योजनाओं के सम्बंध में लाभार्थियों को सही जानकारी अवश्य प्रदान की जाय: मंत्री रमापति शास्त्री

Image default
उत्तर प्रदेश

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में समाज कल्याण विभाग द्वारा संचालित वृद्धावस्था पेंशन योजना के तहत जनपद स्तर पर लम्बित आवेदन पत्रों का निस्तारण एक सप्ताह में कराया जाये। वृद्धावस्था पेंशन के लम्बित प्रकरणों को गम्भीरता से लेते हुए प्राथमिकता के आधार पर निराकरण कराते हुए पात्र लाभार्थियों को शीघ्र ही लाभान्वित किया जाये, इसमें किसी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जायेगी। जनपद स्तर पर वृद्धावस्था पेंशन के निराकरण में कहीं लापरवाही या शिथिलता पायी जायेगी तो वहां के जिला समाज कल्याण अधिकारी के विरूद्ध वैधानिक कार्यवाही की जायेगी।
यह बातें उ0प्र0 के समाज कल्याण मंत्री श्री रमापति शास्त्री ने आज यहां समाज कल्याण निदेशालय लखनऊ में विभागीय योजनाओं की प्रगति की समीक्षा करने के उपरान्त कहीं। उन्होंने कहा कि सभी विभागीय अधिकारी योजनाओं का क्रियान्वयन सही ढंग से करना सुनिश्चित करें और बैठक में योजनाओं की अद्यतन प्रगति के साथ उपस्थित हों। उन्होंने कहा कि पात्र लाभार्थियों को योजनाओं से अवश्य लाभान्वित किया जाये। उन्होंने यह भी कहा कि योजनाओं के सम्बंध में कोई लाभार्थी आवेदन करता है तो उस पर समयानुसार कार्यवाही करायी जाये और लाभार्थी को सही जानकारी भी अवश्य प्रदान की जाये इसका भी ध्यान रखा जाये।
श्री शास्त्री ने समीक्षा के दौरान वृद्धावस्था पेंशन के लम्बित प्रकरण जनपद महराजगंज 6549, बलिया 5998, एटा 1714, मऊ 1357, औरैया 1274, गोण्डा 1211, इटावा 861, महोबा 783, प्रतापगढ़ 584, फतेहपुर में 583 है। जिन्हें शीघ्र ही निराकरण कराये जाने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने समीक्षा के दौरान पाया कि जनपद बहराइच, जालौन, झांसी, बांदा, गोरखपुर, कानपुर देहात, आजमगढ़, फिरोजाबाद, हाथरस एवं ललितपुर में वृद्धावस्था पेंशन योजना के तहत लाभार्थियों के प्राप्त आवेदनों का निराकरण करने का कार्य सही ढंग से किया जा रहा है। जिसपर इन जनपदों के जिला समाज कल्याण अधिकारियों की सराहना की।
श्री शास्त्री ने बैठक में पूर्वदशम छात्रवृत्ति, दशमोत्तर छात्रवृत्ति एवं शुल्क प्रतिपूर्ति वितरण योजना (अनुसूचित जाति एवं सामान्य वर्ग), राजकीय आश्रम पद्धति विद्यालयों का संचालन, राष्ट्रीय पारिवारिक लाभ योजना, मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना सहित अन्य विभागीय योजनाओं की प्रगति की समीक्षा की।
इस अवसर पर समाज कल्याण राज्यमंत्री श्री जी0एस0 धर्मेश, प्रमुख सचिव समाज कल्याण श्री बी0एल0 मीना, निदेशक समाज कल्याण श्री बालकृष्ण त्रिपाठी, अपर निदेशक समाज कल्याण श्री रजनीश चन्द्र, संयुक्त निदेशक समाज कल्याण श्री पी0के0 त्रिपाठी, उप निदेशक समाज कल्याण श्री जे0राम, श्री कृष्णा प्रसाद, श्री एस0के0 राय सहित जनपदों के जिला समाज कल्याण अधिकारी आदि उपस्थित रहे।

Related posts

कृषि को दिलाना होगा उद्योग का दर्जा: सत्यदेव पचैरी

मुख्यमंत्री ने हजरत अली के जन्म दिन पर प्रदेशवासियों को बधाई दी

12-12 हजार रूपये के पुरस्कार घोषित तीन अपराधी गिरफ्तार