मुख्यमंत्री ने झांसी जनपद में 612.04 करोड़ रु0 की लागत से एरच बहुउद्देशीय बांध परियोजना का शिलान्यास किया

उत्तर प्रदेश
लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने कहा कि राज्य सरकार जनपद झांसी सहित सम्पूर्ण बुन्देलखण्ड क्षेत्र के पिछड़ेपन को दूर कर उसे विकास के मुख्य रास्ते पर लाने के लिए कटिबद्ध है। प्रदेश सरकार गरीबों के उत्थान और उनके हित में अनेक योजनाएं संचालित कर रही है। वर्तमान सरकार ने ऐसी नीतियां एवं कार्यक्रम लागू किये हैं, जिससे गरीब लोग सबसे ज्यादा लाभान्वित होंगे। उन्होंने कहा कि अभी भी प्रदेश के विकास के लिए बहुत से कार्य किये जाने बाकी हैं।
मुख्यमंत्री ने यह विचार आज झांसी जनपद की तहसील मोंठ के ग्राम जुझारपुरा में 612.04 करोड़ रुपये की लागत से एरच बहुउद्देशीय बांध परियोजना का शिलान्यास करते हुए व्यक्त किए। साथ ही, उन्होंने सैनिक स्कूल का भी शिलान्यास किया। अपने सम्बोधन में उन्होंने कहा कि एरच बहुउद्देशीय बांध परियोजना दिसम्बर-2016 तक पूरी होगी। सिंचाई एवं जल संसाधन विभाग के अन्तर्गत बुन्देलखण्ड में 13 विभिन्न परियोजनायें निर्माणाधीन हंै। प्राथमिकता के आधार पर जो परियोजना अति महत्वपूर्ण होगी उसके लिए तत्काल धनराशि आवंटित कर शीघ्रता से कार्य पूर्ण कराया जायेगा, इसमें धन की कमी आड़े नहीं आएगी। उन्होंने सिंचाई विभाग के शीर्ष अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे समय-सारणी निर्धारित करते हुए तय समय सीमा में कार्य पूर्ण कराएं, जिससे प्रदेश की जनता को इसका लाभ मिल सके।
श्री यादव ने कहा कि समाजवादी सरकार किसानों की हितैषी है। इसी के दृष्टिगत इस वित्तीय वर्ष को किसान वर्ष के रूप में मनाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार किसानों को हर संभव मदद उपलब्ध करा रही है। पिछले दिनों बेमौसम बारिश और ओलावृष्टि का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि प्रदेश के प्रभावित किसानों को राज्य सरकार द्वारा बड़े पैमाने पर मदद उपलब्ध करायी गई है। राज्य सरकार पूरे देश में किसानों को सबसे अधिक मुआवजा दे रही है। उन्होंने कहा कि अब तक अतिवृष्टि एवं ओलावृष्टि से प्रभावित किसानों के लिए लगभग 2,500 करोड़ रुपये की राशि आवंटित की जा चुकी है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने अतिवृष्टि/ओलावृष्टि से मृत 18 किसानों के परिजनों को मुख्यमंत्री पीडि़त सहायता कोष से सात-सात लाख रुपये के चेक भी प्रदान किये।
उपस्थित जनसमुदाय को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि किसी भी समाज को आगे बढ़ने के लिए गरीबी और अशिक्षा से लड़ना होगा। प्रदेश की समाजवादी सरकार शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए लगातार कार्य कर रही है। इसके दृष्टिगत वर्तमान सरकार ने निःशुल्क लैपटाॅप वितरण तथा कन्या विद्या धन जैसी अनेक योजनाएं संचालित की हैं, जिससे प्रदेश के छात्र-छात्राएं शिक्षा के क्षेत्र में आगे बढ़ सकें।
