एनआईसीएसआई 28 जनवरी 2021 को अपनी रजत जयंती मनाएगा; आईटी मंत्री श्री रविशंकर प्रसादइस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि होंगे

Image default
देश-विदेश

नेशनल इन्फार्मेटिक्स सेंटर सर्विसेज इंकॉर्पोरेटेड (एनआईसीएसआई), जोकि भारत सरकार के इलेक्ट्रॉनिक्स एवंआईटी मंत्रालय (एमईआईटीवाई) के नेशनल इन्फार्मेटिक्स सेंटर (एनआईसी) के अधीन सार्वजनिक क्षेत्र का एक उपक्रम है, 28 जनवरी 2021 कोयहां अपनी स्थापना की 25वींवर्षगांठ मनाएगा।केंद्रीय इलेक्ट्रॉनिक्स एवंआईटी, संचार और विधिएवं न्याय मंत्रीश्री रविशंकर प्रसाद इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में शामिल होंगे।इलेक्ट्रॉनिक्स एवंआईटी मंत्रालय के सचिव श्री अजय साहनी, इलेक्ट्रॉनिक्स एवंआईटी मंत्रालय के अतिरिक्त सचिवएवं एनआईसीएसआई के अध्यक्ष डॉ. राजेंद्र कुमार, नेशनल इन्फार्मेटिक्स सेंटर (एनआईसी) की महानिदेशकडॉ. नीता वर्मा, टेक महिंद्रा इंडिया के सीईओश्री सी. पी. गुरबानी, नैस्कॉम की अध्यक्षसुश्री देबजानी घोषऔर एनआईसीएसआई के प्रबंध निदेशकश्री प्रशांत कुमार मित्तलसहित कई अन्य गणमान्य व्यक्ति भी एनआईसीएसआई के रजत जयंती समारोह में भाग लेंगे।

केन्द्रीय मंत्री श्री प्रसाद तेजस – एक वर्चुअल इंटेलिजेंस टूल (एनआईसी एवं एनआईसीएसआई-सीईडीए), जोकि नीतिगत फैसलों और सरकारी सेवाओं एवं नागरिक को उसके वितरण से जुड़ी दक्षता में सुधार के उद्देश्य से सार्थक जानकारी जुटाने के लिए उपलब्ध डेटा से महत्वपूर्ण जानकारी निकालता है; ई-नीलामी भारत – सरकारी संस्थानों की इलेक्ट्रॉनिक फारवर्ड और रिवर्स नीलामी आवश्यकताओं को पूरा करने के उद्देश्य से 24×7 ऑनलाइन सेवा;वर्क फ्रॉम एनीवेयर पोर्टल – एक आभासी वातावरण का प्रावधान, जोकर्मचारियों को ईऑफिस, कैलेंडर, मेल और अन्य विभागीय अनुप्रयोगों जैसे नियमित अनुप्रयोगों तक पहुंचनेमें सक्षम बनायेगा और इस महामारी के दौरानशारीरिक दूरी और कहीं से भी काम करने की सुविधा के आश्वासन के साथ सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए वीडियो कॉन्फ़्रेंसिंग के माध्यम से संचार करेगा;वैश्विक स्तर पर उत्पाद सॉफ्टवेयर अनुप्रयोगों को बढ़ावा देने के जरिए डिजिटल इंडिया ब्रांडिंग को बेहतर बनाने के उद्देश्य सेअंतरराष्ट्रीय पेशकश के लिए एनआईसी उत्पाद पोर्टफोलियो का शुभारंभ करेंगे।

यह आयोजन 28 जनवरी 2021 को सुबह 11:30 बजे शुरू होगा। इसे एनआईसी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर लाइव वेबकास्ट(वेबकास्ट लिंक: https://webcast.gov.in/nicsi ) किया जायेगा।

एनआईसीएसआई ने 29 अगस्त 1995 को आईसीटी सेवा उद्योग में अपनी यात्रा शुरू की थी।केंद्र एवं राज्य सरकारों और देशभर के अन्य सार्वजनिक उपक्रमों को ई-गवर्नेंस से जुड़ी परियोजनाओं के लिए एंड-टू-एंड आईटी समाधान प्रदान करते हुएएनआईसीएसआई कुछ विशिष्ट परियोजनाओं में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी अपनी सेवाएं प्रदान करता है।

ईगोव की अधिकांश परियोजनाओं में मौजूदगीके साथ, सामाजिक-आर्थिक विकास में योगदान देने के अपने दृष्टिकोण और मिशन में एनआईसीएसआई सफलतापूर्वक निरंतर आगे बढ़ रहा है।

एनआईसीएसआई द्वारा प्रदान की जाने वाली मुख्य सेवाओं मेंआईटी कंसल्टेंसी, सेंटर ऑफ एक्सीलेंस फॉर डेटा एनालिटिक्स, प्रोडक्टाइजेशन एंड इंटरनेशनल प्रमोशन, क्लाउड सर्विसेज, आईसीटी प्रोडक्ट इंस्टॉलेशन, ह्यूमन रिसोर्स / रोल आउट / ट्रेनिंग शामिल हैं । इसकी कुछ अहम सुविधाओं में ई-ऑफिस, ई-ट्रांसपोर्ट, ई-हॉस्पिटल, ई-प्रिजन्स, ई-कोर्ट्स एवं इसी तरह की अन्य सेवाएंआतीहैं।

Related posts

यात्रियों को हमसफर रेल गाडि़यों में कम किराए पर मिलेंगी आधुनिक सुविधाएं

शहरी समृद्धि उत्सव का शुभारंभ

प्रधानमंत्री ने कोविड-19 की स्थिति और कोविड-19 टीकाकरण के लिए तैयारियों की समीक्षा की