कोविड-19 के प्रति जनता को किया जाए जागरूक: ब्रजेश पाठक

Image default
उत्तर प्रदेश

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के विधायी एवं न्याय एवं ग्रामीण अभियंत्रण मंत्री श्री ब्रजेश पाठक ने राजधानी में बढ़ते हुए कोविड-19 के संक्रमण को कम करने के लिए डोर-टू-डोर सर्वे, कान्टेक्ट ट्रेसिंग तथा लगातार अनुश्रवण किये जाने पर जोर देते हुए मुख्य चिकित्सा अधिकारी लखनऊ को तत्काल आवश्यक कदम उठाने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने कहा कि सीएमओ कार्यालय में स्थापित कन्ट्रोल रूम को और क्रियाशील बनाया जाए तथा किसी कर्मचारी की नियमित ड्यूटी लगाई जाय ताकि आने वाले काॅल को तत्काल उठाएं तथा उसका समुचित उत्तर दे।
श्री पाठक आज विधान भवन स्थित अपने कार्यालय कक्ष में पुलिस कमिश्नर लखनऊ, जिलाधिकारी, मुख्य चिकित्सा अधिकारी तथा नगर आयुक्त, नगर निगम, लखनऊ के साथ बैठक कर रहे थे। उन्होंने सीएमओ लखनऊ को निर्देश दिये कि वे स्वयं कोविड-19 अस्पतालों का प्रतिदिन भ्रमण करें और वहां उपलब्ध सुविधाओं का मूल्यांकन करें। यदि कोई कमी पायी जाती है तो उसका तत्काल निस्तारण करते हुए आवश्यक व्यवस्था सुनिश्चित कराएं। उन्होंने मरीजों के खान-पान की व्यवस्था, सफाई एवं दवाओं की उपलब्धता बनाये रखने की हिदायत दी।
विधायी एवं न्याय मंत्री ने बैठक में यह भी निर्देश दिये कि संक्रमित मरीजों की सूचना मिलते ही उसका पता लगाकर शीघ्र ही कोविड-19 अस्पताल में भर्ती कराना सुनिश्चित करें। उन्होंने यह भी कहा कि सीएमओ आॅफिस आई0टी0 सेक्शन को और अधिक प्रभावी बनाया जाए। इसके साथ ही कोरोना सेम्पुल के कन्साइन्मेंट को यथाशीघ्र आवंटित किया जाए जिससे जांच जल्दी हो सके। उन्होंने पैरामेडिकल स्टाफ की कमी दूर करने तथा एम्बुलेंस एवं बेड की संख्या बढ़ाने के निर्देश दिये। इसके अलावा बलरामपुर अस्पताल को कोविड-19 अस्पताल घोषित करने का सुझाव दिया है।
श्री पाठक ने नगर आयुक्त को पूरे लखनऊ को सेनेटाइज कराने का निर्देश दिया है। इसके साथ ही सभी वार्डों की साफ-सफाई पर विशेष बल देते हुए नियमित रूप से सफाई कराने का निर्देश दिया है ताकि कोरोना संक्रमण को रोका जा सके। उन्होंने नगर आयुक्त से कहा कि लखनऊ के सभी वार्डों के पार्षदों से एक बैठक कर उनके वार्डों में जो व्यक्ति कोरोना से पीड़ित हो उनकी सूचना तत्काल उपलब्ध कराएं ताकि उनका उपचार शीघ्रता से हो सके। उन्होंने जनता को कोविड-19 के प्रति जागरूकता लाने पर विशेष बल दिया है।
बैठक में पुलिस कमिश्नर लखनऊ श्री सुजीत पाण्डेय, जिलाधिकारी श्री अभिषेक प्रकाश, मुख्य चिकित्सा अधिकारी श्री नरेन्द्र अग्रवाल एवं नगर आयुक्त श्री इन्द्रमणि त्रिपाठी उपस्थित थे।

Related posts

सीएम योगी आदित्यनाथ ने जनपद सीतापुर में खैराबाद थाना क्षेत्र के अंतर्गत हिंसक कुत्तों द्वारा घटित घटनाओं को गम्भीरता से लिया

खादी उत्पादन एवं बिक्री पर विशेष छूट

एक लाख बहनों और परिजनों ने प्रदेश की जेलों में अपने बंदी भाइयों को राखी बांधी- बलवंत सिंह रामूवालिया