सावधानी, सतर्कता तथा टीकाकरण ही कोविड नियंत्रण का आधार: मुख्यमंत्री

उत्तर प्रदेश

लखनऊमुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने कहा कि सावधानी, सतर्कता तथा टीकाकरण ही कोविड नियंत्रण का आधार है। संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत सभी आवश्यक कदम उठाए जाएं। मास्क के प्रयोग, सोशल डिस्टेंसिंग, सैनिटाइजेशन इत्यादि से इस संक्रमण को फैलने से रोका जा सकता है। उन्होंने कोविड प्रोटोकॉल का पूर्णतया पालन सुनिश्चित कराए जाने के निर्देश भी दिए हैं।

मुख्यमंत्री जी आज यहां अपने सरकारी आवास पर आहूत टीम-9 की बैठक में प्रदेश में कोविड-19 की स्थिति की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कोविड की बदलती परिस्थितियों के दृष्टिगत सभी शिक्षण संस्थानों-स्कूल, कॉलेज, विश्वविद्यालय, तकनीकी शिक्षण संस्थान आदि में आगामी 23 जनवरी तक भौतिक रूप से पठन-पाठन स्थगित रखने एवं केवल ऑनलाइन मोड में पढ़ाई के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि सभी जनपदों में रात्रि 10 बजे से प्रातः 06 बजे तक रात्रिकालीन कर्फ्यू प्रभावी है, इसे सख्ती से लागू किया जाए।

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि वर्तमान में कोरोना संक्रमण से प्रभावित बहुत कम संख्या में लोगों को अस्पताल में भर्ती होने की जरूरत पड़ रही है। यह संक्रमण कम तीव्रता वाला है, अतः इसके लक्षण दिखने पर सामान्य मरीज होम आइसोलेशन में रहकर चिकित्सक की सलाह से अपना इलाज कर सकता है। यह संक्रमण वायरल फीवर की तरह है। अतः इससे डरने की आवश्यकता नहीं है, लेकिन सभी एहतियात अवश्य बरते जाएं। उन्होंने कहा कि कोविड के खिलाफ वैक्सीन एक सुरक्षा कवच है। वैक्सीनेशन की उपयोगिता को देखते हुए जल्द से जल्द सभी पात्र लोगों का टीकाकरण किया जाए।

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि निगरानी समितियां डोर-टू-डोर सर्वे करें। संदिग्ध लोगों की पहचान करें, टेस्ट कराएं और मेडिकल किट उपलब्ध कराएं। इण्टीग्रेटेड कोविड कमाण्ड सेण्टर्स (आई0सी0सी0सी0) को पूर्णतः सक्रिय रखा जाए। होम आइसोलेशन के मरीजों के स्वास्थ्य की जानकारी प्रतिदिन प्राप्त की जाए। आई0सी0सी0सी0 में चिकित्सकों का पैनल तैनात करते हुए लोगों को टेलीकन्सल्टेशन की सुविधा उपलब्ध करायी जाए।

मुख्यमंत्री जी ने विगत दिनों बारिश, ओलावृष्टि के कारण कुछ जनपदों में जन-धन की हुई क्षति का आकलन करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि राहत आयुक्त कार्यालय पूरी तत्परता और संवेदनशीलता के साथ प्रभावित लोगों से संपर्क कर उन्हें तत्काल सहायता उपलब्ध कराएं।

बैठक में मुख्यमंत्री जी को अवगत कराया गया कि पिछले 24 घण्टों में राज्य में कोरोना संक्रमण के 17,185 नए मामले सामने आए हैं। इस अवधि में 8,802 व्यक्तियों को सफल उपचार के उपरान्त डिस्चार्ज किया गया। वर्तमान में प्रदेश में कोरोना के सक्रिय मामलों की संख्या 1,03,474 है। पिछले 24 घण्टे में प्रदेश में 02 लाख 57 हजार 694 कोरोना टेस्ट किए गए। अब तक राज्य में 09 करोड़ 63 लाख 19 हजार 110 कोविड टेस्ट सम्पन्न हो चुके हैं।

राज्य में गत दिवस तक 22 करोड़ 88 लाख 52 हजार से अधिक कोरोना वैक्सीन की डोज लगाई जा चुकी हैं। 08 करोड़ 59 लाख 20 हजार से अधिक लोगों को टीके की दोनों डोज देकर कोविड सुरक्षा कवच प्रदान किया जा चुका है। 13 करोड़ 74 लाख 07 हजार से अधिक लोगों ने कोविड वैक्सीन की पहली डोज प्राप्त कर ली है। यह संख्या टीकाकरण के लिए पात्र प्रदेश की कुल आबादी की 93.21 प्रतिशत है। विगत दिवस 15 से 17 आयु वर्ग के किशोरों के कोविड टीकाकरण में 51 लाख 37 हजार से अधिक किशोरों ने टीका कवर प्राप्त कर लिया है। जो टीकाकरण के पात्र किशोरों की आबादी का 36.66 प्रतिशत है। इसी प्रकार 03 लाख 87 हजार से अधिक पात्र लोगों ने प्री-कॉशन डोज भी प्राप्त कर ली है।

Related posts

उपभोक्ताओं की सहूलियत के लिए ’सम्भव’ की व्यवस्था में नीचे के स्तर पर एक पायदान और जोड़ा गया: ए0के0 शर्मा

मुख्यमंत्री ने जन-शिकायतों के समयबद्ध निस्तारण के सम्बन्ध में विकास प्राधिकरणों और नगर निगमों की समीक्षा की

केंद्र सरकार ने लगातार 07 वर्षों से हर जरुरतमंद के लिए पूरी तत्परता से कार्य किया है: डॉ0 नीलकण्ठ तिवारी