मुख्यमंत्री के नेतृत्व एवं मार्गदर्शन में मंत्रिमण्डल की बैठक

उत्तर प्रदेश

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के नेतृत्व एवं मार्गदर्शन में आज यहां उनके सरकारी आवास पर मंत्रिमण्डल की बैठक सम्पन्न हुई। इस अवसर पर मुख्यमंत्री जी ने कहा कि आगामी 10-12 फरवरी को यू0पी0 ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट का आयोजन होने जा रहा है। देश और विदेश में हुए रोड शो के साथ-साथ जिला स्तरीय निवेशक सम्मेलनों में उत्साहजनक परिणाम देखने को मिले हैं। पूरी दुनिया के उद्योग जगत ने उत्तर प्रदेश में निवेश के लिए उत्साह जताया है। यह समिट अभूतपूर्व होने जा रही है।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि 10 फरवरी को प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के कर-कमलों से यू0पी0 ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट का शुभारम्भ होगा। इस मुख्य समारोह से सभी जनपदों को जोड़ा जाएगा। जनपदों के कार्यक्रम में जनप्रतिनिधिगण, स्थानीय उद्यमी तथा निवेशकजन एवं सभी अधिकारी सम्मिलित होंगे। यह पहली बार होगा कि जब एक दिन-एक साथ प्रदेश के सभी 75 जनपदों में निवेश होगा। सभी जनपदों के लिए अपार सम्भावनाओं के द्वार खुलेंगे।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि सरकार गठन के उपरान्त मंत्रिसमूहों द्वारा ‘सरकार आपके द्वार’ भावना के साथ किए गए मण्डलीय भ्रमण से जनता के बीच सकारात्मक संदेश गया। अब सभी जनपदों के लिए प्रभारी मंत्री नामित किए जा रहे हैं। यह मंत्री अगले एक वर्ष तक सम्बन्धित जनपद के प्रभारी होंगे। प्रभारी मंत्रीगण अपने जनपद की स्थिति से अपडेट रहें। नियमित अन्तराल पर जनपद का भ्रमण करें। जनपद भ्रमण का कार्यक्रम कम से कम 24 घण्टे का जरूर हो।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि जनपदीय दौरे की अवधि में होने वाली बैठकों में जनप्रतिनिधियों को भी शामिल करें। कानून-व्यवस्था व विभिन्न विकास एवं जनकल्याणकारी योजनाओं की समीक्षा करें। जनपदीय भ्रमण के दौरान लोगों से संवाद करें। विकास खण्ड और तहसील के औचक निरीक्षण करें। मलिन बस्ती में सहभोज भी किया जाना चाहिए। विकास कार्यों का स्थलीय निरीक्षण कर गुणवत्ता की जांच करें। कानून-व्यवस्था की समीक्षा के साथ विद्यालयों, चिकित्सालयों, निराश्रित गौ-आश्रय स्थलों का निरीक्षण, महिला सुरक्षा, एस0सी0-एस0टी0 के प्रकरणों में अभियोजन की स्थिति, पुलिस पेट्रोलिंग, बाल यौन अपराधों, व्यापरियों की समस्याओं, गैंगस्टर पर कार्यवाही, ट्रैफिक प्रबन्धन, राजस्व संग्रह के लिए हो रहे प्रयास आदि की समीक्षा भी करें।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रभार के जनपदों में यदि आकांक्षात्मक विकास खण्ड है तो वहां की स्थिति की सतत समीक्षा करते रहें। भ्रमण के दौरान इन विकास खण्ड में तैनात मुख्यमंत्री फेलोशिप कार्यक्रम के तहत कार्य कर रहे मुख्यमंत्री फेलो से संवाद करें। कार्य की सफलता के लिए उसकी मॉनीटरिंग आवश्यक है। सभी मंत्रीगण अपने विभाग की साप्ताहिक समीक्षा अवश्य करें। अपने सहयोगी राज्य मंत्री को भी इन बैठकों में आमंत्रित करें। विभाग द्वारा संचालित जनहित की योजनाओं के क्रियान्वयन में राज्यमंत्री को भी जिम्मेदारी दी जानी चाहिए।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि यह सुनिश्चित कराएं कि समस्त मण्डलायुक्त, जिलाधिकारी, पुलिस कमिश्नर, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक/पुलिस अधीक्षक, मुख्य विकास अधिकारी सहित फील्ड में तैनात सभी अधिकारी नियमित अन्तराल पर स्थानीय जनप्रतिनिधियों के साथ विकास परियोजनाओं की समीक्षा करें। जिला मॉनीटरिंग कमेटी तथा उद्योग बन्धु की बैठक नियमित रूप से हों। प्रत्येक जिलाधिकारी, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक/पुलिस अधीक्षक, व्यापार व उद्योग विभाग द्वारा माह में एक बार व्यापारिक संगठनों के साथ अनिवार्य रूप से बैठक की जाए। उद्योगों के साथ बैंकर्स की बैठक करायें। युवाओं को रोजगार के लिए ऋण योजनाओं का आसानी से लाभ मिले, इसके लिए प्रभारी मंत्रीगण प्रयास करें।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रधानमंत्री जी के मार्गदर्शन में पूरा देश अन्तर्राष्ट्रीय मिलेट वर्ष मना रहा है। इस क्रम में आज मुख्यमंत्री आवास पर मोटे अनाज के व्यंजनों पर आधारित रात्रिभोज आयोजित किया गया है। इसी प्रकार सभी मंत्रीगण अपने क्षेत्र में स्थानीय जनप्रतिनिधियों व प्रबुद्धजन के लिए ऐसे सहभोज का आयोजन करें। आमजन को मिलेट्स की महत्ता से परिचित कराएं।

Related posts

सफलता की कहानी-13, एक और सराहनीय पहल

सफलता की कहानी-35, पिछले वर्ष के मुकाबले इस वर्ष 13 प्रतिशत ज्यादा गेहूं की खरीद की गई

मुख्यमंत्री ने जनपद हमीरपुर के चहुंमुखी विकास के लिए विभिन्न विकास परियोजनाओं का शिलान्यास एवं लोकार्पण किया