नगर विकास मंत्री ने शहरी श्रम रि-डेवलपमेंट की सुनियोजित पाॅलिसी बनाने हेतु विभागीय अधिकारियों को दिए निर्देश

Image default
उत्तर प्रदेश

लखनऊ: नगर विकास, संसदीय कार्य एवं नगरीय रोजगार एवं गरीबी उन्मूलन मंत्री श्री आशुतोष टण्डन ने शहरी श्रम रि-डेवलपमेंट की सुनियोजित पाॅलिसी बनाने हेतु विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिए। इस क्रम में निदेशक, सूडा द्वारा प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) के घटक इन-सीटू स्लम रिडवलपमेन्ट (प्ैैत्) की ड्राफ्ट पाॅलिसी मै0 क्रिसिल द्वारा तैयार की गयी, जिसका आज स्थानीय निकाय निदेशालय में नगर विकास मंत्री के समक्ष प्रस्तुतीकरण किया गया।

नगर विकास मंत्री श्री टण्डन को मै0 क्रिसिल के प्रतिनिधि द्वारा अवगत कराया गया कि ड्राफ्ट पाॅलिसी दो तरह से तैयार की गयी है। आॅप्शन-1 में सम्बन्धित स्थानीय निकाय द्वारा परियोजना का क्रियान्वयन किया जाएगा तथा आॅप्शन-2 में सम्बन्धित विकास प्राधिकरण द्वारा परियोजना का क्रियान्वयन किया जाएगा। ड्राफ्ट पाॅलिसी पर टिप्पणी करते हुए मा0 मंत्री जी द्वारा गरीबों को आवास के साथ-साथ आवश्यक जरूरतें यथा-लिवलीहुड सेन्टर, प्रशिक्षण केन्द्र, पार्क आदि को भी पाॅलिसी में सम्मिलित करने के निर्देश दिये गये। नारी शक्ति को बढ़ावा देने के उद्देश्य से आवासों को महिलाओं के नाम ही किये जाने के निर्देश दिये गये। प्रस्तुतीकरण में सरकारी भूमि पर बसे स्लमों पर सम्बन्धित स्थानीय निकाय द्वारा ही आई0एस0एस0आर0 के अन्तर्गत कार्य कराने का निर्णय लिया गया।

नगर विकास मंत्री को अवगत कराया गया कि मै0 क्रिसिल द्वारा उक्तड्राफ्ट पाॅलिसी तैयार करने से पूर्व समस्त स्टेकहोल्डर्स (आवास बन्धु, आर0सी0यू0ई0एस0, डवलपर्स, विकास प्राधिकरण, उ0प्र0 आवास एवं विकास परिषद, टाउन एण्ड कन्ट्री प्लानिंग डिपार्टमेन्ट, एजुकेशनल इन्स्टीट्यूशन्स, नगर निगम कानपुर/लखनऊ के निदेशक, कमिश्नर, बोर्ड मेम्बर एवं नगर आयुक्त) के साथ वार्ता करते हुए उनके द्वारा दिये गये सुझावों को समाहित किया गया है तथा मौके पर स्लम का भी निरीक्षण किया गया है। यह पाॅलिसी दो तरह से तैयार की गयी है। इसके अतिरिक्त विभिन्न राज्यों की स्लम पाॅलिसी का तुलनात्मक चार्ट भी प्रस्तुतीकरण के समय प्रस्तुत किया गया।

अन्त में नगर विकास मंत्री श्री आशुतोष टण्डन ने प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) के घटक स्व-स्थाने स्लम पुनर्विकास के क्रियान्वयन हेतु मै0 क्रिसिल के सहयोग से सूडा द्वारा तैयार की गयी ड्राफ्ट पाॅलिसी की सराहना करते हुए ड्राफ्ट पाॅलिसी में उपरोक्त सुझावों को समाहित कर अन्तिम रूप देते हुए फरवरी, 2020 के अन्त तक प्रस्तुत करने के निर्देश दिये गये।

बैठक में श्री मनोज कुमार सिंह, प्रमुख सचिव, नगर विकास तथा नगरीय रोजगार एवं गरीबी उन्मूलन विभाग, श्री उमेश प्रताप सिंह, निदेशक, सूडा एवं श्री आलोक ंिसंह, अपर निदेशक, सूडा, श्री सुनील श्रीवास्तव, श्री राजकमल, अधिशासी अभियन्ता, आवास बन्धु, श्री राजेश प्रताप सिंह, संयुक्त सचिव, आवास एवं शहरी नियोजन विभाग, श्री ए0के0 गुप्ता, अपर निदेशक, आर0सी0यू0ई0एस0, क्रिसिल तथा श्रीमती मोनिका खन्ना, डी0एफ0आई0डी0, यू0के0 के प्रतिनिधि भी उपस्थित थे।

Related posts

सहायक चकबन्दी अधिकारी द्वारा 10,000/- रूपये का उत्कोच लेते हुये गिरफ्तार

फोटोग्राफर विश्व के सामने कुम्भ के अद्भुत दृश्य अपने कैमरों में कैद कर प्रस्तुत कर सकते हैं: मुख्यमंत्री

दैवीय आपदा के प्रत्येक मृतक के आश्रितों को 04 लाख रु0 की सहायता राशि तत्काल वितरित करने के निर्देश