कंपनी भारत की समुद्री क्षमता को साकार करने में एक प्रमुख भूमिका अदा करेगी: गडकरी

देश-विदेश

नई दिल्ली: केंद्रीय नौवहन और सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री श्री नितिन गडकरी ने कहा है कि विभिन्न चरणों में सागरमाला कार्यक्रम के तहत 1 लाख करोड़ रुपए की परियोजनाओं का कार्यान्वयन और विकास किया जा रहा है। श्री गडकरी आज नई दिल्ली में सागरमाला डेवलपमेंट कंपनी के उद्धाटन के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम के दौरान पत्रकारों से बात कर रहे थे। सागरमाला डेवलपमेंट कंपनी (एसडीसी), कंपनी एक्ट-2013 के तहत निगमित है। कंपनी की आरंभिक प्राधिकृत शेयर पूंजी 1,000 करोड़ रुपए तथा अंशदायी शेयर पूंजी 90 करोड़ रुपये की है।

      कंपनी का मुख्य उद्देश्य सागरमाला कार्यक्रम के तहत बंदरगाह संबंधित विकास परियोजनाओं की पहचान करना है। इसके अलावा परियोजना विशेष प्रयोजन वाहन (एसपीवी) को बंदरगाहों / राज्य / केन्द्रीय मंत्रालयों और वित्तीय खिड़कियों और / या केवल उन बची परियोजनाओं को सहायता प्रदान करना है जिनका क्रियान्वयन किसी अन्य साधनों द्वारा नहीं किया जा सकता है।

      जुलाई 2016 में जहाजरानी मंत्रालय के प्रशासनिक नियंत्रण के तहत कैबिनेट ने एसडीसी के गठन को मंजूरी दी। कंपनी, संरचना गतिविधियों, निजी क्षेत्र की भागीदारी वाली परियोजनाओं की बोली लगाकर, कई राज्यों / क्षेत्रों में सामरिक परियोजनाओं के लिए उपयुक्त जोखिम प्रबंधन के उपायों की पहचान कर अपेक्षित मंजूरी दिलवाने में मंदद करेगी।

      चिह्नित परियोजनाओं का कार्यान्वयन संबंधित बंदरगाहों, राज्य सरकारों / समुद्री बोर्डों, केन्द्रीय मंत्रालयों, निजी या पीपीपी मोड के माध्यम से किया जाएगा। सागरमाला के तहत पहचान की गयी सभी वर्तमान परियोजनाओं के समन्वय और निगरानी के लिए कंपनी एक नोडल एजेंसी के रुप में कार्य करेगी।

सागरमाला के तहत हो रही प्रगति की जानकारी के लिए यहां क्लिक करें

परियोजना रिपोर्ट के लिए यहाँ क्लिक करें

 

Related posts

15वें वित्त आयोग की भारतीय रिजर्व बैंक के साथ बैठक

जेएनसीएएसआर के वैज्ञानिकों द्वारा किए गए अनुसंधान से ऊर्जा एवं जैव -के क्षेत्र में जैव-प्रेरित सामग्रियों की संभावनाएं खुलीं

राष्ट्रीय सांस्कृतिक दृश्‍य-श्रव्‍य अभिलेखागार (एनसीएए) विश्व का पहला विश्‍वसनीय डिजिटल भंडार बना

Leave a Comment