नेहरू मेमोरियल म्यूजियम एंड लाइब्रेरी से नेहरू जी की कटार चोरी, दो आरोपी गिरफ्तार

Image default
देश-विदेश

नई दिल्ली: गृह मंत्रालय ने चाणक्यपुरी स्थित नेहरू मेमोरियल म्यूजियम एंड लाइब्रेरी से पूर्व प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू को उपहार स्वरूप मिली ऐतिहासिक कटार चोरी मामले में दिल्ली पुलिस ने म्यूजियम के दो आरोपी कर्मचारियों को गिरफ्तार किया है।

आरोपियों के नाम रामचंद्र और संदीप बताए जा रहे हैं। दोनों आरोपी म्यूजियम में अनुबंधित कर्मचारी थे। उन्होंने पुलिस को बताया कि उन्हें लगा कटार सोने की है और इसे पैसे के लिए चुराया। इससे पहले गृह मंत्रालय ने मामले पर रिपोर्ट मांगी थी। सांस्कृतिक मंत्रालय ने भी मामले की जानकारी ली। म्यूजियम के कई अधिकारियों ने मंत्रालय जाकर पूरी जानकारी दी थी।

दिल्ली पुलिस आयुक्त आलोक कुमार वर्मा ने नई दिल्ली जिला पुलिस से रिपोर्ट मांगी थी। बताया जा रहा है कि जल्द ही गृहमंत्रालय को रिपोर्ट सौंप दी जाएगी। शीशे के बॉक्स व कमरे की कुंडी से पुलिस को करीब सात फिंगर प्रिंट मिले थे, इनमें से तीन फिंगर प्रिंट बढ़िया स्थिति में थे। इसके आधार पर पुलिस ने जांच शुरू की।

मामला देश की ऐतिहासिक धरोहर के चोरी होने का है, अत: नई दिल्ली जिले के कई अफसरों को जांच में लगाया है। चाणक्यपुरी स्थित नेहरू मेमोरियल म्यूजियम एंड लाइब्रेरी से सोमवार को पूर्व प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू की कटार चोरी हो गई थी। पूर्व प्रधानमंत्री को सोने की परत चढ़ी इस कटार को सऊदी अरब ने उपहार में दिया था।

पुलिस अधिकारियों के अनुसार बॉक्स में प्रधानमंत्री नेहरू को पाकिस्तान से उपहार में दिया गया बॉक्स, जमैका से दिया गया सिक्का, ईरान से दिया गया कटोरा व एक चांदी की प्लेट रखी हुई थी। म्यूजियम से सिर्फ सोने की परत चढ़ी कटार ही चुराई गई। सोमवार सुबह जब सफाई की गई तो कटार सुरक्षित थी। शाम को सफाई के समय कटार के चोरी होने के बारे में पता लगा। सोमवार को म्यूजियम आम लोगों के लिए बंद रहता है।

ऐसे में पुलिस को अंदेशा है कि म्यूजियम में काम करने वाले किसी कर्मचारी ने ही चोरी की वारदात को अंजाम दिया है। पुलिस ने म्यूजियम में काम करने वाले करीब 60 लोगों से पूछताछ की है। इनमें से काफी लोगों के फिंगर प्रिंट लिए गए हैं, ताकि उनका मिलान किया जा सके।

Related posts

एसएमएसओ का कॉनक्‍लेव आयोजित

कोविड – 19 महामारी से पैदा हुई भारी चुनौतियों के बावजूद, आरसीएफ ने एनपीके उर्वरक सुफला की बिक्री में 35 प्रतिशत से अधिक की वृद्धि दर्ज की

कांग्रेस का ‘भूमि’ मार्च, पास होगा लैंड बिल

Leave a Comment