कोरोना नियंत्रण एवं प्रबन्धन के संदर्भ में प्रदेश के स्थानीय निकायों के प्रतिनिधियों के साथ वर्चुअल संवाद

Image default
उत्तर प्रदेश

उत्तर प्रदेश की राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेली जी ने कहा कि राज्य सरकार भारत सरकार की गाइडलाइन के अनुसार तेज गति से समुचित रूप से कोरोना प्रबन्धन एवं उसके नियंत्रण पर कार्य कर रही है। देश में उत्तर प्रदेश में पिछले वर्ष कोरोना प्रबन्धन बहुत बेहतर तरीके से हुआ था, जिसमें सबसे महत्वपूर्ण प्रवासी श्रमिकों के कल्याण की व्यवस्था थी। उत्तर प्रदेश की 25 करोड़ जनता हमारी शक्ति है। सभी कोरोना प्रभावित व्यक्ति तक हम मदद पहुंचाने का कार्य कर रहे हैं। यही हमारी भक्ति भी है।
राज्यपाल जी कोरोना नियंत्रण एवं प्रबन्धन के सन्दर्भ में प्रदेश की स्थानीय निकायों के प्रतिनिधियों के साथ आज आयोजित वर्चुअल संवाद कार्यक्रम में अपने विचार व्यक्त कर रही थीं। उन्होंने कहा कि हम सभी को मिलकर कोरोना पर नियंत्रण करना होगा। इसके लिए कोरोना प्रोटोकाॅल का पालन बहुत जरूरी है। कोरोना श्रृंखला को तोड़ने एवं जन-जागरूकता हेतु विश्वविद्यालय, काॅलेजों, आशा एवं आंगनबाड़ी कार्यकत्री, ग्राम पंचायत सदस्यों का अमूल्य योगदान प्राप्त किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि यू0पी0 मिलकर कोरोना को हराएगा। राज्यपाल जी ने प्रदेशवासियों को चैत्र नवरात्रि, नव सम्वत्सर एवं रमजान की शुभकामनाएं दीं।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने अपने सरकारी आवास से वर्चुअल संवाद कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के मार्गदर्शन में उत्तर प्रदेश कोरोना के खिलाफ देश की लड़ाई में अपनी भूमिका का कुशलतापूर्वक निर्वहन कर रहा है। इसी क्रम में कोरोना नियंत्रण एवं प्रबन्धन के सन्दर्भ में प्रदेश की स्थानीय निकायों के प्रतिनिधियों के साथ वर्चुअल संवाद कार्यक्रम आयोजित किया गया है।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि देश में उत्तर प्रदेश द्वारा बेहतर कोरोना प्रबन्धन किया जा रहा है। यह मानवता को बचाने की लड़ाई है। इसलिए हम सभी को अपनी सक्रिय भूमिका एवं प्रभावी योगदान को सुनिश्चित करना होगा। इसके लिए स्वयं के बचाव के साथ ही अन्य लोगों को भी कोरोना महामारी से बचाना होगा। उन्होंने कहा कि चैत्र नवरात्रि एवं रमजान प्रारम्भ हो रहे हैं, इसलिए हर हाल में हम सभी को भीड़ को एकत्रित नहीं होने देना होगा तथा शासन की कोरोना गाइडलाइन का अनुपालन करना होगा।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि नगरीय क्षेत्र में कोरोना का प्रभाव ज्यादा है। इसलिए स्थापित किए गए कंटेनमेंट जोन में स्थानीय पार्षदों, निगरानी समितियांे के साथ-साथ सिविल डिफेंस, एन0सी0सी0, एन0एस0एस0, को भी अपनी सक्रिय भूमिका निभानी होगी। निगरानी समितियों को इन्फ्रारेड थर्मामीटर, पल्स आॅक्सीमीटर, सैनिटाइजर, हैण्ड ग्लव्स की उपलब्धता सुनिश्चित करायी जा रही है। बस स्टेशन, रेलवे स्टेशन एवं एयरपोर्ट पर सैनिटाइजेशन तथा लोगों की थर्मल स्क्रीनिंग तथा आवश्यकतानुसार एन्टीजन टेस्ट की अनिवार्य व्यवस्था की गई है।