पुदुचेरी संतों, विद्वानों, कवियों तथा क्रांतिकारियों का घर रहा है: प्रधानमंत्री

Image default
देश-विदेश

प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी ने कराईकल जिला तथा कराईकल नए परिसर- फेज 1 में मेडिकल कॉलेज बिल्डिंग को कवर करने वाले चार लेन के एनएच 45-ए मार्ग की आधारशिला रखी। उन्‍होंने पुदुचेरी में सागरमाला योजना के अंतर्गत छोटे बंदरगाह विकास कार्य के लिए आधारशिला रखी। उन्‍होंने सिंथेटिक एथलेटिक ट्रैक, इंदिरा गांधी खेल परिसर, पुदुचेरी की भी आधारशिला रखी।

श्री मोदी ने पुदुचेरी में जवाहरलाल इंस्‍टीट्यूट ऑफ पोस्‍टग्रेजुएट मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च (जि‍पमर) में ब्‍लड सेंटर तथा लॉजपेट, पुदुचेरी में 100 बिस्‍तर के गर्ल्‍स हॉस्‍टल का उद्घाटन किया। उन्‍होंने फिर से बनाई गई हेरिटेज मैरी बिल्डिंग का भी उद्घाटन किया।

प्रधानमंत्री ने कहा कि पुदुचेरी की भूमि संतों, विद्वानों, कवियों तथा महा‍कवि सुब्रह्मण्य भारती तथा श्री अरबिंदो जैसे क्रांतिकारियों का घर रहा है। उन्‍होंने विविधता के प्रतीक के रूप में पुदुचेरी की प्रशंसा करते हुए कहा कि यहां के लोग विभिन्‍न भाषाएं बोलते हैं, अलग-अलग तरह से उपासना करते हैं लेकिन एक होकर रहते हैं।

फिर से बनाई गई मैरी बिल्डिंग का उद्घाटन करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि यह बिल्डिंग समुद्री किनारे की सुन्‍दरता में जुड़ेगी और अधिक पर्यटकों को आकर्षित करेगी।

प्रधानमंत्री ने कहा कि एनएच 45-ए का चार लेन मार्ग कराईकल जिला को कवर करेगा और पवित्र शनिश्‍वरन मंदिर से कनेक्‍ट‍िविटी में सुधार होगा और एक-दूसरे राज्‍य के लोगों के लिए बेसिलिका ऑफ आवर लेडी ऑफ गुड हेल्‍थ तथा नागोर दरगाह से कनेक्टिविटी बढ़ेगी। उन्‍होंने कहा कि सरकार ने ग्रामीण तथा तटीय कनेक्टिविटी में सुधार के अनेक प्रयास किए हैं और कृषि क्षेत्र इसका लाभ उठाएगा। उन्‍होंने कहा कि सरकार का यह दायित्‍व है कि वह किसानों के उत्‍पाद समय से अच्‍छे बाजार में पहुंचाना सुनिश्चित करे। इस लक्ष्‍य को प्राप्‍त करने में अच्‍छी सड़कें मदद देंगी। उन्‍होंने कहा कि चार लेन की सड़क इस क्षेत्र में आर्थिक गतिवि‍धि को तेज बनाएगी और स्‍थानीय युवा के लिए रोजगार के अवसर प्रदान करेगी।

प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत ने पिछले 7 वर्षों में फिटनेस तथा वेलनेस में सुधार के अनेक प्रयास किए हैं क्‍योंकि आर्थिक समृद्धि का अच्‍छे स्‍वास्‍थ्‍य के साथ निकट संबंध है। इस संदर्भ में उन्‍होंने खेलो इंडिया योजना के हिस्‍से के रूप में खेल परिसर में 400 मीटर के सिंथेटिक एथलेटिक ट्रैक के लिए आधारशिला रखी। इससे भारत के युवाओं में खेल प्रतिभा फले-फूलेगी। उन्‍होंने कहा कि पुदुचेरी में अच्‍छी खेल सुविधाओं के आने से इस राज्‍य के युवा राष्‍ट्रीय तथा वैश्विक खेल स्‍पर्धाओं में शामिल होकर अच्‍छा प्रदर्शन कर सकेंगे। उन्‍होंने कहा कि लॉजपेट में लड़कियों के लिए 100 बिस्‍तर के हॉस्‍टल में हॉकी, वॉलीबॉल, भारोतोलन, कबड्डी, तथा हैंडबॉल खिलाड़ी रहेंगी और उन्‍हें एसएआई कोच के अंतर्गत प्रशिक्षण दिया जाएगा।

