चयनित अभ्यर्थियों द्वारा वरीयता क्रम में स्थित विद्यालयों के विकल्प का आवेदन २८ सितंबर से 08 अक्टूबर के मध्य देना होगा

Image default
उत्तर प्रदेश

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री डा0 दिनेश शर्मा ने बताया कि माध्यमिक शिक्षा विभाग के इतिहास में प्रथम बार प्रदेश सरकार की मंशा के अनुरूप पारदर्शी आनलाइन नियुक्ति/पदस्थापन प्रकिया अपनाते हुए लोक सेवा आयोग से चयनित सहायक अध्यापकों के पदों पर अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केन्द्र (छप्ब्द्ध के माध्यम से विकसित साफ्टवेयर के माध्यम से किया जायेगा। इसमें अभ्यर्थी घर बैठे वेबसाइट-ीजजचेरूध्ध्ेमबमकनवदसपदमचवेजपदहण्नचण्हवअण्पद पर अपना आवेदन कर सकता है तथा वेबसाइट में दर्शाये गये रिक्त पदों से अपने पसंद के विद्यालय का चयन कर सकता है। वेबसाइट कल दिनांक 25 सितंबर, 2020 से प्रारंभ हो जाएगी, जिससे अभ्यर्थी दिशा निर्देशों आवेदन की विधि एवं रिक्तियों का विवरण देख सकेंगे। चयनित अभ्यर्थियों द्वारा वरीयता क्रम में स्थित विद्यालयों के विकल्प का आवेदन 28 सितंबर से 08 अक्टूबर के मध्य देना होगा। 12 अक्टूबर 2020 तक अभ्यर्थियों द्वारा वरीयता क्रम का लाभ प्राप्त करने हेतु अपलोड किए गए प्रमाण पत्रों का सत्यापन करते हुए 16 अक्टूबर 2020 को ऑनलाइन नियुक्ति पत्र पदस्थापन आदेश निर्गत किया जाएगा।
उपमुख्यमंत्री डा0 दिनेश शर्मा ने बताया कि शासन द्वारा तैयार किये गये मानक के अनुरूप अभ्यर्थियों को वरीयता क्रम में आने पर पात्रता श्रेणी में नियुक्ति पत्र निर्गत किया जायेगा। उन्होंने बताया कि अभ्यर्थी अपना नियुक्ति पत्र भी वेबसाइट के माध्यम से डाउनलोड कर सकता है। प्रत्येक चरण में उसके रजिस्टर्ड मोबाइल नम्बर तथा ई.मेल आई0डी0 पर संदेश भेजने की व्यवस्था की गई है।
उपमुख्यमंत्री ने बताया कि लोक सेवा आयोग से चयनित सूची के अनुसार दिव्यांग श्रेणी में चयनित अभ्यर्थियों को पदस्थापन में वरीयता दी जाएगी। इसी प्रकार वह चयनित विवाहित महिला जिनका बच्चा ऑटिस्टिक (।नजपेजपब) है अथवा 40 प्रतिशत दिव्यांगता है उनको वरीयता दी जायेगी। जिनके पति/पत्नी भारतीय सेना/वायु सेना/नौसेना अथवा केन्द्रीय अर्द्धसैनिक बलों-जैसे ब्त्च्थ्ए प्ज्ठच्ए तथा ठैथ् में कार्यरत हैं उनको भी वरीयता दी जायेगी। इसके पश्चात् वे चयनित विधवाध्विधुर जिन्होंने पुनर्विवाह नहीं किया है तथा एकल अभिभावक  (ैपदहसम च्ंतमदजद्धहैं, तथा जिनके ऊपर बच्चों की देखभाल की जिम्मेदारी है उनको भी वरीयता दी जायेगी। इसके अतिरिक्त जिनके पति/पत्नी बेसिक, माध्यमिक एवं उच्च शिक्षा के अन्तर्गत आने वाले राजकीय अथवा सहायता प्राप्त विद्यालयों, परिषदीय विद्यालयों, राज्य/केन्द्रीय विश्वविद्यालयों/महाविद्यालयों एवं राजकीय (ळवअमतदउमदज) अर्द्धशासकीय (ैमउप ळवअमतदउमदजद्ध सेवा में कार्यरत हैं इनको भी पदस्थापन में वरीयता प्रदान की जाएगी। चयनित अभ्यर्थी को वरीयता का लाभ लेने के लिए सक्षम अधिकारी द्वारा निर्गत प्रमाण.