2022 में उत्तर प्रदेश का विधान सभा चुनाव सेमीफाइनल नहीं फाइनल है: पूर्व सीएम अखिलेश यादव

उत्तर प्रदेश

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने कहा है कि 2022 में उत्तर प्रदेश का विधान सभा चुनाव सेमीफाइनल नहीं फाइनल है। भाजपा सरकार ने लगातार लोगों को गुमराह करने और नफरत फैलाने का काम किया है। जनता बदलाव के लिए तैयार बैठी है। परिवर्तन होना तय है। जनता भाजपा का सफाया करेगी।
आज समाजवादी पार्टी कार्यालय लखनऊ में श्री अखिलेश यादव भाजपा छोड़कर आए पूर्व मंत्री श्री स्वामी प्रसाद मौर्य, धर्म सिंह सैनी, भगवती सागर आदि के समाजवादी पार्टी में शामिल होने के अवसर पर एकत्र विशाल जनसमुदाय को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि समाजवादी और अम्बेडकरवादी मिलकर उत्तर प्रदेश में 400 सीटे जीतने का काम करेंगे। समाजवादी पार्टी वर्चुअल, डिजिटल और फिजकल हर तरह से तैयार हैं। अब साइकिल की रफ्तार कोई नहीं रोक पाएगा। हमारे पास कार्यकर्ताओं की ताकत है।
श्री अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा सरकार ने उत्तर प्रदेश को बर्बाद कर दिया है। इस सरकार की कोई उपलब्धि नहीं है। भाजपा सरकार ने डीजल-पेट्रोल और गैस सिलेण्डर महंगा करके कम्पनियों की तिजोरी भरी है। किसानों को दोगुनी आय का झूठा वादा किया। उसकी फसल की खरीद नहीं हुई। खाद की बोरी से 5 किलो की चोरी कर ली। नौजवान को नौकरी मांगने पर लाठियां मिली।
श्री यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री जी फेल हो चुके हैं। कितने भी दिल्ली वाले आ जाएं उन्हें पास नहीं करा पाएंगे। समाजवादी पार्टी के साथ 80 प्रतिशत खड़े हैं अब 20 फीसदी भी आ गए हैं। भाजपा नेता तीन चौथाई नहीं तीन या चार सीट की बात कर रहे है। उन्होंने कहा कि साइकिल का हैंडल और पहिए ठीक हैं इसकी रफ्तार रुकने वाली नहीं, वह बहुत तेज चलेगी।
श्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा कि श्री अखिलेश यादव ऊर्जावान, नौजवान और प्रगतिशील विचारों के हैं। उनके साथ मिलकर क्रांति करूंगा। आज का दिन दलितों, पिछड़ों के सम्मान का दिन है। भाजपा ने धोखा दिया है। उसे इसकी कीमत चुकानी पड़ेगी। वह फिर 2017 की स्थिति में पहुंच जाएगी।
श्री स्वामी प्रसाद ने कहा कि लोहिया जी के समाजवाद और अंबेडकरवाद को बचाना पहला कर्तव्य है। भाजपा को उखाड़ फेंकने का संकल्प लिया है। मकर संक्रांति पर भाजपा के अंत का इतिहास लिखने जा रहा है। हमारे इस्तीफे के बाद भाजपा के तमाम नेताओं ने संपर्क किया जबकि वे पहले विधायकों की बात नहीं सुनते थे। अब उनकी नींद इस इस्तीफे के बाद उड़ी है।
श्री धर्म सिंह ने कहा कि सपा में आने की कई वजह है। फिर से यूपी में समाजवाद कायम करना है। प्रतिबंध ना होता तो 10लाख से बड़ी रैली होती। मकर संक्रांति के दिन शपथ लेते हैं कि बाबा साहब के संविधान को बचाने के लिए किसी भी हद तक जाएंगे। श्री अखिलेश यादव को सीएम बनाकर संविधान सुरक्षित किया। इन्होंने जो सम्मान दिया वह बसपा और भाजपा में नहीं मिला। श्री अखिलेश यादव को सन् 2024 में प्रधानमंत्री की शपथ दिलाएंगे।

Related posts

मुख्यमंत्री जी के निर्देश पर कोरोना वायरस के संक्रमण से निपटने हेतु अग्निशमन विभाग भी प्रदेश भर में सैनेटाइजेशन कार्य मेें जुटा

’वृक्षारोपण महाकुम्भ’ अभियान हेतु निःशुल्क पौधे होंगे उपलब्ध: दारा सिंह चैहान

थाना मीरापुर: पुलिस कार्यवाही में 10 हजार रू0 का पुरस्कार घोषित गिरफ्तार, अवैध शस्त्र बरामद