भारत में कोरोना के सक्रिय मामलों में लगातार कमी

Image default
देश-विदेश सेहत

देश में कोरोना मामलों में लगातार गिरावट दर्ज की जा रही है और आज दूसरे दिन कोरोना के सक्रिय मामले 8 लाख से कम हैं और इनकी 7,83,311 देश में कोरोना के कुल पॉजिटिव मामलों में सक्रिय मामलों का आंकड़ा 10.45 प्रतिशत है।

WhatsApp Image 2020-10-18 at 10.05.47 AM.jpeg

22 राज्‍यों/संघ शासित प्रदेशों में कोरोना के 20,000 से कम सक्रिय मामले हैं।

13 राज्‍यों/संघ शासित प्रदेशों में कोरोना के सक्रिय मामलों की संख्‍या 20,000 से अधिक लेकिन 50,000 से कम है जबकि तीन राज्‍यों/ संघ शासित प्रदेशों में कोरोना के 50,000 से अधिक सक्रिय मामले हैं।

कोरोना के सक्रिय मामलों में गिरावट का यह दौर कोरोना से ठीक होने वाले मरीजों की बढ़ती संख्‍या के बाद दर्ज किया गया है। देश में अब तक 65,97,209 लोग कोरोना को मात दे चुके हैं और कोरोना से ठीक होने वाले तथा सक्रिय मामलों के बीच का अंतर बढ़कर 58,13,898 हो गया है। देश में कोरोना से ठीक होने की रिकवरी दर बढ़कर 88.03 प्रतिशत हो चुकी है।

पिछले चौबीस घंटों में 72,614 कोविड मरीज ठीक हुए हैं और उन्‍हें छुट्टी दी गई है, जबकि नए पु‍ष्‍ट मामलों की संख्‍या 61,871 है।

कोरोना से ठीक होने वाले नए मरीजों का 79 प्रतिशत 10 राज्‍यों/संघ शासित प्रदेशों से है।

महाराष्‍ट्र में एक दिन में 14,000 से अधिक मरीज ठीक हुए हैं जो अपने आप में एक सर्वाधिक आंकड़ा है।

WhatsApp Image 2020-10-18 at 10.02.39 AM (1).jpeg

पिछले चौबीस घंटों में 61,871 नए मामलों की पुष्टि हुई हैं और नए मामलों में से 79 प्रतिशत 10 राज्‍यों और संघ शासित प्रदेशों से हैं।

महाराष्‍ट्र एक ऐसा राज्‍य है जहां अभी भी कोरोना के सबसे अधिक नए मामले पाए जा रहे हैं और इनकी संख्‍या 10,000 से ज्‍यादा है। इसके बाद, केरल का स्‍थान है जहां 9,000 से अधिक कोरोना मामले सामने आए हैं।

WhatsApp Image 2020-10-18 at 10.02.39 AM.jpeg

पिछले चौबीस घंटों में कोरोना से 1033 लोगों की मृत्‍यु हुई है।

इनमें से 10 राज्‍यों/संघ शासित प्रदेशों का योगदान लगभग 86 प्रतिशत है और मृत्‍यु के नए मामलों में 44 प्रतिशत से अधिक अकेले महाराष्‍ट्र से है जहां 463 लोगों की मृत्‍यु हुई है।

WhatsApp Image 2020-10-18 at 10.02.39 AM (2).jpeg

Related posts

नये एमबीबीएस स्‍नातकों को पहला प्रमोशन देने से पहले ग्रामीण इलाकों में उनकी तैनाती अनिवार्य बनाई जाए: वेंकैया नायडू

पत्रकारिता राष्ट्र के लिए एक पवित्र मिशन है: उपराष्ट्रपति

भीड़ प्रबंधन के बारे में दो दिन का सम्‍मेलन केरल में प्रारंभ