एसओएस चिल्ड्रेन्स विलेजेज ने कोविड-19 के कारण माता-पिता की देखभाल खो चुके बच्चों के लिए अपने दरवाजे खोला

Image default
उत्तराखंड

देहरादून: एसओएस चिल्ड्रेन्स विलेजेज ऑफ इंडिया ने देश भर में वैसे बच्चों को छोटी या लंबी अवधि तक देखभाल की सुविधा प्रदान करने की घोषणा की है जो महामारी के कारण अपने मातादृपिता के खोने के कारण अपने मातादृपिता की देखभाल से वंचित हो गए हैं और जिनकी सुरक्षाॉ देखभाल और जिंदगी गंभीर रूप से प्रभावित हुई है और उनकी देखभाल करने वाला अब कोई नहीं है।

एसओएस चिल्ड्रेन्स विलेजेज के महासचिव श्री सुमंत कर ने कहा, “इस कठिन समय के दौरान हम लोगों को एकजुट होकर कोविडद-19 से लड़ने के लिए अनुरोध करते हैं, जिसने देश के सामाजिक-आर्थिक ताने-बाने को तबाह कर दिया है। हम यह सुनिश्चित करने की पूरी कोशिश कर रहे हैं कि हमारी देखरेख में सभी बच्चे सुरक्षित और स्वस्थ हों। हम वंचित समुदायों से संबंधित बच्चों की देखभाल करने के लिए सरकार, कॉरपोरेट्स और सिविल सोसायटी के साथ हाथ मिलाने को तैयार हैं, जिनके परिवार इस महामारी के कारण प्रभावित हुए हैं। हम 22 राज्यों में हमारे 32 चिल्ड्रेन्स विलेजेज में ऐसे बच्चों के लिए छोटी या लंबी अवधि तक देखभाल की सुविधा प्रदान कर रहे हैं। जिन बच्चों के माता-पिता कोविड पॉजिटिव हैं और उनका इलाज चल रहा है, उन्हें उनके माता-पिता के ठीक होने तक अल्पकालिक देखभाल के तहत रखा जा सकता है और जिन बच्चों के माता-पिता का देहांत हो गया है, उन्हें हमारे फैमिली लाइक केयर प्रोग्राम उर्फ चिल्ड्रेन्स विलेजेज में दीर्घकालिक देखभाल के तहत रखा जा सकता है। यदि आप हमारी परियोजनाओं के समीप किसी ऐसे बच्चे के संपर्क में आते हैं, जिन्हें देखभाल की जरूरत है तो कृपया हमारे हेल्पलाइन नंबर 18002083232 पर फोन करें  soscvi@soscvindia.org पर ईमेल करें। हमें बच्चे तक पहुंचकर सर्वोत्तम संभव तरीके से उनकी मदद करने पर खुशी होगी।”

Related posts

वीडियों काॅन्फ्रेंसिंग के जरिए सभी जिलाधिकारीयों से एयरपोर्ट और हेलिपैडों के स्थिति की जानकारी लेते हुएः मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह

विधान सभा में हरकी पैड़ी सौंदर्यीकरण विषय पर बैठक करते हुएः शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक

बद्रीनाथ धाम का स्थलीय निरीक्षण कर यात्रा व्यवस्थाओं का जायजा लेते हुए: आयुक्त गढवाल मण्डल विनोद शर्मा