चक्रवात तौकते के बाद शुरू खोजबीन एवं बचाव अभियान पर अपडेट

देश-विदेश

भारतीय नौसेना के जहाज ब्यास, बेतवा और तेग बार्ज पी-305 के लिए खोजबीन एवं बचाव (एसएआर) अभियान शुरू करने के लिए आईएनएस कोच्चि और कोलकाता का साथ देने आए, बार्ज पी-305 मुंबई से 35 नॉटिकल मील की दूरी पर (मुंबई अपतटीय विकास क्षेत्र में) डूब गया था। खोजबीन एवं बचाव अभियान को पी8आई और नौसेना के हेलीकॉप्टरों की सहायता से बढ़ाया गया है जो क्षेत्र में हवाई खोजबीन कर रहे हैं। दिनांक 17 मई 2021 से खोजबीन एवं बचाव अभियान शुरू होने के बाद से अब तक 180 को बचाया जा चुका है।

एक अन्य अभियान में मुंबई के उत्तर में डूबने वाले जीएएल कंस्ट्रक्टर के चालक दल को बचाने के लिए भारतीय नौसेना के सीकिंग हेलिकॉप्टर को लगाया गया। इसने जीएएल कंस्ट्रक्टर के 35 क्रू मेंबर्स को बचाया।

गुजरात तट (पिपावाव) से 15-20 नॉटिकल मील दक्षिण पूर्व में स्थित तीन वेसल्स सपोर्ट स्टेशन 3, ग्रेट शिप अदिति और ड्रिल शिप सागर भूषण जैसे जहाजों के लिए गुजरात के तट पर खोजबीन व बचाव के प्रयास भी चल रहे हैं। खोजबीन एवं बचाव के प्रयास के समन्वय के लिए ‘ऑन-सीन कोऑर्डिनेटर’ के कर्तव्यों का निर्वहन करने आईएनएस तलवार इस क्षेत्र में पहुंचा है। पश्चिमी नौसेना कमान ने ओएनजीसी और डीजी शिपिंग के साथ समन्वय करते हुए सहायता प्रदान करने के लिए पांच टग्स को डायवर्ट किया है। ग्रेट शिप अदिति और सपोर्ट स्टेशन 3 एंकर को ड्रॉप करने में सफल रहे हैं। इस बीच ओएसवी के समुद्र सेवक और एसवी चील सागर भूषण से समन्वय किए हुए हैं और फिलहाल स्थिति स्थिर प्रतीत होती है।

समुद्र सी स्टेट 4-5 और 25-30 समुद्री मील (लगभग 35-55 किमी प्रति घंटे) की हवाओं के साथ बेहद अशांत हो चला है, जो खोजबीन एवं बचाव अभियान में शामिल जहाजों और विमानों के लिए एक चुनौती पेश कर रहा है।

Related posts

श्री थावरचंद गहलोत ने ‘अवधारणाओं को तोड़ते रास्‍ते एक चित्र प्रदर्शनी’ का उद्घाटन किया

भारत में सीओपी से प्रवासी प्रजातियों तथा उनके निवास पर फोकस तरीके से काम होगा: केन्‍द्रीय पर्यावरण मंत्री

RBI की नई गाइडलाइन के तहत बैंक खाते को आधार से लिंक करना जरुरी