मुख्यमंत्री ने आबकारी विभाग के कार्यों की समीक्षा की तथा प्रस्तुतिकरण का अवलोकन किया

Image default
उत्तर प्रदेश

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने अपने सरकारी आवास पर आबकारी विभाग के कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने पूरे प्रदेश में विभाग के तहत राजस्व लक्ष्य त्वरित गति से प्राप्त करने के उद्देश्य से ‘ट्रैक एण्ड ट्रेस’ सिस्टम को फरवरी, 2020 तक लागू करने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री जी ने कहा कि आबकारी विभाग के मण्डल स्तरीय अधिकारी अपने मण्डल के जनपदों में दौरा कर बिक्री, राजस्व संकलन की स्थिति की प्रत्येक माह समीक्षा करें। उन्होंने समीक्षा की रिपोर्ट आबकारी आयुक्त को प्रत्येक माह भेजने के भी निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि यदि आबकारी विभाग के अधिकारी मुस्तैदी दिखाएंगे तो तस्करी/अवैध गतिविधियां काफी हद तक रोकी जा सकती है।

मुख्यमंत्री जी ने जिला स्तर पर तैनात जिला आबकारी अधिकारियों तथा आबकारी निरीक्षकों को अपने-अपने जनपदों की दुकानों का लगातार निरीक्षण करने और ओवर रेटिंग को चेक करने के निर्देश दिए। उन्होंने यह भी सुनिश्चित करने के निर्देश दिए कि दुकानों पर उस क्षेत्र में बिकने के लिए उपलब्ध करायी गयी सप्लाई ही मौजूद हो। उन्होंने आबकारी विभाग के अधिकारियों को पूरे प्रदेश में जहरीली शराब की बिक्री हर हाल में रोकने के निर्देश दिए। उन्होंने मिलावट रोकने के भी निर्देश दिए।

       मुख्यमंत्री जी ने प्रमुख सचिव आबकारी श्री संजय भूसरेड्डी को जनपद, मण्डल तथा मुख्यालय स्तर के सभी अधिकारियों के कार्य एवं दायित्वों के साथ-साथ उनके लक्ष्य निर्धारित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इन अधिकारियों द्वारा किए जा रहे कार्यों की माॅनीटरिंग की जाए और इसकी मासिक रिपोर्ट शासन को भेजी जाए। उन्होंने गत वर्ष के सापेक्ष वित्तीय वर्ष 2019-2020 में नवम्बर, 2019 तक आबकारी राजस्व की प्राप्ति की भी समीक्षा की।

       बैठक के दौरान मुख्यमंत्री जी ने आबकारी विभाग के कार्यों की प्रगति के सम्बन्ध में प्रस्तुतिकरण का अवलोकन किया।

       बैठक में आबकारी मंत्री श्री राम नरेश अग्निहोत्री, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री श्री एस0पी0 गोयल, सचिव मुख्यमंत्री श्री संजय प्रसाद सहित, संयुक्त आबकारी आयुक्त तथा मण्डलों में तैनात उप आबकारी आयुक्त, जिला आबकारी अधिकारी तथा आबकारी निरीक्षक मौजूद थे।

Related posts

नगर पालिका परिषद, पलिया को ‘‘मूलभूत नगरीय सुविधाएं एवं आवास(एस0सी0एस0पी0) योजना’’ के अन्तर्गत 329.97 लाख रूपये स्वीकृत

खेल से ईमानदारी, अनुशासन एवं टीम वर्क जैसे गुणों का विकास होता है: अनुपमा जायसवाल

अध्यापकों के अनुपस्थित पाये जाने पर जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी एवं खण्ड शिक्षा अधिकारी उत्तरदायी होंगे: बेसिक शिक्षा मंत्री