रक्षा कर्मियो द्वारा विरोध सप्ताह एवं अनिश्चितकालीन हडताल पर जाने की तैयारी

Image default
उत्तराखंड

देहरादून: 18 मई, 2015 को आयुध निर्माणी के मुख्य द्वार पर इम्प्लाईज यूनियन आर्डनैन्स फैक्ट्री की एक विशाल सभा हुई। सभा को सम्बोधित करते हुए आल इण्डिया डिफेन्स इम्प्लाईज फैडरेशन के राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य अनिल उनियाल ने कहा कि 10 सूत्री मांगों को लेकर A.I.D.E.F. के आहवान पर 18 मई से 22 मई तक विरोध सप्ताह मनाया जा रहा है।

जिसके तहत 22 मई को ब्लैक बैंज पहनकर विरोध दिवस मनाया जायेगा। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार आर्डनेन्स फैक्ट्ररियों को निगमीकरण करने के लिए आयुध कारखाना बोर्ड डिपार्टमेंटल कमर्मिशल के रुप में घोषित करने जा रही है इसका हम विरोध करते है।
अनिल उनियाल ने कहा कि आयुध कारखानों के सिस्टम आडिट के लिए रक्षा मंत्रालय द्वारा राष्ट्रीय उत्पादकता परिषद को जिम्मेदारी दी गयी है राष्ट्रीय उत्पादकता परिषद आर्डनेन्स फैक्ट्ररियों के वंर्किग कैपिटल, इन्वेंटरी मैनेजमैंट तथा एस0एम0एच0 (स्टैण्र्ड मैन हावर) एवं O.T. आदि के बारे में अध्ययन करने के पश्चात रक्षा मंत्रालय को अपनी रिपोर्ट सौपेगां रक्षा उत्पादन के संयुक्त सचिव (ई0एफ0) ने अपने पत्र संख्या- 27.07 (ES) 2015 दिनांक 20 अप्रैल, 2015 में चेयरमैन को सूचित किया है कि रक्षा मंत्री ने आयुध कारखाना बोर्ड को डिपार्टमेन्टल कामर्शियल अण्डरटेकिंग के रुप में परिवर्तित करने को अपना अनुमोदन दे दिया है तथा 15 मई तक इस बारे में प्रस्ताव बना कर देने को कहा है।
उन्होंने कहा कि पूर्व में भी केन्द्र सरकार ने मिन्ट, सिक्यूरेटी प्रेस तथा दूरसंचार को उसी प्रकार डिपार्टमेन्टल कमर्शियल अण्डरटेकिंग बनाकर इन विभागों का निजीकरण कर दिया गया था। श्री अनिल उनियाल ने कहा कि दस सूत्रीय मांगों में प्रमुख ये है कि रक्षा में 49% व रेलवे में 100% FDI को वापस लिया जाय। अंतरिम सहायता की घोषणा की जाय। नयी पेंशन स्कीम को समाप्त किया जाय। अनुकम्पा आधार पर 5% की सीमा को समाप्त किया जाय, 100% D.A. को मूल वेतन में जोड़ा जाय।
उन्होंने कहा कि यदि सरकार उपरोक्त मांगों पर विचार नहीं करती है तो 23 नवम्बर, 2015 से रेल व रक्षा के सभी कर्मचारी अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले जायेंगे। श्री अनिल उनियाल ने कहा कहा कि रक्षा मंत्रालय द्वारा वर्तमान समय में औघोगिक कर्मचारियों के प्रमोशन की समय सीमा की अवधि को भी बढ़ाया जा रहा है पहले स्किल्ड से एच0एफ0 II में समय सीमा को 3 साल से बढ़ाकर 8 साल किया जा रहा है। HS II  से HS I की समय सीमा को 3 साल से 5 साल किया जा रहा है तथा HS I से MCM के लिए 6 साल किया जा रहा है। जिसका आल इण्डिया डिफेन्स इम्प्लाईज फैडरेशन पुरजोर विरोध करती है। सभा में यूनियन के प्रधान एस0वी0 नौटियाल, (उपप्रधान) वी0पी0 कोठारी, महांमंत्री अशोक शर्मा, बीर सिंह चैहान, नीरज शर्मा, संजीव मवाल, तरुण उपाध्याय, नन्दन सिंह बिष्ट, महेश शर्मा, शिशपाल सिंह रावत, ललित भट्ट, सुनील यादव आदि उपस्थित थे।

Related posts

वित्त मंत्री ने उपचुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी की जीत का किया दावा

सेना से सेवानिवृत्त होने के बाद भी कर्नल कोठियाल कर रहे हैं देश की सेवा: थल सेना प्रमुख बिपिन रावत

ईज आॅफ डूइंग की अध्यक्षता करते हुएः मुख्य सचिव शत्रुघ्न सिंह

Leave a Comment