घर बैठे डाकिया के माध्यम से अपने बैंक खाते से निकालें राशि, डाकिया बना अब चलता-फिरता एटीएम – Online Latest News Hindi News , Bollywood News
Breaking News
Home » उत्तर प्रदेश » घर बैठे डाकिया के माध्यम से अपने बैंक खाते से निकालें राशि, डाकिया बना अब चलता-फिरता एटीएम

घर बैठे डाकिया के माध्यम से अपने बैंक खाते से निकालें राशि, डाकिया बना अब चलता-फिरता एटीएम

यदि आप सुदूर क्षेत्र में रह रहे हैं, जहाँ पर बैंक की शाखा या एटीएम सुविधा नहीं है तो अब आपको पैसे निकालने के लिए परेशान होने की जरूरत नहीं है। शहरों में भी बैंक या एटीएम की लाईन में लगने की बजाय अब आप घर बैठे अपने इलाके के डाकिया के माध्यम से अपने बैंक खाते से पैसे निकाल सकते हैं। बस आपका खाता आधार और मोबाईल नंबर से लिंक होना चाहिए। इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक की “आधार इनेबल्ड पेमेंट सिस्टम (AEPS) सेवा” के तहत इसका लाभ उठाया जा सकता है। यह जानकारी लखनऊ मुख्यालय परिक्षेत्र के निदेशक डाक सेवाएँ कृष्ण कुमार यादव ने दी। “आपका बैंक आपके द्वार” के तहत कार्य करते हुए इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक ने  जनमानस में अपनी सुदृढ़ उपस्थिति दर्ज कराई है। उत्तर प्रदेश में इसके 18 लाख से अधिक खाते खुले हैं। इसमें खाता खुलवाना भी बेहद आसान है।

डाक निदेशक श्री कृष्ण कुमार यादव ने बताया कि, इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक द्वारा आरम्भ “आधार इनेबल्ड पेमेंट सिस्टम (AEPS) के माध्यम से अब कोई भी व्यक्ति अपने  बैंक के आधार-लिंक्ड खाते से धनराशि डाकघर के काउंटर्स या डाकिया के माध्यम से निकाल सकता है। अक्टूबर में आरम्भ होने के बाद, उत्तर प्रदेश में लगभग 50 हजार लोगों ने इसका लाभ उठाया है। इसमें एक दिन में अधिकतम दस हजार रूपये निकाले जा सकते हैं। इसके लिए किसी भी प्रकार का चार्ज नहीं लिया जायेगा। ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले लोग अपने इलाके के डाकिये के माध्यम से भी किसी बैंक से पैसे निकाल सकते हैं, बशर्ते खाता आधार से लिंक होना चाहिए। इस सुविधा के आने से घर-घर तक डाक पहुँचाने वाला डाकिया अब चलता फिरता एटीएम हो गया है।

डाक निदेशक श्री कृष्ण कुमार यादव ने बताया कि इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक के माध्यम से  विभिन्न सरकारी योजनाओं में सहायता राशि लाभार्थियों को उनके घर पर प्रदान की जा रही है, जिनमें  प्रमुख रूप से निक्षय भारत योजना के अंतर्गत टी.बी के मरीज़, प्रधान मंत्री मातृत्व वंदन योजना के अंतर्गत गर्भवती महिलाओं, दिव्यांग पेंशन योजना, वृद्धावस्था योजना, किसान सम्मान निधि  के लाभार्थी शामिल हैं। आईपीपीबी उत्तर प्रदेश के एजीएम अविनाश सिन्हा ने बताया कि इन लाभार्थियों को  जिनको पहले बैंक में  देर तक लाइन लगाकर लेनदेन करना पड़ता था अब उनके आधार के माध्यम से खाता खोलने के साथ जमा निकासी की सुविधा भी डाकिये द्वारा उनके घर पर प्रदान की जा रही है।  इसके अतिरिक्त अन्य सभी सरकारी योजनाओं के खाते भी समस्त प्रदेश में बड़ी संख्या में खोले जा रहे हैं। आईपीपीबी न सिर्फ अपने खातों से बल्कि अन्य बैंको के आधार लिंक्ड खातों से भी ग्राहकों को धनराशि आहरित करने की सुविधा प्रदान कर रहा है।

About admin