इंस्टीट्यूशनल क्वारेंटाईन किये गये लोगों की संख्या 35,207 है: अवनीश कुमार अवस्थी

Image default
उत्तर प्रदेश

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव सूचना एवं गृह श्री अवनीश कुमार अवस्थी ने आज यहां लोक भवन में प्रेस प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए बताया कि मुख्यमंत्री जी ने े कहा है कि राज्य सरकार आमजन को बेहतर चिकित्सा सुविधाएं सुलभ कराने के लिए कृतसंकल्प हैं। प्रदेशवासियों को कोविड-19 के संक्रमण से बचाव व उपचार के लिए राज्य सरकार द्वारा हर सम्भव कदम उठाया जा रहा है। उन्होंने कहा है कि कोविड-19 से बचाव के लिए इसके प्रति पूरी सावधानी बरते जाने की आवश्यकता है। इसे ध्यान में रखते हुए कोविड-19 से बचाव के लिए जागरूकता कार्यक्रम निरन्तर संचालित किये जाएं। उन्होंने कहा है कि कोविड-19 के प्रति जागरूकता के लिए पुलिस व प्रशासन मिलकर पब्लिक एड्रेस सिस्टम के माध्यम से अभियान चलाएं। मास्क न पहनने वालों के प्रति सद्भावनापूर्ण ढंग से प्रवर्तन कार्रवाई की जाए। इसका उद्देश्य लोगों को कोरोना काल में मास्क पहनने के महत्व से परिचित कराना होना चाहिए। मुख्यमंत्री जी ने प्रदेश में कोविड-19 के टेस्ट की कुल संख्या 75 लाख से अधिक होने पर संतोष व्यक्त करते हुए कहा है कि इसे बढ़ाकर 01 करोड़ टेस्ट किये जाएं। जितने अधिक टेस्ट किये जाएंगे, कोविड-19 के संक्रमण के प्रसार पर उतना ही प्रभावी नियंत्रण किया जा सकेगा। श्री अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने कहा है कि कोविड-19 से बचाव व उपचार की गतिविधियों को प्रभावी ढंग से संचालित करने के लिए प्रशिक्षित व कुशल मानव संसाधन को बढ़ाये जाने की आवश्यकता है। इसके दृष्टिगत, चिकित्सकों, पैरामेडिक्स तथा अन्य चिकित्सा कर्मियों को अधिक से अधिक संख्या में प्रशिक्षित कराया जाए। उन्होंने कहा है कि सभी कोविड अस्पतालों में एच0एफ0एन0सी0 (हाई फ्लो नेज़ल कैन्युला), दवाई आदि सहित सभी आवश्यक वस्तुओं की निरन्तर उपलब्धता सुनिश्चित की जाए। उन्होंने बताया कि प्रदेश में कोरोना से मृत्यु दर कम है। प्रदेश में रिकवरी का प्रतिशत 76.40 प्रशित है।
श्री अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने कहा है कि जनपद लखनऊ, गोरखपुर, प्रयागराज, कानपुर नगर, मेरठ में संक्रमण की स्थिति को देखते हुए विशेष सतर्कता बरतने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा है कि राज्य सरकार द्वारा जनपद लखनऊ में कोविड अस्पताल बनाये गये सभी सरकारी एवं प्राइवेट अस्पतालों द्वारा संक्रमित मरीजों के लिए मानक के अनुरूप उच्च स्तरीय सुविधाएं सुनिश्चित की जाएं। प्राइवेट अस्पतालों द्वारा कोविड संक्रमित मरीजों के उपचार के लिए निर्धारित पैकेज के अनुसार ही धनराशि ली जाए। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने कहा है कि सभी कोविड अस्पतालों में पी0पी0ई0 किट, मास्क, ग्लव्ज, सेनिटाइजर आदि की उपलब्धता निरन्तर बनी रहे। कोविड अस्पतालों में आॅक्सीजन की आपूर्ति निरन्तर बनाये रखने की प्रभावी व्यवस्था की जाए। आॅक्सीजन की उपलब्धता 48 घण्टे के बैकअप के साथ रहनी चाहिए। आॅक्सीजन प्लाण्ट पूरी क्षमता के साथ कार्य करें। उन्होंने कहा है कि आॅक्सीजन की कालाबाजारी प्रत्येक दशा में रोकी जाए। ऐसी गतिविधियों में संलग्न व्यक्तियों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी।
श्री अवस्थी बताया कि अब तक उत्तर प्रदेश में 75 लाख से अधिक कोविड-19 के टेस्ट किये गये थे, इस प्रकार महाराष्ट्र में कोविड-19 की टेस्टिंग 51.6 लाख, आन्ध्र प्रदेश में 45.3 लाख, तमिलनाडु में 58 लाख, कर्नाटक में 37.1 लाख, दिल्ली में 20.8 लाख, पश्चिम बंगाल में 24.2 लाख, तेलंगाना में 21.3 लाख, बिहार में 47.7 लाख तथा उड़ीसा में 24.2 लाख कोविड-19 की टेस्टिंग अब तक की गयी है। उन्होंने बताया कि अभी तक प्रतिदिन लगभग 1.50 लाख की टेस्टिंग की जा रही है इसे भी बढ़ाकर प्रतिदिन 02 लाख टेस्टिंग करने की तैयारी की जाय। श्री अवस्थी ने बताया पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का कार्य अब तक 57 प्रतिशत पूर्ण हो गया है। 1 से 2 किमी0 प्रतिदिन पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे पर निर्माण कार्य किया जा रहा है। इस साल के अन्त तक पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का कार्य पूर्ण कर लिया जायेगा। उन्होंने बताया कि पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का कार्य मानक एवं गुणवत्तापूर्ण ढंग से किया जा रहा है।

