Online Latest News Hindi News , Bollywood News

एक दिन में अब तक की सर्वाधिक 29,117 सैम्पल की जांच की गयी

उत्तर प्रदेश

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव गृह एवं सूचना श्री अवनीश कुमार अवस्थी ने आज यहां लोक भवन में प्रेस प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए बताया कि मुख्यमंत्री जी ने हरिशंकरी के वृक्षों का रोपण कर ‘मिशन वृक्षारोपण-2020’ का शुभारम्भ किया। उन्होंने बताया कि हरिशंकरी का अर्थ है कि पीपल, बरगद व पाकड़ के पौधे का सम्मिलित रोपण। मुख्यमंत्री जी ने कहा है कि अधिक से अधिक वृक्षारोपण करके ही जीव सृष्टि को संरक्षित किया जा सकता है। जनसहभागिता के माध्यम से ही वृक्षारोपण जैसे वृहद कार्यक्रम को सफल बनाया जा सकता है। उन्होंने कहा है कि राज्य सरकार प्रदेश का ग्रीन कवर बढ़ाने के लिए संकल्पित है। इससे पूर्व, ‘मिशन वृक्षारोपण-2020’ के तहत आज 05 जुलाई, 2020 को एक दिन में 25 करोड़ से अधिक वृक्षारोपण किए जाने का लक्ष्य है।
श्री अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने कहा है कि वृक्षारोपण मिशन के अन्तर्गत व्यापक जनसहभागिता एवं अन्तर्विभागीय समन्वय के माध्यम से प्रदेश में एक दिन में 25 करोड़ से अधिक औषधीय, फलदार, पर्यावरणीय, छायादार, चारा औद्योगिक व प्रकाष्ठ की दृष्टि से महत्वपूर्ण 201 से अधिक प्रजातियों के पौधे रोपे जा रहे हैं। औषधीय पौधों से हमारे शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ेगी। मुख्यमंत्री जी ने कहा है कि वर्तमान में पूरा विश्व वैश्विक महामारी कोविड-19 का सामना कर रहा है। उन्होंने कहा है कि इम्युनिटी पावर को बढ़ाकर कोरोना वायरस से बचा जा सकता है। उन्होंने भारत के आयुर्वेद का जिक्र करते हुए कहा कि अनेक ऐसी औषधीय वनस्पतियां हैं, जिनका काढ़ा पीने से हम अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ा सकते हैं। मुख्यमंत्री जी ने कहा है कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी की प्रेरणा से वृक्षारोपण कार्यक्रम को एक नई गति प्राप्त हुई है। जल संरक्षण में भी वृक्षारोपण का विशेष महत्व है। उन्होंने कहा है कि प्रदेश में प्रधानमंत्री आवास योजना के अन्तर्गत 30 लाख आवास उपलब्ध कराए गए हैं। इन आवासों के सामने 01-01 सहजन के पौधे को रोपित करने का कार्य किया जायेगा। उन्होंने सहजन के महत्व को बताते हुए कहा कि इसकी फली का सेवन करने से कुपोषण से बचा जा सकता है।
श्री अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने कहा है कि उत्तर प्रदेश की भूमि दुनिया की सबसे अधिक उपजाऊ भूमि है, यहां सिंचाई के अच्छे स्रोत भी हैं। उन्होंने कहा है कि नमामि गंगे योजना के अन्तर्गत गंगा और उसकी सहायक नदियों के किनारे डेढ़ करोड़ पौधे रोपित किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा है कि पिछले तीन वर्षों में क्रमशः 05 करोड़, 11 करोड़ तथा 22 करोड़ वृक्ष लगाए गए हैं। इस वर्ष एक ही दिन में 25 करोड़ वृक्ष लगाए जा रहे हैं। उन्होंने कहा है कि वृक्षों को जियो टैग भी किया जा रहा है। मुख्यमंत्री जी ने कहा है कि ‘मिशन वृक्षारोपण-2020’ पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन विभाग सहित 26 राजकीय विभागों तथा विभिन्न सामाजिक संस्थाओं, स्वयं सेवी संगठनों, जनप्रतिनिधियों, विद्यार्थियों, व्यापारियों आदि के योगदान से सम्पन्न किया जा रहा है।