प्रधानमंत्री ने कहा कि आने वाले वर्षों में स्‍वास्‍थ्‍य सेवा महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाएगी। सभी को गुणवत्ता सम्‍पन्‍न स्‍वास्‍थ्‍य सेवा प्रदान करने के उद्देश्‍य के साथ जि‍पमर में आज ब्‍लड सेंटर का उद्घाटन किया गया। ब्‍लड सेंटर रक्‍त, रक्‍त उत्‍पाद का लंबे समय तक स्‍टोरेज करेगा और स्‍टेम सेल का बैंक होगा। उन्‍होंने कहा कि यह सुविधा एक अनुसंधान प्रयोगशाला और सभी तरह के ट्रांसफ्यूजन में कार्मिकों के प्रशिक्षण के केन्‍द्र के रूप में काम करेगी।

प्रधानमंत्री ने कहा कि गुणवत्ता संपन्‍न स्‍वास्‍थ्‍य सेवा के लिए हमें गुणवत्ता संपन्‍न पेशेवर लोगों की जरूरत है। कराईकल न्‍यू कैंपस में मेडिकल कॉलेज बिल्डिंग की फेज 1 परियोजना पर्यावरण अनुकूल परिसर प्रदान करेगी और एमबीबीएस के विद्यार्थियों के पढ़ाने के लिए आवश्‍यक सभी आधुनिक शिक्षण सुविधाएं उपलब्‍ध कराएगी।

सागरमाला योजना के अंतर्गत पुदुचेरी पोर्ट डेवलपमेंट की आधारशिला रखते हुए प्रधानमंत्री ने आशा व्‍य‍क्‍त की कि कार्य पूरा होने के बाद यह उन मछुआरों को लाभ प्रदान करेगा, जो मछली पकड़ने के लिए इस बंदरगाह का उपयोग करते हुए समुद्र में जाते हैं। उन्‍होंने कहा कि इससे चेन्‍नई से समुद्री कनेक्टिविटी मिलेगी। इससे पुदुचेरी के उद्योगों की कार्गो गतिविधि में मदद मिलेगी और चेन्‍नई बंदरगाह पर बोझ कम होगा। इससे तटीय शहरों में यात्रियों की आवाजाही संभव हो सकेगी।

प्रधानमंत्री ने कहा कि प्रत्‍यक्ष लाभ अंतरण से विभिन्‍न कल्‍याणकारी योजनाओं के अंतर्गत लाभार्थियों को मदद मिली है। उन्‍होंने कहा कि यह लोगों को अपनी पसंद निर्धारण में सशक्‍त बनाती है। उन्‍होंने कहा कि पुदुचेरी में सरकारी तथा निजी क्षेत्र के विभिन्‍न शैक्षिक संस्‍थानों के कारण मानव संसाधन समृद्ध है। पुदुचेरी में उद्योग और पर्यटन विकास की क्षमता है जो रोजगार तथा अवसर प्रदान करेंगे। प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘पुदुचेरी के लोग प्रतिभावान है। यह भूमि बहुत सुन्‍दर है। पुदुचेरी के विकास के लिए अपनी सरकार की ओर से सभी संभव समर्थन व्‍यक्तिगत रूप से आश्‍वस्‍त करने के लिए मैं यहां हूं।’’

Related posts

सही जानकारी मिले तो छोटे जोत वाले किसान जलवायु परिवर्तन के नुकसान से निबट सकते है: बिल गेट्स

एनसीसी अपना 69वां स्थापना दिवस मना रहा है

अरुणाचल प्रदेश के वजूद को कभी माना ही नहीं: चीन