वित्तीय वर्ष 2020-21 में कुल मुख्य कर राजस्व प्राप्ति लक्ष्य 1,66,021 करोड़ रूपये के सापेक्ष 1,19,284.69 करोड़ रूपये की प्राप्ति: सुरेश कुमार खन्ना

Image default
उत्तर प्रदेश

उत्तर प्रदेश के वित्त, संसदीय कार्य एवं चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री सुरेश कुमार खन्ना ने आज यहां विधान भवन स्थित अपने कार्यालय कक्ष में प्रेस प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए बताया कि प्रदेेश में वित्तीय वर्ष 2020-21 में माह मार्च में मुख्य कर-करेत्तर राजस्व वाले मदों में कुल 16,476.33 करोड़ रूपये की प्राप्ति हुयी है जबकि वर्ष 2019-20 के मार्च माह में 13,445.85 करोड़ की प्राप्ति हुयी थी। उन्होंने बताया कि इस प्रकार माह मार्च 2021 में कर-करेत्तर राजस्व वाले महत्वपूर्ण मदो में वर्ष 2020 के माह मार्च के सापेक्ष 3030.48 करोड़ रूपये की वृद्धि हुयी है।
वित्त मंत्री ने बताया कि जी0एस0टी0 एवं वैट के अन्तर्गत वर्ष 2020-21 में माह मार्च में 8769.15 करोड़ रूपये की प्राप्ति हुयी है, जो माह मार्च में निर्धारित लक्ष्य प्राप्ति का 103.5 प्रतिशत है। इसमें जी0एस0टी0 के अन्तर्गत 5329.82 करोड़ रूपये की प्राप्ति हुयी है, जो निर्धारित लक्ष्य का 114.10 प्रतिशत है। इसी प्रकार वैट के अन्तर्गत 3439.33 करोड़ रूपये की प्राप्ति हुयी है, जो माह मार्च 2020 की प्राप्ति से 626.28 करोड़ रूपये अधिक है।
श्री सुरेश खन्ना ने बताया कि आबकारी के मद में वित्तीय वर्ष 2020-21 के माह मार्च में 4357.05 करोड़ रूपये की राजस्व प्राप्ति हुयी है, जो माह मार्च में निर्धारित लक्ष्य का 114.7 प्रतिशत है। माह मार्च 2020 में इसी में मद में 1838.45 करोड़ रूपये की प्राप्ति हुयी थी। इस प्रकार वर्ष 2021 के माह मार्च में वर्ष 2020 के माह मार्च की तुलना में आबकारी मद में  2518.60 करोड़ रूपये अधिक राजस्व प्राप्त हुआ है। स्टाम्प तथा निबन्धन के मद में वित्तीय वर्ष 2020-21 के माह मार्च में 2177.54 करोड़ रूपये का राजस्व प्राप्त हुआ है, जो माह मार्च के निर्धारित लक्ष्य का 105.90 प्रतिशत है। उन्होंने बताया कि वित्तीय वर्ष 2019-20 के माह मार्च में इस मद में 930.48 करोड़ रूपये प्राप्त हुये थे। इस प्रकार स्टाम्प एवं निबन्धन के मद में माह मार्च में वित्तीय वर्ष 2019-20 की तुलना में वित्तीय वर्ष 2020-21 में 1247.06 करोड़ रूपये अधिक राजस्व प्राप्त हुआ है। इसी प्रकार परिवहन के मद में वित्तीय वर्ष 2020-21 के माह मार्च में 740.95 करोड़ रूपये का राजस्व प्राप्त हुआ है, जो इस माह में राजस्व प्राप्ति के निर्धारित लक्ष्य का 100.80 प्रतिशत है। वित्तीय वर्ष 2019-20 के इसी माह मंे परिवहन के मद में 586.62 करोड़ रूपये की प्राप्ति हुयी थी। इस प्रकार वित्तीय वर्ष 2020-21 के माह मार्च में वर्ष 2019-20 के सापेक्ष परिवहन मद में 154.33 करोड़ रूपये अधिक का राजस्व प्राप्त हुआ है। उन्होंने बताया कि मुख्य कर राजस्व वाले मदों में वित्तीय वर्ष 2020-21 के माह मार्च में 16044.69 करोड़ रूपये की प्राप्ति हुयी है, जो इस माह के लक्ष्य का 106.5 प्रतिशत है।
