब्लाॅक के निर्माण कार्यों को शीघ्र पूर्ण किए जाने के निर्देश दिए। साथ ही, उन्होंने कहा कि कानपुर एवं आगरा में निर्माण कार्यों को प्रारम्भ किया जाए। उन्होंने स्वशासी राज्य चिकित्सा महाविद्यालय के पहुंच मार्ग हेतु सी0आर0पी0एफ0 से भूमि के हस्तान्तरण के सम्बन्ध में कार्यवाही किए जाने के निर्देश दिए।

अधिकारियों ने मुख्यमंत्री जी को अवगत कराया कि एम0बी0बी0एस0 पाठ्यक्रम में 1000 सीटों की वृद्धि हुई है। वर्ष 2019 में 07 नए एम0बी0बी0एस0 कोर्सेज प्रारम्भ हुए हैं। पी0जी0 पाठ्यक्रमों में 680 सीटों की वृद्धि हुई है। पुराने 06 राजकीय मेडिकल काॅलेजों में जीर्णोद्धार विद्युत एवं फायर सेफ्टी का कार्य किया जा रहा है। बी0आर0डी0 मेडिकल काॅलेज, गोरखपुर में विशेष प्रयासों से इंसेफ्लाइटिस सम्बन्धी मृत्यु दर में कमी आयी है। केन्द्र सहायतित योजना (फेज-1) के अन्तर्गत 05 स्वशासी राज्य चिकित्सा महाविद्यालय का सोसाइटी के माध्यम से संचालन किए जाने का निर्णय लिया गया है। शैक्षणिक वर्ष 2019 से एम0बी0बी0एस0 पाठ्यक्रम प्रारम्भ करने की अनुमति एम0सी0आई0 द्वारा प्राप्त हो चुकी है। पुराने 06 राजकीय मेडिकल काॅलेजों में 484 नाॅन पी0जी0 जूनियर रेजिडेण्ट डाॅक्टरों के पदों का सृजन किया गया है।

इस अवसर पर चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री आशुतोष टंडन, मुख्य सचिव डाॅ0 अनूप चन्द्र पाण्डेय, अपर मुख्य सचिव श्री संजीव कुमार मित्तल, अपर मुख्य सचिव नियुक्ति एवं कार्मिक श्री मुकुल सिंघल, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री श्री एस0पी0 गोयल, प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा श्री रजनीश दुबे, प्रमुख सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य श्री सुरेश चन्द्रा सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।

About admin