द बिग बिलियन डेज़ के संग फ्लिपकार्ट होलसेल लाया किराना और रिटेलरों के लिए त्यौहारी बहार

उत्तराखंड

देहरादून: त्यौहारी मौसम की आमद देश के लाखों रिटेलरों, किराना व छोटे कारोबारियों के लिए खुशी का सबब बनने जा रही है क्योंकि फ्लिपकार्ट ग्रुप का ’द बिग बिलियन डेज़’ लगातार दूसरे वर्ष फ्लिपकार्ट होलसेल पर लाइव है। यह अनूठी सालाना सेल 3 अक्टूबर 2021 से शुरु हो चुकी है और 10 अक्टूबर 2021 तक जारी रहेगी।

बैस्ट प्राइस कैश एंड कैरी स्टोर्स और फ्लिपकार्ट होलसेल पर जारी इस बिग बिलियन डेज़ सेल के आकर्षक ऑफर्स का फायदा 24 प्रदेशों एवं केन्द्र शासित प्रदेशों के 15 लाख से अधिक किराना कारोबारियों को होगा जो उत्पादों की विस्तृत रेंज में से चयन कर सकेंगे। उनके लिए फैशन में 4 लाख से ज्यादा, किराना में 13,500 और सामान्य वस्तुओं में 25,000 उत्पाद उपलब्ध रहेंगे। इस वर्ष बिग बिलियन डेज़ पर किराना व रिटेलर ज्यादा मार्जिन प्राप्त कर पाएंगे, फलस्वरूप वे अंतिम उपभोक्ताओं को इसका फायदा पहुंचा सकेंगे।

बैस्ट प्राइस के सदस्य बैस्ट प्राइस स्टोर्स में आकर या फ्लिपकार्ट होलसेल ऐप से सुविधापूर्वक ऑर्डर कर के विभिन्न उच्च क्वालिटी उत्पादों पर सर्वश्रेष्ठ डील का लाभ उठा सकते हैं। ये उत्पाद विभिन्न श्रेणियों में उपलब्ध हैं- जैसे पैकेज्ड फूड, होम केयर, पर्सनल केयर, फैशन, ग्रॉसरी और जनरल मर्चेंडाइज़।

फ्लिपकार्ट होलसेल के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट व हैड आदर्श मेनन ने कहा, ’’द बिग बिलियन डेज़ के साथ ही रिटेल ईकोसिस्टम के लिए त्यौहारी मौसम का आगाज़ हो जाता है। हमें खुशी है की हमने ईकॉमर्स की संभावनाओं को अपने सदस्यों के लिए प्रस्तुत किया और इस तरह उन्हें सशक्त किया है। हमारे डिजिटल सॉल्यूशंस का इरादा भारत के बी2बी ईकोसिस्टम को मजबूती देना और देश की आपूर्ति श्रृंखला को अधिक लचीली एवं स्वालंबी बनाना है। हमारी सारी कोशिशें इस ओर हैं कि छोटे व्यापारों की मदद हो सके, जिन्होंने खरीददारी करने के लिए खुद आगे बढ़कर ईकॉमर्स को अपनाया है। इस त्यौहारी मौसम में हम देख रहे हैं कि जब सारा भारत डिजिटलीकरण की ओर अग्रसर है तो छोटे कारोबार भी डिजिटल प्लैटफॉर्म को बड़ी तादाद में अपना रहे हैं।’’

Related posts

उत्तराखण्ड इन्वेस्टर समिट में कृषि व होल्टिकल्चर के क्षेत्र में 4834 करोड का एम ओ यू हुआ साइन

पिथौरागढ़ में एक जनसभा कार्यक्रम को संबोधित करते हुए: मुख्यमंत्री हरीश रावत

सचिवालय में सिंचाई विभाग एवं शिक्षा विभाग की समीक्षा करते हुएः सीएम