आर्थिक रूप से सशक्त बने महिलाएं: मेनका गांधी

देश-विदेश

नई दिल्ली: केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने महिलाओं के सम्मान, गरिमा और प्रतिष्ठा के लिये सरकार की प्रतिबद्धता व्यक्त करते हुये कहा कि आर्थिक स्वावलंबन इसके लिये पहली सीढ़ी है।

उन्होंने भारतीय महिला राष्ट्रीय जैविक महोत्सव का उद्घाटन करने के बाद कहा कि इस आयोजन का उद्देश्य जैविक संस्कृति को बढ़ावा देना और महिला जैविक किसानों तथा उद्यमियों को प्रोत्साहित करना है। मेनका गांधी ने कहा कि यह देश का सबसे बड़ा जैविक उत्सव है और राष्ट्र के जैविक आंदोलन में महिलाओं की अहम भूमिका को रेखांकित करता है।

केंद्रीय मंत्री ने महिलाओं के कल्याण के लिये सरकार की विभिन्न योजनाओं और कार्यक्रमों का उल्लेख करते हुये कहा कि सरकार की प्रतिबद्धता महिलाओं को सशक्त बनाने की है और इसके लिये आर्थिक स्वावलंबन जरूरी है। दस दिवसीय जैविक उत्सव 26 अक्तूबर से 04 नवंबर चलेगा। इसमें 26 राज्यों की महिला उद्यमी हिस्सा लेंगी तथा जैविक उत्पादों का प्रदर्शन किया जायेगा। लेह से कन्याकुमारी और कोहिमा से कच्छ तक की 500 से अधिक महिला उद्यमी अपने-अपने जैविक उत्पादों को पेश करेंगी।

जैविक उत्पादों के अलावा महोत्सव के दौरान सांस्कृतिक कार्यक्रम भी किये जायेंगे। इनमें लोक संगीत और लोक नृत्य प्रमुख हैं। दर्शकों को बाउल संगीत का आनंद भी मिलेगा तथा पूर्वोत्तर, पंजाब और राजस्थान के भी कार्यक्रम पेश किये जायेंगे।

Related posts

राष्‍ट्रपति ने सरदार वल्‍लभभाई पटेल की जयंती पर श्रद्धांजलि अर्पित की

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने अपना फिटनेस वीडियो सांझा किया

देश में एवियन फ्लू की स्थिति