कार्तिक पूर्णिमा: करें दान- स्नान और ग्रहों की पूजन, होगा अपार लाभ

Image default
अध्यात्म

कार्तिक मास की कार्तिक पूर्णिमा कई मान्य में बहुत महत्वपूर्ण है और इस बार कार्तिक पूर्णिमा 12 नवंबर यानी आज है। इस पूर्णिमा का शैव और वैष्णव, दोनो ही सम्प्रदायों में बराबरा का महत्व है। माना जाता है कि इस दिन शिव जी ने त्रिपुरासुर नामक राक्षस का वध किया था और विष्णु जी ने मतस्य का अबतार लिया था। और इसी दिन गुरुनानक देव का जन्म भी हुआ था।

पवित्र नदी में करें स्नान
कार्तिक पूर्णिमा के दिन पवित्र नदियों में स्नान करने का महत्व है और दीपदान का भी विशेष महत्व है। इस दिन अगर दान किया जाए तो जिवन में सुख-समृद्धि बना रहता है। इस दिन दान करने से ग्रहों की समस्या को दूर किया जा सकाता है।

नियम और तरिके से करें स्नान
माना जाता है कि इस दिन गंगा जैसी पवित्र नदी में लोग स्नान करते है। इसके लिए नियम और तरीके से स्नान करें। और स्नान के ओणबाद सूर्य को अर्ध्य दें। साफ या सफेद वस्त्र धारण करे फिर मंत्रों का जाप करें। मंत्र जाप के बाद अपनी श्रमता अनुसार दान करें। लोग अगर चाहे तो इस दिन जल और फल का ग्रहण करके उपवास भी रख सकते है।

Related posts

नहीं दिखा कहीं चांद, जामा मस्जिद के शाह बुखारी का एलान 16 को मनेगी ईद

दिवाली 2019: इस दिवाली बन रहे हैं कई शुभ योग, जानिए खरीदारी का मुहूर्त

नवरात्रि 2019: आज करें मां चंद्रघंटा की आराधना, जानिए पूजन की विधि और शुभ मुहूर्त