बजरंग पुनिया और विनेश फोगाट सोनीपत स्थित भारतीय खेल प्राधिकरण में फिट इंडिया फ्रीडम रन कार्यक्रम में ऑनलाइन माध्यम के जरिए शामिल हुए

Image default
खेल समाचार देश-विदेश

सोनीपत के भारतीय खेल प्राधिकरण के उत्तरी क्षेत्रीय केंद्र ने आज फिट इंडिया फ्रीडम रन पर 391 प्रतिभागियों के साथ ऑनलाइन बातचीत की। 2019 और 2020 में स्टार पहलवान और खेल रत्न विजेता क्रमशः बजरंग पुनिया और विनेश फोगाट डेढ़ घंटे तक चले इस कार्यक्रम के प्रमुख वक्ताओं के रूप में शामिल हुए। इस कार्यक्रम का उद्घाटन साई एनआरसी सोनीपत की क्षेत्रीय निदेशक ललिता शर्मा ने किया और साई सोनीपत के अलावा पूरे हरियाणा से हिसार, भिवानी, कुरुक्षेत्र, बवाना तथा रोहतक के साई केंद्रों के एथलीटों और कोचों ने इसमें भागीदारी की। इस कार्यक्रम में प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के प्रतिनिधियों ने भी हिस्सा लिया। भारतीय खेल प्राधिकरण के उच्च प्रदर्शन निदेशक और खेल रत्न अवॉर्ड से सम्मानित पुष्पेन्द्र गर्ग ने फिटनेस के लाभ और फिट इंडिया फ्रीडम रन पर चर्चा की। साई नेशनल बॉक्सिंग अकादमी रोहतक के मुख्य कार्यकारी अधिकारी सतीश सरहदी ने इस आयोजन के समापन सत्र को सम्बोधित किया।

बजरंग पुनिया ने एक सफल राष्ट्र के निर्माण में मदद करने के लिए फिटनेस के महत्व पर बात की। उन्होंने कहा कि यदि आप किसी भी सफल देश को देखते हैं, तो इसमें फिट लोगों की संख्या अधिक है। मैं आपको प्रोत्साहित करूंगा कि आप अपने परिवार के सदस्यों और अपने समाज के दूसरे लोगों को फिट रहने के लिए कहें। अगर आप खुद को फिट रख सकते हैं, तो खुद को बीमारियों से भी दूर रख सकते हैं।  मैं कहना चाहूंगा कि, एक एथलीट के रूप में, अगर हम फिट रहते हैं, स्वस्थ रहते हैं और हमारा खान-पान ठीक है, तो हम ओलंपिक पदक जीतने के अंतिम लक्ष्य सहित अपने सभी उद्देश्यों को पूरा करने की आकांक्षा रख सकते हैं।

विनेश फोगाट ने प्रधानमंत्री और खेल मंत्री की पहल की सराहना की और कहा कि खिलाड़ियों की जिम्मेदारी समाज के प्रति भी है। फोगाट ने कहा कि फिट इंडिया फ्रीडम रन खेल मंत्री द्वारा की गई एक बहुत शानदार पहल है। एक एथलीट के रूप में, मैं फिट रहने से बहुत कुछ हासिल करती हूं लेकिन अगर हमारे आस-पास के सभी लोग फिट रहते हैं तो हम ज़्यादा अच्छा करने के लिए प्रोत्साहित होंगे। कोरोना वायरस महामारी के दौरान, जो लोग फिट थे, वे बीमारी से बेहतर ढंग से लड़ने में सक्षम हैं। हमारे प्रधानमंत्री ने खेलों के लिए बहुत कुछ किया है, पिछले 5-6 साल भारतीय खेलों के लिए बहुत अच्छे रहे हैं और हमारे लिए खिलाड़ियों के रूप में यह बात बहुत महत्वपूर्ण है कि हम समाज के लिए एक मिसाल कायम करें। मैं भारतीय खेलों के उत्थान के लिए प्रधानमंत्री और खेल मंत्री को धन्यवाद देती हूं।

2014 के एशियाई पैरा खेलों में स्वर्ण पदक विजेता और अर्जुन अवॉर्डी अमित सरोहा ने कहा कि विकलांगता फिट रहने के लिए बाधा नहीं बननी चाहिए, “मैं व्हीलचेयर पर बैठने के लिए बाध्य हूं इसलिए मैं दौड़ नहीं सकता, लेकिन इसका मतलब यह भी नहीं है कि कोई भी ऐसा नहीं कर सकता है। आप बैठ करके योग कर सकते हैं और फिट रह सकते हैं। अगर हम फिट रहेंगे, तो हमारा देश आगे बढ़ेगा।”

अर्जुन अवॉर्डी मुक्केबाज अखिल कुमार ने कहा, “यदि आपके पास मजबूत फिटनेस है, तो आप चोट से जल्दी उबर सकते हैं और बेहतर वापसी कर सकते हैं। मैं अपने सभी साथी एथलीटों को उनकी फिटनेस बनाए रखने, उनके स्वास्थ्य की देखभाल करने और ठीक से खाने के लिए प्रोत्साहित करूंगा।”

महिला हॉकी खिलाड़ी और अर्जुन अवॉर्डी दीपिका ठाकुर ने मातृत्व के बाद विशेष रूप से फिटनेस पर अपना दृष्टिकोण साझा किया। उन्होंने कहा कि मेरा एक साल का बच्चा है। हालांकि समय निकाल पाना मुश्किल होता है, इसके बावजूद मैं अपने बच्चे के जागने से पहले सुबह एक घंटे का समय निकालने की कोशिश करती हूं और अपनी फिटनेस के लिए व्यायाम करती हूं। अगर मेरे एक बच्चा होने के बाद भी मैं समय निकाल सकती हूं, तो दूसरे भी कर सकते हैं। जीवन में अनुशासन बनाए रखना महत्वपूर्ण है।”

इस समारोह में अन्य वक्ता पर्वतारोही अनीता कुंडू थे, जिन्होंने इस वर्ष तेनजिंग नोर्गे राष्ट्रीय साहसिक पुरस्कार जीता है। इसके अलावा कबड्डी कोच और इस वर्ष ध्यानचंद अवॉर्ड से सम्मानित मनप्रीत सिंह, इसी साल द्रोणाचार्य पुरस्कार जीतने वाले कुश्ती कोच ओम प्रकाश दहिया और भारतीय खेल प्राधिकरण की उच्च प्रदर्शन प्रबंधक पूनम बेनीवाल ने भी सम्बोधित किया।

Related posts

कालेधन रखने वालों की अब खैर नहीं, स्विस बैंक ने 11 भारतीयों के नामों का खुलासा किया

‘जन औषधि योजना’ के तहत एक हजार और स्‍टोर्स खोले जाएंगे

अमेरिकी राष्ट्रपति ने दिया प्रियंका चोपडा को डिनर का न्यौता