अब तक 4,01,633 लोगों ने ई-संजीवनी के माध्यम से चिकित्सीय परामर्श ले चुके है: अमित मोहन प्रसाद

Image default
उत्तर प्रदेश

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव सूचना श्री नवनीत सहगल ने लोक भवन में प्रेस प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए बताया कि आज 16 जनवरी, 2021 से कोविड वैक्सीन लक्षित समूहों को लगाने की कार्यवाही शुरू कर दी गयी है। वैक्सीनेशन के सम्बंध में किसी भी प्रकार का भ्रम न रखें। उन्होंने बताया कि सर्वप्रथम स्वास्थ्य कर्मियों को वैक्सीन लगाया जा रहा है। भारत सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन एवं क्रम के अनुसार कोविड वैक्सीनेशन का कार्य संचालित किया जा रहा है। इसमें किसी भी प्रकार का कोई भी बदलाव नहीं किया जायेगा। मा0 मुख्यमंत्री जी के निर्देशन में प्रदेश सरकार ने कोविड संक्रमण को नियंत्रित करने की योजना कारगर सिद्ध हो रही है, जिसकी देश-विदेश की विभिन्न संस्थाओं द्वारा प्रशंसा की गयी है। उन्होंने बताया कि मार्च, 2020 में जहां कोविड-19 की टेस्टिंग 72 प्रतिदिन हो रही थी, उसे बढ़ाकर 1,90,000 प्रतिदिन किया गया। इसके साथ-साथ प्रदेश में सर्विलांस का नया प्रयोग कर प्रत्येक परिवार तक पहंुच कर उनका हालचाल लेते हुए कोविड संक्रमण के लक्षण की जानकारी ली जा रही है। अभियान के अन्तर्गत उत्तर प्रदेश की 24 करोड़ जनसंख्या में से 17.80 करोड़ परिवार तक पहुंचकर हालचाल जाना गया है अथवा उनका कोविड टेस्ट कराया गया है। उन्हांेने बताया कि प्रदेश में अब संक्रमण कम हो रहा है, फिर भी कोविड-19 के टेस्ट 1,25,000 से 1,50,000 के बीच किये जा रहे हैं।
श्री सहगल ने बताया कि संक्रमण कम होने से औद्योगिक गतिविधियां तेजी से सामान्य हो रही हैं। सूक्ष्म, लघु, मध्यम एवं वृहद श्रेणी की 8,18,419 इकाइयां क्रियाशील हैं, जिसमें  51.78 लाख श्रमिक कार्यरत हैं। युवाओं के लिए मिशन रोजगार चलाया जा रहा है। प्रदेश सरकार युवाओं को रोजगार, स्वरोजगार, कौशल प्रशिक्षण के माध्यम से रोजगार में लगाने की एक मुहिम चला रही है। इसी क्रम में सरकारी नौकरियों में नियुक्तियों में तेजी लाई जा रही है। उन्होंने बताया कि सभी आयोगों, विभागों, निगमों, परिषदों को कहा गया है कि उनके यहां जितनी रिक्तियां हैं, उनको भरने के लिए प्रक्रिया शीघ्र पूरी की जाय। बैंकों से समन्वय करके प्रदेश में अभी तक 7.10 लाख नई एमएसएमई इकाइयों को 23,115 करोड़ रूपये बैंकों द्वारा ऋण वितरित किये गये हैं। प्रदेश में पुरानी इकाइयों को कार्यशील पूंजी की समस्या से निजात दिलाने के लिए बैंकों से समन्वय करके आत्मनिर्भर पैकेज में 4.37 लाख इकाइयों को रू0 11,100 करोड़ रूपये के ऋण बैंकों से समन्वय स्थापित कर स्वीेकृत करते हुए वितरित किये गये हैं। इस प्रकार 11.50 लाख से अधिक एमएसएमई इकाइयों को बैंकों द्वारा 34,215 करोड़ रूपये से अधिक का ऋण उपलब्ध कराया गया है। एमएसएमई इकाइयों के माध्यम से 27 लाख से अधिक लोगांे को नौकरियां मिली है।