श्री यादव ने कहा कि कामधेनु डेयरी योजना, लोहिया ग्रामीण आवास, मण्डियों की स्थापना आदि योजनायें गरीबों और अति पिछड़े लोगों के लिए चलाई जा रही हंै, ताकि वे भी प्रगति कर सके और उनका भी आर्थिक विकास हो। आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के परिवारों के लिए समाजवादी पेंशन योजना चलायी जा रही है। प्रदेश सरकार जनता को अच्छी स्वास्थ्य सेवाएं मुफ्त उपलब्ध कराने के लिए कटिबद्ध है। इसी उद्देश्य से प्रदेश के भी चिकित्सालयों में सभी प्रकार की जांचें मुफ्त कर दी गई हैं तथा मुफ्त इलाज के साथ-साथ दवा भी मुफ्त मिल रही है। बीमारों/गर्भवती महिलाओं को इलाज के लिए अस्पताल ले जाने-लाने की मुफ्त सुविधा उपलब्ध कराने के उद्देश्य से ‘108’ समाजवादी स्वास्थ्य सेवा तथा ‘102’ नेशनल एम्बुलेन्स सर्विस लागू की गई है और प्रदेश की जनता को इसका भरपूर लाभ भी मिल रहा है। चिकित्सा व्यवस्था को और अधिक बेहतर बनाने के उद्देश्य से एम0बी0बी0एस0 की 500 की सीटों में वृद्धि की गई तथा नये राजकीय मेडिकल काॅलेज भी स्थापित किए जा रहे हैं।
इस अवसर पर लोक निर्माण एवं सिंचाई मंत्री श्री शिवपाल सिंह यादव ने जनसभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि पानी बुन्देलखण्ड की बड़ी समस्या है, जिसे दूर करने के लिए 13 परियोजनाओं का कार्य शुरू कराया गया है। विगत तीन वर्षों में 4 परियोजनायें पूर्ण हो चुकी हैं, जिनका लोकार्पण भी किया जा चुका है। जिन पांच परियोजनायें पर कार्य चल रहा है उनमें से दो परियोजनायें 80 प्रतिशत और तीन 60 प्रतिशत पूर्ण हो चुकी हैं। जल्द ही सभी 13 परियोजनायें पूर्ण हो जाएंगी। एरच बहुद्देशीय बांध परियोजना 02 मेगावाट बिजली भी उत्पादन करेगी, जिससे किसानों को लाभ मिलेगा।
मुख्य सचिव श्री आलोक रंजन ने कहा कि राज्य सरकार की प्राथमिकता में है कि बुन्देलखण्ड का विकास हो और ऐसी परियोजनाएं लागू की जाएं, जिनसे कृषि लाभान्वित हो। सरकार बुन्देलखण्ड के विकास के लिए संकल्पित है। इस क्षेत्र में कृषि विकास की अपार संभावनाएं हैं। यदि उद्यान, पशुधन और सिंचाई के क्षेत्र में मिलकर कार्य किया जाए तो सभी को लाभ होगा। झांसी और महोबा में दो नदियों को पुनर्जीवित करने हेतु तालाब खोदे जा रहे हंै जिसका लाभ किसानों को मिलेगा। उन्होंने कहा कि 612.04 करोड़ रुपये लागत वाली एरच बांध बहुद्देशीय परियोजना है। इसके पूर्ण होने के उपरान्त 1850 हे. भूमि पर सिंचाई हो सकेगी। इस परियोजना को दिसम्बर 2016 तक पूर्ण कर लिया जाएगा। इस परियोजना से किसानों को पीने के पानी एवं सिंचाई के लिए भरपूर पानी मिल सकेगा।
इस मौके पर राजनीतिक पेंशन मंत्री श्री राजेन्द्र चैधरी, कई जनप्रतिनिधि तथा मण्डल तथा जिला प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

Related posts

कोविड हेल्प डेस्क को पूरी सक्रियता से संचालित करने के निर्देश: सीएम

अर्द्धकुम्भ को उत्तर प्रदेश की ब्रांडिंग का एक गौरवमय मंच बनाकर दुनिया के सामने प्रस्तुत करें: मुख्यमंत्री

ई-पार्क महानगर पुष्प प्रदर्शनी में बिखरे फूलों के रंग, डा0 दिनेश शर्मा ने किया अवलोकन

Leave a Comment