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि सभी लोगों को अनिवार्य रूप से मास्क के उपयोग एवं व्यक्तिगत स्वच्छता के साथ ही सामुदायिक स्वच्छता पर विशेष ध्यान देना होगा। इससे हम आने वाली वर्षा ऋतु में भी डेंगू, मलेरिया व अन्य विषाणु जनित रोगों से कारगर ढंग से निपट पाएंगे। सभी जनपदों में इंटीग्रेटेड कमाण्ड एण्ड कण्ट्रोल सेण्टर सक्रिय हैं। प्रदेश में एल-1, एल-2, एल-3 कोविड चिकित्सालयों का बेहतर उपयोग किया जा रहा है।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि 01 अप्रैल से प्रदेश में 45 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के लोगों को कोरोना वैक्सीन लगायी जा रही है। प्रधानमंत्री जी के निर्देशन में वर्तमान में 11 अप्रैल से 14 अप्रैल तक प्रदेशव्यापी ‘टीका उत्सव’ आयोजित किया जा रहा है। अब तक 75.76 लाख लोगों को कोरोना की पहली डोज़ दी गई है। 12.70 लाख लोगों को वैक्सीन की दूसरी डोज़ दी गई है। इस प्रकार अब तक 88 लाख से अधिक वैक्सीन की डोज़ लगायी जा चुकी है।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि राज्य सरकार प्रतिदिन 03 से 04 लाख लोगों के टीकाकरण के लक्ष्य के साथ आगे बढ़ रही है। इस संख्या को आगे और बढ़ाया जाएगा। उन्होंने रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया के साथ टीकाकरण कार्यक्रम को आगे बढ़ाने की बात कही, ताकि वैक्सीन वेस्टेज कम से कम हो। टीकाकरण के इस महायज्ञ में सभी को अपना योगदान सुनिश्चित करना होगा।
मुख्यमंत्री जी ने स्थानीय निकायों के अध्यक्षों, सदस्यों एवं जन समुदाय से अपना सम्पूर्ण योगदान देेने की अपील करते हुए कहा कि सभी स्तर पर निगरानी समितियों तथा आशा एवं आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों का सक्रिय योगदान प्राप्त किया जाए। सार्वजनिक स्थानों में पब्लिक एडेªस सिस्टम के माध्यम से लोगों को कोरोना से बचाव की जानकारी दी जाए तथा सोशल डिस्टेंसिंग अपनाने एवं मास्क के अनिवार्य उपयोग के सम्बन्ध में जागरूक किया जा रहा है। कंटेनमेंट जोन के सम्पूर्ण सैनिटाइजेशन की व्यवस्था की जा रही है।
कोरोना प्रबन्धन के इस संवाद कार्यक्रम में मुख्यमंत्री जी ने अलीगढ़, वाराणसी, प्रयागराज व सहारनपुर के महापौर से कोरोना रोकथाम के सम्बन्ध में किए जा रहे उपायों की जानकारी प्राप्त की। उन्होंने देवरिया नगरपालिका परिषद के अध्यक्ष व नगर पंचायत, फरह जनपद मथुरा के अध्यक्ष से वार्तालाप करते हुए कोविड नियंत्रण सम्बन्धी कार्यों की भी जानकारी प्राप्त की।
इस अवसर पर नगर विकास मंत्री श्री आशुतोष टण्डन, प्रदेश के नगर निगम, नगर पालिका परिषद एवं नगर पंचायत के अध्यक्ष एवं सदस्यगण, मुख्य सचिव श्री आर0के0 तिवारी, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य श्री अमित मोहन प्रसाद, अपर मुख्य सचिव सूचना एवं एम0एस0एम0ई0 श्री नवनीत सहगल, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री एवं सूचना श्री संजय प्रसाद, सचिव नगर विकास श्री अनुराग यादव, सूचना निदेशक श्री शिशिर सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारीगण उपस्थित थे।

Related posts

उ0प्र0 पूर्व सैनिक कल्याण निगम लि0 ने नेपाल त्रासदी के लिए मुख्यमंत्री आपदा राहत कोष में दी राहत राशि

कोविड-19 के टीकाकरण की कार्यवाही भारत सरकार की गाइडलाइन्स एवं क्रम के अनुरूप संचालित करने के निर्देश देते हुएः सीएम

चार असलहा तस्कर गिरफ्तार 16 अवैध पिस्टल/रिवाल्वर बरामद