भारत सरकार एक्शन मोड में आई, गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने बुलाई समीक्षा बैठक

देश-विदेश

नई दिल्ली: उरी हमले पर पीएम मोदी की बैठक के बाद भारत सरकार एक्शन मोड में आ गई है। एक तरफ गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने हमले को लेकर  बुलाई है, तो दूसरी तरफ संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान को घेरने के लिए विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने भी तैयारी कर ली है।

गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने सुबह 10.30 बजे मीटिंग बुलाई है। बैठक के दौरान राजनाथ सिंह उरी आतंकी हमले की समीक्षा करेंगे और साथ जम्मू-कश्मीर के मौजूदा हालात पर चर्चा करेंगे। बैठक में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल, सुरक्षा अधिकारी और गृह सचिव भी मौजूद रहेंगे।

‘नवाज के कंधे से बंदूक चला रहे हैं राहील शरीफ’
विदेश राज्य मंत्री जनरल वीके सिंह ने ‘आज तक’ से बातचीत में बताया कि यूनाइटेड नेशंस जनरल असेंबली (UNGA) के दौरान सुषमा स्वराज पाकिस्तान के चेहरे का नकाब हटाएंगी। वीके सिंह ने कहा कि पाकिस्तान आतंकवाद को समर्थन देने वाला देश है। पाकिस्तानी आर्मी चीफ जनरल राहील शरीफ नवाज शरीफ के कंधे पर रखकर बंदूक चला रहे हैं।

‘कश्मीर द्विपक्षीय मुद्दा’
वीके सिंह ने बताया कि UNGA में पाकिस्तान द्वारा कश्मीर का मुद्दा उठाने का कोई मतलब नहीं है। कश्मीर द्विपक्षीय मुद्दा है, पाकिस्तानी आतंकवाद का जवाब भारत प्रभावशाली ढंग से देगा, पीएम मोदी ने सख्त कदम उठाए हैं।

संयुक्त राष्ट्र में सुषमा संभालेंगी कमान
खबरों की माने तो विदेश मंत्री सुषमा स्वराज संयुक्त राष्ट्र में अपने संबोधन में उरी हमले का मुद्दा उठाकर पाकिस्तान को घेरेंगी। 26 सितंबर को सुषमा UNGA को संबोधित करने वाली हैं। इसके साथ ही सभा से इतर वहां मौजूद अन्य देशों के विदेश मंत्रियों से भी सुषमा मुलाकात करेंगी ताकि कश्मीर और भारत के अन्य हिस्सों में पाकिस्तान की करतूतों का खुलासा किया जा सके।

अन्य देशों के समर्थन के लिए भारतीय राजदूतों ने की मदद
बता दें कि आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में भारत को समर्थन दिलवाने के लिए दुनिया भर में भारतीय राजदूत काफी प्रयास कर रहे हैं। सबसे पहले यूके में भारत के राजदूत नवतेज सरना ने यूके के विदेश मंत्री बोरिस जॉनसन और सुषमा स्वराज की फोन पर बातचीत करवाई। फोन पर ही बोरिस जॉनसन ने हमलों का विरोध किया।इसके बाद सोमवार को कई देशों के विदेश मंत्रालयों और नेताओं ने बयान जारी कर उरी आतंकी हमले की निंदा भी की है।

साभार आज तक लाइव हिन्दी

Related posts

रेल मंत्रालय कई नई रेल सेवाएं शुरू कर रहा है

श्री गडकरी ने मल्टी मोडल लॉजिस्टिक्स पार्कों की स्थापना से जुड़े कार्य की प्रगति की समीक्षा की

22 राज्यों / केंद्रशासित प्रदेशों में मृत्यु दर का मामला राष्ट्रीय औसत से कम

Leave a Comment