पत्र लगाना होगा। यदि अभ्यर्थी द्वारा सक्षम अधिकारी द्वारा निर्गत प्रमाण.पत्र नहीं लगाया जाता तथा उसके द्वारा लगाया गया प्रमाण.पत्र विभाग द्वारा संतोषजनक न पाये जाने पर अमान्य किया जाता हैए तो उसे कोई भी वरीयता नहीं दी जाएगी। वरीयता कोटिक्रम के अनुसार पदस्थापन करने के उपरान्त शेष रिक्तियों पर अन्य बचे हुये अभ्यर्थियों का पदस्थापन लोक सेवा आयोग की मेरिट के अनुसार किया जायेगा। यह भी ध्यान रखा गया है कि जहाॅं अध्यापकों की विशेष आवश्यकता है, जैसे कि महत्वाकांक्षी जनपदों के विद्यालय, राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान के विद्यालय एवं जनपद के पं0 दीनदयाल उपाध्याय माॅडल विद्यालयों, वहां पर अध्यापकों की तैनाती में वरीयता प्रदान की जा रही है।
डा0 दिनेश शर्मा ने बताया कि माध्यमिक शिक्षा विभाग द्वारा शिक्षकों को आनलाइन नियुक्ति/पदस्थापन प्रक्रिया में पारदर्शिता अपनाते हुए माध्यमिक शिक्षा विभाग के इतिहास में प्रथम बार फोटो युक्त नियुक्ति पत्र निर्गत करने की व्यवस्था की गयी है। इस पारदर्शी नियुक्ति प्रक्रिया से अभ्यर्थी अपना नियुक्ति पत्र आनलाइन घर बैठे प्राप्त कर सकेंगे तथा अभ्यर्थियों को अनावश्यक रूप से कार्यालयों के चक्कर नहीं लगाने पडेंगे। आनलाइन पदस्थापन की पूरी प्रक्रिया में लोक सेवा आयोग में पंजीकृत मोबाइल नंबर एवं ई.मेल आई0डी0 की भूमिका अहम रहेगी। प्रथम बार लाॅगिन से लेकर आवेदन पत्र पूर्ण करने तथा विकल्पों को लाॅक करने की सम्पूर्ण प्रक्रिया में लोक सेवा आयोग में दिये गये मोबाइल नंबर एवं ई-मेल पर ओ0टी0पी0 तथा प्रत्येक चरण की सूचना प्राप्त होने के साथ ही नियुक्ति पत्र निर्गत होने का संदेश भी उनके पंजीकृत मोबाइल नंबर एवं ई-मेलपर देने की व्यवस्था की गयी है। पदास्थापन की प्रक्रिया संचालित होने पर अभ्यर्थी अपनी जिज्ञासा के समाधान के लिए मोबाइल नंबर 6387219859 (प्रातः 10ः00 से सायं 6ः00 बजे तक) एवं ई-मेल-ेमबमकनवदसपदमचवेजपदह/हउंपसण्बवउपर सम्पर्क कर सकते हैं।
लोक सेवा आयोग द्वारा राजकीय माध्यमिक विद्यालयों में सहायक अध्यापक के पदों पर महिला एवं पुरूष संवर्ग के 10,768 पदों का विज्ञापन किया गया था। इसमें लोक सेवा आयोग द्वारा विभिन्न विषयों के पुरूष संवर्ग में 1,772 तथा महिला संवर्ग में 1,545 कुल 3,317 अभ्यर्थियों की स्पष्ट संस्तुति प्रदान की है। कला विषय का परीक्षा परिणाम लोक सेवा आयोग द्वारा फिलहाल स्थगित कर दिया गया है। समाजिक विज्ञान एवं हिन्दी विषय का परीक्षा परिणाम शीघ्र ही प्राप्त होने वाला है। इन विषयों के अभ्यर्थियों को परीक्षा परिणाम प्राप्त होते ही प्रक्रिया में सम्मिलित कर लिया जायेगा।

Related posts

लाल व नीली बत्ती के प्रयोग को समाप्त करने का फैसला तात्कालिक प्रभाव से लागू किया जाएगा

एक मुश्त समाधान योजना (ओ0टी0एस0) के अन्तर्गत गन्ना संघ के कालातीत ऋणों की हो सकेगी वसूली: आयुक्त, गन्ना विकास एवं चीनी उद्योग

मुख्यमंत्री के रोज़ा इफ्तार में बड़ी संख्या में रोज़ेदारों ने शिरकत की