कोरोना टेस्टिंग की संख्या और अधिक बढ़ायी जाये और रैण्डम सैम्पलिंग पर जोर दिया जाये: उप मुख्यमंत्री डाॅ दिनेश शर्मा

Image default
उत्तर प्रदेश

लखनऊ: प्रदेश के उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने जनपद मथुरा के पीडब्ल्यूडी गेस्ट हाउस में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के सम्बंध में सम्बंधित अधिकारियों के साथ बैठक की। बैठक में उन्होंने कहा कि श्री कृष्ण जन्माष्टमी पूरे विश्व में प्रसिद्ध है। कोरोना महामारी के दृष्टिगत प्रमुख मन्दिरों के पदाधिकारियों के साथ बैठक करने के पश्चात निर्णय लिया गया कि श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पूरे उल्लास के साथ बनायी जायेगी, किन्तु बाहरी श्रद्धालुओं को मन्दिर में प्रवेश करने की अनुमति नहीं दी जायेगी। उन्होंने कहा कि सभी मन्दिरों को परम्परागत रूप से सजाया जायेगा और पूर्व की भांति पूजा-पाठ के कार्यक्रम जारी रहेंगे।

डाॅ0 दिनेश शर्मा ने मन्दिरों के साथ-साथ चैराहों को भी सजाने तथा सड़कों पर लाइटिंग करने की लोगों से अपील की। उन्होंने श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के पदाधिकारी से वार्ता करते हुए कहा कि श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के कार्यक्रम को लाइव टेलीकास्ट किया जाये। उन्होंने श्रीकृष्ण जन्माष्टमी कार्यक्रम में आयोजित होने वाले भजन, छंद एवं श्रीकृष्ण जन्म के संबंध में बताने वाले कार्यक्रम को भी लाइव टेलीकास्ट करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि लाइव टेलीकास्ट में डीडी न्यूज एवं एएनआई को शामिल कर लिया जाये, जिससे वह अन्य चैनलों को कार्यक्रम उपलब्ध करा सकें।  बैठक में श्री कृष्ण जन्मभूमि, श्री बांके बिहारी, श्री द्वारिकाधीश एवं जनपद के प्रमुख मन्दिरों के प्रबंधकों के साथ-साथ मथुरा वृन्दावन के सभी मन्दिरों की सजावट के लिए कहा गया।

उप मुख्यमंत्री द्वारा श्रीकृष्ण जन्माष्टमी की बैठक के पश्चात कोविड-19 के संक्रमण से बचाव हेतु चलाये जा रहे कार्यक्रमों के विषय में जानकारी ली। उप मुख्यमंत्री ने बैठक में निर्देश दिया कि जनपद में कोरोना टेस्टिंग की संख्या को और अधिक बढ़ाया जाय और रैण्डम सैम्पलिंग पर जोर दिया जाय। उप मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर आइसोलेशन एवं क्वारंटीन वार्ड की जानकारी ली। बैठक में बताया गया कि जनपद में प्रतिदिन कोविड-19 के 1200 से अधिक टेस्ट किये जा रहे हैं। जनपद में कोविड-19 की रिकवरी दर 66 प्रतिशत से अधिक है।

बैठक में जिलाधिकारी सर्वज्ञराम मिश्र ने बताया कि एन्टीजन द्वारा जनपद में विभिन्न स्थानों पर टेस्ट किये जा रहे हैं, साथ ही रैण्डम टेस्ट भी किये जाते हैं। बैठक में क्वांरटीन केन्द्रों के बारे में बताया गया कि कृष्णा कुटीर में 800 से अधिक बेड हैं, जहां प्रतिदिन मरीजों हेतु साफ-सफाई एवं भोजन पानी की व्यवस्था है, जिसका प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा निरंतर निरीक्षण किया जाता है। उन्होंने बताया कि जनपद में 27 आॅक्सीजन बेड हैं तथा वेंटीलेटर बेड़ों की व्यवस्था केडी और केएम हाॅस्पिटल में बनायी गयी है।

इस अवसर पर विधायक गोवर्धन ठा0 कारिन्दा सिंह एवं बल्देव पूरन प्रकाश, आईजी ए0 सतीश गणेश, मुख्य विकास अधिकारी नितिन गौड़, उपाध्यक्ष एमवीडीए नगेन्द्र प्रताप, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ0 राजीव गुप्ता सहित जनप्रतिनिधि एवं अन्य संबंधित विभागों के अधिकारीगण उपस्थित थे।

Related posts

मुख्यमंत्री ने मुजफ्फरनगर ट्रेन दुर्घटना में मृत व्यक्तियों के आश्रितों को 02-02 लाख रु0 तथा घायलों को 50-50 हजार रु0 की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की

सीएम ने अस्पताल के आई0सी0यू0 वाॅर्ड, इमरजेंसी वाॅर्ड, सामान्य वाॅर्ड तथा अन्य व्यवस्थाओं का निरीक्षण किया

जांच रिपोर्ट के अनुसार प्रदेश में 1999 लोग डेंगू से प्रभावित: प्रमुख सचिव