IPL 2020: राजस्थान रॉयल्स का मकसद हर हाल में स्टोक्स- बटलर को फ्लॉप करना

Image default
खेल समाचार

इंडियन प्रीमियर लीग में सभी 8 टीमें बेहद ही मजबूत हैं. सभी टीमों में एक से बढ़कर एक दमदार खिलाड़ी हैं, जो कि अकेले दम पर अपना मैच जिता सकते हैं. लेकिन आप जानते हैं कि आखिर क्या वजह है कि मुंबई इंडियंस ने 4 बार और चेन्नई सुपरकिंग्स ने 3 बार आईपीएल का खिताब जीता है. आखिर क्यों ये दोनों टीमें आईपीएल में दबदबा बनाकर रखती हैं. इसका जवाब है-ये दोनों ही टीमें अपने खिलाड़ियों और उनकी क्षमताओं का सही इस्तेमाल करती हैं. लेकिन आईपीएल 2008 में चैंपियन बनने वाली राजस्थान रॉयल्स अपने खिलाड़ियों की क्षमता नहीं बल्कि अपनी खराब रणनीति से उन्हें फ्लॉप करने का माहौल बनाती दिख रही है. आईपीएल 2020 इसका बड़ा सबूत है. राजस्थान रॉयल्स ने 13वें सीजन में कई ऐसे फैसले लिये हैं जिन्हें देखकर क्रिकेट एक्सपर्ट्स से लेकर फैंस तक का सिर घूम गया.

फिनिशर को बनाया ओपनर

राजस्थान रॉयल्स ने आईपीएल 2020 में बेन स्टोक्स जैसे बड़े फिनिशर को ओपनर बनाया हुआ है. बेन स्टोक्स को पिछले तीन मैचों में राजस्थान रॉयल्स ने बतौर ओपनर क्रीज पर उतारा है. बेन स्टोक्स ने सनराइजर्स के खिलाफ 5 रन बनाए, कैपिटल्स के खिलाफ जरूर उन्होंने 41 रनों की पारी खेली. लेकिन आरसीबी के खिलाफ वो एक बार फिर 19 गेंदों में 15 रन बनाकर आउट हुए. बेन स्टोक्स को दुनिया का सबसे अच्छा फिनिशर कहा जाता है वो पारी के अंत में बड़े-बड़े शॉट खेलकर विरोधी टीम से मैच छीन लेते हैं लेकिन राजस्थान रॉयल्स ने उन्हें ओपनर बनाया हुआ है.

गजब बात ये है कि आरसीबी के खिलाफ राजस्थान रॉयल्स नेट टी20 के सबसे विस्फोटक ओपनरों में से एक जोस बटलर को 5वें नंबर पर उतार दिया. बटलर खुलकर नहीं खेल सके और उन्होंने 25 गेंदों में सिर्फ 24 रन बनाए. बटलर जैसे बल्लेबाज का स्ट्राइक रेट 100 से भी कम रहा. राजस्थान रॉयल्स की ये रणनीति ये बताती है कि वो अपनी टीम के खिलाड़ियों को अलग रोल में ढालने की कोशिश कर रहे हैं. जबतक किसी खिलाड़ी को आप उनका नेचुरल खेल नहीं खेलने देंगे वो कभी अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाएगा.

Related posts

ऑस्ट्रेलिया दौरे और विंडीज टी-20 सीरीज के लिए टीम इंडिया का ऐलान

पीएसजी छोड़कर नहीं जाने वाले नेमार

IPL-10: हैदराबाद ने कोलकाता को 48 रनों से हराया, डेविड वार्नर ने खेली तूफानी पारी