प्रदेश सरकार कोविड केयर के साथ-साथ नाॅन कोविड केयर पर भी पूरा ध्यान दे रही है

Image default
उत्तर प्रदेश

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव सूचना श्री नवनीत सहगल ने लोक भवन में प्रेस प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए बताया कि प्रदेश में कोविड-19 के संक्रमण दर में लगातार गिरावट आ रही है। प्रदेश सरकार संक्रमण की दर मे गिरावट आने के बावजूद बीमारी पर नियंत्रण बनाये रखने के लिए टेस्टिंग की संख्या बढ़ाने पर जोर दे रही है। प्रदेश के चिकित्सालयों में समुचित संसाधन उपलब्ध है। प्रदेश के अस्पतालों में 1.50 से अधिक कोविड बेड्स की व्यवस्था की गयी है। जिला, मण्डल एवं मुख्यालय स्तर पर निरन्तर समीक्षा हो रही हैं। मा0 मुख्यमंत्री जी स्वयं निरन्तर कोविड-19 के संबंध में समीक्षा कर रहे है।
श्री सहगल ने बताया कि आज प्रधानमंत्री जी ने पी0एम0 स्वनिधि योजना के तहत लगभग 2.74 लाख से अधिक छोटे व्यापारियों, ठेले वाले, रेहड़ी वाले तथा छोटे-छोटे खोखे वाले, खोमचे वालों आदि को 10-10 हजार रूपये ऋण वितरण कर एक अभियान का प्रारम्भ किया है। उत्तर प्रदेश अभी तक प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना के अन्तर्गत ऋण वितरण में प्रथम स्थान पर है। लगभग 07 लाख छोटे व्यापारियों, ठेले वाले, रेहड़ी वाले तथा छोटे-छोटे खोखे वाले, खोमचे वालों आदि प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना के अन्तर्गत ऋण के लिए रजिस्ट्रेशन करवाया था। जिनमें से 3.62 लाख अभ्यार्थियों को ऋण स्वीकृत हुआ है। आज प्रधानमंत्री जी द्वारा 2.74 लाख लाभार्थियों को ऋण वितरण किया गया। प्रधानमंत्री जी ने प्रदेश के तीन शहरों वाराणसी, लखनऊ तथा आगरा के लाभार्थियों से बात की। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार का प्रयास है कि लाभार्थियों की संख्या को 2.74 लाख से बढ़ाकर बैकों के सहयोग से कम से कम 05 लाख तक लाया जाए। जिससे छोटे व्यापारी, ठेले वाले, रेहड़ी वाले तथा छोटे-छोटे खोखे वाले, खोमचे वालों आदि अपने व्यवसाय को बढ़ा सके तथा और अधिक लाभ प्राप्त कर सके।
श्री सहगल ने बताया कि आर्थिक गतिविधिया तेजी से चले इसके लिए प्रदेश सरकार प्रयास कर रही है, और अधिक रोजगार सृजन के लिए भी कदम उठाये जा रहे है। आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश रोजगार/स्वरोजगार सृजन अभियान में इस वित्तीय वर्ष में 14 मई से आजतक लगभग 5.80 लाख नई डैडम् इकाईयों को रू0 15,526 करोड रूपये के ऋण वितरण किया गया है। इस प्रकार 10 लाख से अधिक डैडम् इकाईयों को 26 हजार करोड़ रूपये से अधिक की आर्थिक सहायता उपलब्ध करायी गयी है। इस अभियान से लगभग 25 लाख रोजगार के अतिरिक्त अवसर पैदा हुये है।
श्री सहगल ने बताया कि मा0 मुख्यमंत्री जी द्वारा निरन्तर धान खरीद की समीक्षा की जा रही है। मा0 मुख्यमंत्री जी ने इस संबंध में सभी जिलाधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि किसानों के धान की खरीद समय से हो तथा उन्हें धान का न्यूनतम समर्थन मूल्य अवश्य मिले। मुख्यमंत्री जी ने कहा है कि जिलाधिकारी की यह जिम्मेदारी है कि किसानों को किसी प्रकार की समस्या न होे तथा क्रय केन्द्र सुचारू रूप से कार्य करे। उन्होंने बताया कि अब तक 31.16 लाख कंुतल से अधिक धान की खरीद की जा चुकी है जो कि पिछले वर्ष 7.5 लाख कंुतल से 04 गुना अधिक है।
प्रदेश के अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य श्री अमित मोहन प्रसाद ने कहा कि प्रदेश में कल एक दिन में कुल 1,38,155 सैम्पल की जांच की गयी। प्रदेश में अब तक कुल 1,42,76,788 सैम्पल की जांच की गयी है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना सेे संक्रमित 2018 नये मामले आये हैं। प्रदेश में अब तक कुल 4,40,847 व्यक्ति उपचारित होकर डिस्चार्ज किये गये हैं। प्रदेश में रिकवरी का प्रतिशत अब बढ़कर 93 प्रतिशत हो गया है। प्रदेश में 26,267 कोरोना के एक्टिव मामले हैं। एक्टिव मामलो में निरन्तर गिरावट हो रही है। उन्होंने बताया कि अब तक कुल 2,66,919 लोग होम आइसोलेशन की सुविधा प्राप्त करते हुए 2,55,293 लोगों ने अपने होम आइसोलेशन की अवधि पूर्ण कर ली है। उन्होंने बताया कि निजी चिकित्सालयों में 2352 लोग ईलाज करा रहे है। प्रदेश में सर्विलांस टीम के माध्यम से 1,48,276 क्षेत्रों में 4,35,546 टीम दिवस के माध्यम से 2,78,86,876 घरों के 13,71,91,324 जनसंख्या का सर्वेक्षण किया गया है। उन्होंने बताया कि चिकित्सकीय उपचार के लिए ई-संजीवनी पोर्टल शुरू किया गया है। ई-संजीवनी के माध्यम से कल 2644 लोगों ने चिकित्सकीय परामर्श लिया। अब तक कुल 1,65,636 लोगों ने ई-संजीवनी पोर्टल पर चिकित्सकीय परामर्श लिया।
श्री प्रसाद ने बताया कि प्रदेश सरकार कोविड केयर के साथ-साथ नाॅन कोविड केयर पर भी पूरा ध्यान दे रही है। इस वर्ष 26 अक्टूबर, 2020 तक विभिन्न सरकारी अस्पतालों में 15,733 मेजर आपरेशन किये गये है। उन्होंने कहा कि सभी जिला अस्पतालों सहित सी0एच0सी0 एवं पी0एच0सी0 में सभी चिकित्सीय सुविधाएं उपलब्ध है।

Related posts

सुश्री भाटी की स्मृति में उनके गांव में बच्चों के लिए पुस्तकालय एवं प्रेरणा स्थल का निर्माण कराया जाएगा: सीएम

विकलांग छात्रों को आकर्षित करने के लिए नई योजनाएं बनाई जायें- प्राविधिक शिक्षा मंत्री

प्रधानमंत्री ने संस्थान की नवीन गतिविधियों की जानकारी प्राप्त की