श्री सहगल ने बताया कि किसान कल्याण मिशन सभी 825 विकास खण्डों में चलाया जा रहा है। प्रथम चरण में 06 जनवरी, 2021 को 303 विकास खण्डों में तथा 13 जनवरी, 2021 को 303 विकास खण्डों में किसान कल्याण मिशन चलाया गया। आगामी 21 जनवरी को शेष विकास खण्डों में किसान कल्याण मिशन चलाया जायेगा। किसान कल्याण मिशन में किसानों को उपज से लेकर, फसल के विक्रय तक, खेती के लिए सिंचाई, बीजों की उपलब्धता आदि विषयों पर चल रही सरकार की योजनाओं से अवगत कराया जा रहा है। श्री सहगल ने बताया कि प्रदेश सरकार किसानों के हितों के लिए कृतसंकल्प है और किसानों से न्यूनतम समर्थन मूल्य पर उनकी फसल को खरीदे जाने की प्रक्रिया तेजी से चल रही है। इस क्रम में प्रदेश सरकार द्वारा अभी तक 601.72 लाख कु0 धान किसानों से खरीदा गया है, जो पिछले वर्ष से लगभग डेढ़ गुना अधिक है। प्रदेश में प्रथम बार मक्का की खरीद की जा रही है। अभी तक 1063587 कु0 मक्का किसानों से खरीदा गया है। मूंगफली भी किसानों से खरीदी गयी है। मा0 मुख्यमंत्री जी के निर्देश दिये हैं कि मण्डलायुक्त, जिलाधिकारी स्वयं अथवा अधीनस्थ अधिकारी धान, मक्का तथा मूंगफली क्रय केन्द्रों का नियमित रूप से अनुश्रवण करें। किसानों को धान, मूंगफली व मक्का का न्यूनतम समर्थन मूल्य दिलाया जाये। उन्होंने बताया कि पूर्व में अधिकारियों द्वारा कई क्रय केन्द्रों का निरीक्षण किया गया, जिसमें कुछ क्रय केन्द्रों पर अनियमितता सामने आने पर उनके खिलाफ कार्यवाही की गयी है।
अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य श्री अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में कुल 317 स्थानों पर वैक्सीनेशन का कार्य किया जा रहा है जिसमें 11 स्थानों पर कोवैक्सीन तथा 306 स्थानों पर कोविशील्ड वैक्सीन लगायी गयी। मा0 प्रधानमंत्री जी के सम्बोधन के पश्चात मा0 मुख्यमंत्री जी ने बलरामपुर हाॅस्पिटल के निरीक्षण के दौरान वैक्सीनेशन कार्यों को देखा। उन्होंने बताया कि अपराह्न 03ः30 बजे तक 13,419 डाॅक्टर/स्वास्थ्य कर्मियों को वैक्सीन की प्रथम डोज लगाई गई है तथा दूसरी डोज 15 फरवरी, 2021 को लगाई जायेगी। उन्होंने बताया कि आज डीजी हेल्थ, डीजी परिवार कल्याण एवं एसजीपीजीआई के निदेेशक को भी प्रथम डोज लगायी गयी।
श्री प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में कल एक दिन में कुल 1,23,392 सैम्पल की जांच की गयी। प्रदेश में अब तक कुल 2,60,86,641 सैम्पल की जांच की गयी है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना सेे संक्रमित 533 नये मामले आये हैं। प्रदेश में 9162 कोरोना के एक्टिव मामलों में से 3373 लोग होम आइसोलेशन में हैं। उन्होंने बताया कि निजी चिकित्सालयों में 827 लोग इलाज करा रहे हैं। इसके अतिरिक्त मरीज एल-1, एल-2 तथा एल-3 के सरकारी अस्पतालों मंे अपना ईलाज करा रहे हंै। उन्होंने बताया कि प्रदेश में विगत 24 घण्टों में 930 तथा अब तक कुल 5,78,405 लोग कोविड-19 से ठीक होकर डिस्चार्ज हो चुके हैं। कोविड-19 से रिकवरी का प्रतिशत 97.02 है। प्रदेश में सर्विलांस टीम के माध्यम से 1,83,011 क्षेत्रों में 5,06,950 टीम दिवस के माध्यम से 3,12,78,002 घरों के 15,20,14,450 जनसंख्या का सर्वेक्षण किया गया है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में ई-संजीवनी के माध्यम से 24 घंटे में 5,588 लोगों ने चिकित्सीय परामर्श लिया है। अब तक 4,01,633 लोग ई-संजीवनी के माध्यम से चिकित्सीय परामर्श ले चुके है।

Related posts

मुख्यमंत्री ने प्रदेश में एल-1, एल-2 और एल-3 अस्पतालों में मौजूद बेडों की स्थिति की समीक्षा की

सांसद -MLA विवाद को लेकर BJP प्रदेश अध्यक्ष ने कही ये बड़ी बात

पुस्तकें विचारों को स्थायित्व और गहराई प्रदान करती हैं: प्रो. रीता बहुगुणा जोशी