किसी भी स्थिति में सीसीटीवी, वॉइस रिकॉर्डर एवं राउटर बंद नहीं मिलने चाहिए: उप मुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा – Online Latest News Hindi News , Bollywood News
Breaking News
Home » उत्तर प्रदेश » किसी भी स्थिति में सीसीटीवी, वॉइस रिकॉर्डर एवं राउटर बंद नहीं मिलने चाहिए: उप मुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा

किसी भी स्थिति में सीसीटीवी, वॉइस रिकॉर्डर एवं राउटर बंद नहीं मिलने चाहिए: उप मुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा

लखनऊ: उप मुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा ने आज बोर्ड परीक्षा के चैथे दिन जनपद लखनऊ एवं हरदोई के विभिन्न परीक्षा केंद्रों एवं जनपदीय कंट्रोल रूम का औचक निरीक्षण किया। उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने इस दौरान विभिन्न स्थानों से संचालित होने वाली बोर्ड परीक्षा स्पेशल बसों का भी निरीक्षण किया।
उप मुख्यमंत्री ने सबसे पहले जनपद लखनऊ के कुंवर आसिफ अली इंटर कॉलेज, मलिहाबाद का औचक निरीक्षण किया। इसके उपरांत जनपद हरदोई के राजकीय बालिका इंटर कॉलेज संडीला, जानकी प्रसाद इंटर कॉलेज कछौना, सदाशिव इंटर कॉलेज हरदोई, राजकीय बालिका इंटर कॉलेज हरदोई तथा राजकीय इंटर कॉलेज हरदोई में बने जनपदीय कंट्रोलिंग सेंटर का औचक निरीक्षण किया।

निरीक्षण के दौरान उप मुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा ने जानकी प्रसाद इंटर कॉलेज कछौना, हरदोई के चार कमरों में एक-एक कक्ष निरीक्षक की ड्यूटी लगे होने पर नाराजगी जताते हुए निर्देश दिया कि परीक्षा व्यवस्था से किसी भी प्रकार की लापरवाही नहीं होना चाहिए। उन्होंने निर्देश दिया कि माध्यमिक शिक्षा विभाग द्वारा बोर्ड परीक्षा के संबंध में जारी किए गए शासनादेश एवं निर्देशों का अक्षरशः पालन कराया जाय।
उप मुख्यमंत्री ने राजकीय इंटर कॉलेज, हरदोई में बने जनपदीय कंट्रोल रूम का भी औचक निरीक्षण किया और कंट्रोल रूम से जनपद के विभिन्न परीक्षा केंद्रों के कमरों का सघन निरीक्षण किया।
उप मुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा ने इसके उपरांत माध्यमिक शिक्षा निदेशालय (शिविर कार्यालय) में स्थापित राज्यस्तरीय कंट्रोल एवं मॉनिटरिंग सेंटर का भी औचक निरीक्षण किया और विभिन्न जिलों के परीक्षा केंद्रों पर फोन के माध्यम से बात की और बोर्ड परीक्षा की शुचिता एवं पारदर्शिता की जानकारी ली।
निरीक्षण के दौरान उप मुख्यमंत्री ने पाया कि परीक्षा केंद्रों पर परीक्षाएं नकल विहीन, सुचारू एवं शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न कराई जा रही है। निरीक्षण के दौरान परीक्षार्थियों से प्रश्न पत्र के बारे में पूछा और उनका उत्साहवर्धन भी किया।
उप मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर जिला विद्यालय निरीक्षक को निर्देश दिया कि समस्त संवेदनशील एवं अतिसंवेदनशील परीक्षा केंद्रों पर विशेष ध्यान रखा जाए। परीक्षा अवधि के दौरान परीक्षा केंद्रों का नियमित औचक निरीक्षण एवं पर्यवेक्षण करते रहें। परीक्षा के दौरान किसी भी अवांछित गतिविधि करने वालों पर त्वरित कार्यवाही करें। उन्होंने निर्देश दिया कि परीक्षा कक्ष में किसी भी स्थिति में कक्ष निरीक्षकों की संख्या दो से कम ना हो।
उप मुख्यमंत्री ने निरीक्षण के दौरान परीक्षा केंद्रों पर लगे हुए कंट्रोल रूम के माध्यम से सीसीटीवी कैमरों, वॉइस रिकॉर्डर और कक्ष में तैनात कक्ष निरीक्षकों की गहन निगरानी की, और कंट्रोल रूम के नोडल अधिकारियों को निर्देश दिया कि कंट्रोल रूम के माध्यम से सभी कमरों का नियमित निरीक्षण किया जाए, निरीक्षण में किसी प्रकार की लापरवाही ना की जाए। उन्होंने निर्देश दिए कि किसी भी परीक्षा कक्ष का सीसीटीवी कैमरा, राउटर, वॉइस रिकॉर्डर किसी भी स्थिति में बंद नहीं मिलना चाहिए।
उन्होंने कहा कि राज्यस्तरीय कंट्रोल सेंटर से प्रदेश के समस्त परीक्षा केंद्रों की गतिविधियों पर नजर रखी जा रही है। किसी भी परीक्षा केंद्र पर किसी स्तर पर लापरवाही पाए जाने पर संबंधित के खिलाफ कठोरतम कार्रवाई की जाएगी।

About admin