श्री अवस्थी ने बताया कि पुलिस विभाग द्वारा धारा-188 के तहत 2,23,733 एफआईआर दर्ज करते हुये 4,23,995 लोगों को नामजद किया गया है। प्रदेश में अब तक 1,51,83,928 वाहनांे की सघन चेकिंग में 71,660 वाहन सीज किये गये। चेकिंग अभियान के दौरान 78,51,37,164 रूपए का शमन शुल्क वसूल किया गया। आवश्यक सेवाओं हेतु कुल 4,36,495 वाहनों के परमिट जारी किये गये हैं। कालाबाजारी एवं जमाखोरी करने वाले 1240 लोगों के खिलाफ 917 एफआईआर दर्ज करते हुए 445 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने बताया कि प्रदेश के 20,786 कन्टेनमेंट जोन के 1,221 थानान्तर्गत, 16,48,858 मकानों के 95,06,135 लोगों को चिन्हित किया गया है। इन कन्टेनमेंट जोन में कोरोना पाॅजिटिव लोगों की संख्या 53,630 है। इंस्टीट्यूशनल क्वारेंटाईन किये गये लोगों की संख्या 35,207 है।
अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य श्री अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में कोविड-19 टेस्टिंग का कार्य तेजी से किया जा रहा है। प्रदेश में कल एक दिन में 1,47,082 सैम्पल की जांच की गयी। प्रदेश में अब तक कुल 75,05,653 सैम्पल की जांच की गयी है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में विगत 24 घंटंे में कोरोना के संक्रमित 6239 नये मामले आये है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में 68,122 कोरोना के एक्टिव मामले हैं। प्रदेश में विगत 24 घंटे में कोरोना के 5958 लोग उपचारित हो चुके हैं। इस प्रकार प्रदेश में अब तक 2,39,485 मरीज पूरी तरह से उपचारित हो चुके हैं। उन्होंने बताया कि होम आइसोलेशन में 36,329 लोग हैं। अब तक 1,53,443 होम आइसोलेशन  में रह चुके हैं जिसमें से 1,17,214 लोगों कीे आइसोलेशन की अवधि पूर्ण कर स्वस्थ्य हो चुके है। प्रदेश में सर्विलांस टीम के माध्यम से 1,01,168 क्षेत्रों में 3,46,317 टीमों के माध्यम से 2,30,26,375 घरों के 11,47,41,385 लोगों का सर्वेक्षण किया गया है।
श्री प्रसाद ने बताया कि पिछले वर्ष 01 सितम्बर से 12 सितम्बर, 2019 के मध्य सरकारी अस्पतालों में 8477 मेजर आॅपरेशन हुए थे जबकि इस वर्ष उक्त अवधि तक6182 मेजर आॅपरेशन हुए हैं। उन्होंने बताया कि पिछले वर्ष 01 सितम्बर से 12 सितम्बर, 2019 के मध्य सरकारी अस्पतालों में 15316 माइनर आॅपरेशन हुए थे जबकि इस वर्ष उक्त अवधि में 7197 माइनर आॅपरेशन हुए हैं।

Related posts

मुख्यमंत्री से निषाद समाज के प्रतिनिधिमण्डल ने मुलाकात की

बनारस में निर्माणाधीन फ्लाईओवर गिरा, अब तक 18 की मौत, 30 से अधिक घायल

तीन शातिर वाहन चोर गिरफ्तार, चोरी की 07 मोटर साइकिलें बरामद