‘‘जन जागरण अभियान समिति’’ की वेबसाइट के अनावरण के अवसर पर मुख्यमंत्री श्री रावत

उत्तराखंड

देहरादून: शासन-प्रशासन के नियम राज्य विकास के कार्य सफलतापूर्वक सम्पन्न करने के लिए बने है, न कि कार्य में बाधा डालने के लिए। यदि किसी भी सामाजिक संगठन या नागरिक को राज्य के विकास से सम्बन्धित कार्य करने में प्रशासन के नियमों द्वारा कोई बाधा अनुभव होती है तो वह व्यक्ति या संस्था सीधे राज्य के मुख्यमंत्री के समक्ष अपनी बात रख सकते है, उनकी समस्या को गम्भीरता से लिया जायेगा। मुख्यमंत्री हरीश रावत ने मंगलवार को बीजापुर हाउस में जनकल्याण व सामाजिक उत्थान कार्यो में संलग्न सामाजिक संगठन ‘‘जन जागरण अभियान समिति’’ की वेबसाइट के अनावरण के अवसर पर उपरोक्त आश्वासन दिया।
राज्य के विकास में विभिन्न सामाजिक संगठनों की रचनात्मक भूमिका की प्रंशसा करते हुए मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि समाज में बढ़े परिवर्तन सामाजिक संगठनों के सहयोग से ही किए जा सकते है। राज्य सरकार विभिन्न सामाजिक कल्याण कार्यो में संलग्न सामाजिक संस्थाओं को सहयोग व यथासंभव सहायता देने हेतु प्रतिबद्ध है। मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि सामाजिक विकास के कई ऐसे क्षेत्र है, जिन पर राज्य सरकार पर्याप्त कार्य नही कर पाई है सामाजिक संस्थाओं को उन क्षेत्रों के विकास हेतु आगे आना चाहिये। सामाजिक कल्याण के कुछ ‘‘कोर कन्र्सनड सेक्टर’’ है जिन पर कार्य किया जाना चाहिये। सरकारों की अपनी सीमाऐं होती है उनके संचालन में प्रक्रियाए तथा नियम-विनियम भी अत्यधिक होते है जिस कारण विकास की गति प्रभावित होती है, अतः सामाजिक संस्थाओं विकास कार्यो को त्रीव गति देने में सहायक होती है राज्य सरकार इस सन्दर्भ में उनका पूरा सहयोग देगी। राज्य सरकार द्वारा महिला संशक्तिकरण, कुपोषण, बाल शिक्षा, कमजोर व पिछड़े वर्गो के विकास के लिए विभिन्न सामाजिक कल्याण की योजनाए लागू कि गई है परन्तु यदि निजी प्रयासो से सामाजिक संगठन इस क्षेत्र में पहल करते है तो राज्य सरकार उनका पूरा सहयोग करेगी। इसी प्रकार राज्य सरकार द्वारा ‘‘साॅफ्ट स्किल’’ विकास तथा स्वयं सहायता समूहों के सुदृढ़ीकरण पर विशेष बल दिया जा रहा है । सामाजिक संस्थाओं को भी इस क्षेत्र में आगे आना चाहिये।
मुख्यमंत्री श्री रावत ने राज्य की प्रमुख समस्याओं बाल कुपोषण तथा नशीले पदार्थो के व्यापक उपयोग पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि युवा वर्ग का नशे के खिलाफ अभियान में आगे आना चाहिये। यह उत्तराखण्ड के लिए चेतावनी है, हमे खूबसूरत देहरादून को नशे का द्वारा बनने से रोकना है।
कार्यक्रम के अवसर पर मुख्यमंत्री श्री रावत द्वारा जन जागरण समिति द्वारा किये जा रहे कार्यो कि प्रंशसा कि गई। उन्होंने संस्था से जुडे़ सभी युवाओ को अपना आर्शीवाद दिया कि वह अपने मानव कल्याण कार्यो के द्वारा अपनी संस्था के नाम ‘‘जस’’ (संक्षिप्त रूप) के अनुरूप असीम यश प्राप्त करे।
कार्यक्रम में जन जागरण अभियान समिति के संस्थापक स्वप्निल सिन्हा ने बताया कि यह वेबसाइट जन जागरूकता के क्षेत्र में कार्य करेगी, राज्य सरकार के विभिन्न जनहित सम्बन्धित योजनाओं का निःशुल्क प्रचार प्रसार वह किसी भी सामाजिक संस्था एवं अन्य किसी निजी नागरिक द्वारा किये गये सामाजिक क्षेत्र में किये गये निजी प्रयासों का निःशुल्क प्रचार प्रसार भी वेबसाइट के माध्यम से किया जायेगा।
कार्यक्रम के अवसर पर मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार सुरेन्द्र कुमार तथा मीडिया समन्वयक राजीव जैन ने भी संस्था की वेबसाइट तथा सामाजिक कार्यो के लिए शुमकानाऐ दी। सिटी मजिस्टेªट ललित नारायण मि़श्रा ने कहा कि संस्था द्वारा किये जा रहे समाजिक कार्यो से समाज पर सकारात्मक प्रभाव पड़ा है।
मुख्यमंत्री ने संस्था के राकेश भाटी, प्रवीण पाण्डेय, समीर दता तथा सभी युवाओं को सम्मानित किया गया।

Related posts

राज्य की महिलाओं, किशोरियों एवं बच्चों हेतु विभिन्न योजनओं के शुभारम्भ के अवसर पर कैबिनेट मंत्री दिनेश अग्रवाल

करीब 12 हजार पर्यटन उद्योग से जुड़े कार्मिकों को मिला राहत पैकेज का लाभ

उत्तराखंड प्रगतिशील पार्टी के सामाजिक कार्य प्रकोष्ठ द्वारा ठाकुरपुर में कार्यक्रम आयोजित की गई

Leave a Comment