वित्त मंत्री ने बताया कि करेत्तर राजस्व की प्रमुख मद भू-तत्व एवं खनिकर्म में वित्तीय वर्ष 2020-21 में माह मार्च में 431.64 करोड़ रूपये का राजस्व प्राप्त हुआ है, जो माह मार्च के लक्ष्य का 107.90 प्रतिशत है। उन्होंने बताया कि वित्तीय वर्ष 2019-20 के माह मार्च में इस मद के अन्तर्गत 225.41 करोड़ रूपये का राजस्व प्राप्त हुआ था। उन्होंने बताया कि इस प्रकार वित्तीय वर्ष 2020-21 के माह मार्च मे वर्ष 2019-20 की तुलना में भू-तत्व एवं खनिकर्म में 206.23 करोड़ रूपये का अधिक राजस्व प्राप्त हुआ है।
श्री खन्ना ने बताया कि प्रदेश की आर्थिक गतिविधियां कोविड-19 महामारी के कारण काफी प्रभावित हुयी। उन्होंने बताया कि वित्तीय वर्ष 2020-21 में कुल मुख्य कर राजस्व प्राप्ति लक्ष्य 1,66,021 करोड़ रूपये के सापेक्ष 1,19,284.69 करोड़ रूपये की प्राप्ति हुयी है, जो निर्धारित लक्ष्य का 71.80 प्रतिशत है। वित्तीय वर्ष 2019-20 में कर राजस्व प्राप्ति के निर्धारित लक्ष्य का 87.9 प्रतिशत की प्राप्ति हुयी थी। उन्होंने बताया कि करेत्तर राजस्व प्राप्ति के अन्तर्गत वित्तीय वर्ष 2020-21 में निर्धारित लक्ष्य की 55.10 प्रतिशत की प्राप्ति हुयी है।
चिकित्सा शिक्षा मंत्री ने बताया कि वर्तमान में कोरोना का संक्रमण पुनः बढ़ रहा है। इसके दृष्टिगत सभी मेडिकल कालेजों को बेड्स की संख्या बढ़ाने के निर्देश दिए गये है। उन्होंने बताया कि वर्तमान में के0जी0एम0यू0 में 223 आई0सी0यू0 बेड व 251 आइसोलेशन बेड की व्यवस्था है। उन्होंने बताया कि शीघ्र ही 29 आई0सी0यू0 बेड की व्यवस्था और   हो जाएगी जिससे के0जी0एम0यू0 में आई0सी0यू0 के 252 बेड उपलब्ध हो जाएंगे। डाॅ0 राममनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान में 108 आई0सी0यू0 एवं 100 आइसोलेशन कुल 208 बेड्स की व्यवस्था है। इसी प्रकार एस0जी0पी0जी0आई0 में 308 बेड की व्यवस्था है। उन्होंने कहा कि सावधानी ही इस महामारी से बचाव का तरीका है। उन्होंने सभी प्रदेशवासियों से अपील की है कि सरकारी निर्देशों का पालन करें और मास्क का प्रयोग करें, सामाजिक दूरी बनाए रखें तथा अपने हाथों को साबुन पानी से धोते रहें।

Related posts

राज्य सरकार परम्परागत चर्खाें की जगह सोलर चर्खाें को बढ़ावा दे रही है: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

औषधि की कमी व ठंड के कारण किसी भी गोवंश की मृत्यु ना होने पाए

मारपीट, पथराव व आगजनी की घटना से सम्बन्धित 17 अभियुक्त गिरफ्तार