महंत स्व0 नरेन्द्र गिरि जी महाराज ने अखाड़ा परिषद व संत समाज की अविस्मरणीय सेवा की: सीएम

उत्तर प्रदेश

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने आज अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष व प्रयागराज में स्थित बाघम्बरी मठ के ब्रह्मलीन महंत श्री नरेन्द्र गिरि जी महाराज के अन्तिम दर्शन कर उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की।
इस अवसर पर मीडिया को सम्बोधित करते हुए उन्होंने कहा कि महंत स्व0 नरेन्द्र गिरि जी महाराज का निधन आध्यात्मिक और धार्मिक समाज की अपूरणीय क्षति है। यह अत्यन्त दुःखद घटना है। उन्होंने अखाड़ा परिषद व संत समाज की अविस्मरणीय सेवा की थी। आम जनमानस व श्रद्धालुओं की भावनाओं के अनुरूप प्रयागराज कुम्भ-2019 को वैश्विक स्तर पर पहुंचाने का प्रयास किया था। प्रयागराज कुम्भ को सकुशल, सुरक्षित, सुव्यवस्थित एवं सफल बनाने में उनका सहयोग प्राप्त हुआ था, जिसके परिणामस्वरूप प्रयागराज कुम्भ को वैश्विक मंच पर मान्यता मिली।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि महंत जी ने प्रयागराज कुम्भ को पूरी भव्यता के साथ आयोजित करने में अपना पूरा योगदान दिया था। प्रयागराज कुम्भ के आयोजन के दौरान प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने प्रयागराज में विभिन्न विकास कार्याें को लोकार्पित किया था। प्रधानमंत्री जी जब कुम्भ के दौरान प्रयागराज आए थे, तब उनके द्वारा किया गया माँ गंगा का पूजन महंत जी ने सम्पन्न कराया था।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि महंत स्व0 नरेन्द्र गिरि जी ने प्रयागराज कुम्भ के आयोजन में सभी अखाड़ों, पंथ, सम्प्रदायों से जुड़े आचार्य, धर्माचार्यों के बीच बेहतर समन्वय और संवाद बनाए रखा। उसी का परिणाम था कि प्रयागराज कुम्भ अपनी भव्यता के कारण वैश्विक मंच पर अद्भुत घटना के रूप में जाना जाता है, जिसमें सुव्यवस्था, सुरक्षा, स्वच्छता के नए मानक स्थापित हुए।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि महंत स्व0 नरेन्द्र गिरि जी के निधन की घटना से सम्बन्धित सभी साक्ष्य इकट्ठे किये जा रहे हैं। यह घटना एक वरिष्ठ धर्माचार्य से जुड़ी है। ए0डी0जी0 जोन, आई0जी0 रंेज, डी0आई0जी0 प्रयागराज की एक पुलिस टीम तथा मण्डलायुक्त प्रयागराज एक साथ मिलकर टीमवर्क करते हुए जांच कार्य को आगे बढ़ा रहे हैं। उन्होंने कहा कि घटना का पर्दाफाश होगा। जो भी व्यक्ति इसके लिए जिम्मेदार होगा, उसको कानून के दायरे में लाकर कड़ी से कड़ी सजा दिलायी जाएगी।
इस अवसर पर नागरिक उड्डयन तथा अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री श्री नन्द गोपाल गुप्ता ‘नंदी’, सांसद श्रीमती रीता बहुगुणा जोशी, विधान परिषद के सदस्य श्री स्वतंत्र देव सिंह सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

Related posts

रेलवे पर पड़ी जीएसटी की मार, टिकट कलेक्टर काट रहे हैं पार्किंग का टोकन

उन्नाव रेप केस: आरोपी बीजेपी विधायक विशेष कोर्ट लेकर पहुंची सीबीआई

टीकाकरण के बाद भी कोविड प्रोटोकॉल का पालन अवश्य करें