श्री अवस्थी ने बताया कि वन एवं पर्यावरण मंत्री श्री दारा सिंह ने कहा है कि मुख्यमंत्री जी के नेतृत्व में वन विभाग नित नए लक्ष्यों को प्राप्त कर रहा है। आज एक साथ़ पूरे प्रदेश मंे वृक्षारोपण का कार्य वृहद स्तर पर किया जा रहा है। वृक्षारोपण का कार्य आज शाम 06 बजे तक जारी रहेगा। उन्होंने बताया कि प्रदेश भर में किये जा रहे वृक्षारोपण की संख्या का अपडेट निरन्तर वन विभाग की वेबसाइट लिंक चउेनचकिण्पदध्चसंदजपदहचतवहतमेेण्ीजउस पर अपलोड की जा रही है। उन्होंने कहा कि इस लिंक पर लोग अपने वृक्षारोपण की तस्वीर भी अपलोड कर सकते हैं। उन्होंने गांव एवं शहर में रहने वाले सभी लोगों से अपील की है कि वे कम से कम एक पौधा अवश्य लगाएं तथा उसकी सुरक्षा भी सुनिश्चित करें।
श्री अवस्थी ने बताया कि गृह विभाग की धारा 188 के तहत 84,515 एफआईआर दर्ज करते हुये 2,17,061 लोगों को नामजद किया गया है। प्रदेश में अब तक 84,67,978 वाहनांे की सघन चेकिंग में 60,900 वाहन सीज किये गये। चेकिंग अभियान के दौरान 39,75,69,277 रूपए का शमन शुल्क वसूल किया गया। कालाबाजारी एवं जमाखोरी करने वाले 974 लोगों के खिलाफ 732 एफआईआर दर्ज करते हुए 351 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने बताया कि फेक न्यूज के तहत अब तक 1686 मामलों को संज्ञान में लेते हुए कार्यवाही की गई है। 05 जुलाई को कुल 09 मामले, जिनमें ट्विटर के 08, फेसबुक के 01 मामले को संज्ञान में लिया गया हंै तथा साइबर सेल को आवश्यक कार्यवाही हेतु प्रेषित। उन्होंने बताया कि प्रदेश के 2826 हाॅट स्पाॅट के 807 थानान्तर्गत 8,29,875 मकानों के 48,38,966 लोगों को चिन्हित किया गया है। इन हाॅट स्पाॅट क्षेत्रों में कोरोना पाॅजीटिव लोगों की संख्या 8,041 है। इंस्टीट्यूशनल क्वारेंटाइन किये गये लोगों की संख्या 9,402 है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में हाॅटस्पाॅट वाले बस्तियों में 4611 डोर स्टेप डिलिवरी मिल्क बूथ/मैन के द्वारा दूध वितरित किया गया है। डोर स्टेप डिलिवरी ‘फल, सब्जी आदि’ कुल 6827 वाहन लगाये गये हैं। डोर स्टेप डिलिवरी वाले प्रोविजन स्टोर की संख्या 5564 है। हाॅट स्पाॅट क्षेत्रों में कुल 40 प्रचलित सामुदायिक किचन हैं। इन बस्तियों में 14,14,783 राशन कार्डों पर खाद्यान्न का वितरण किया गया है।
श्री अवस्थी ने बताया कि निर्माण कार्यों से जुडे़ 18.14 लाख श्रमिकों, नगरीय क्षेत्र के 8.91 लाख श्रमिकों तथा ग्रामीण क्षेत्रों के 6.74 लाख निराश्रित व्यक्तियों को रु0 1,000-1,000ध्- के आधार पर कुल 33.79 लाख लोगों को 337.89 करोड़ रुपये का भुगतान किया गया है। उन्होंने बताया कि मनरेगा श्रमिकों को देय मानदेय कुल रूपए 2772.10 करोड़ के सापेक्ष 2333.70 करोड़ रूपए का भुगतान उनके खाते में कर दिया गया है। अवशेष धनराशि का भुगतान शीघ्र श्रमिकों के खाते में कर दिया जायेगा। उन्होंने बताया कि वर्तमान में प्रदेश की पर्सनल प्रोटेक्टिव इक्यूपमेन्ट एवं मास्क सहित कुल 70 इकाईयां क्रियाशील हैं। प्रदेश में 1127 फ्लोर मिल, 503 तेल मिल एवं 332 दाल मिल संचालित की जा रही है।
श्री अवस्थी ने बताया कि प्रदेश में टेस्टिंग का कार्य तेजी से किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि कल एक दिन में अब तक की सर्वाधिक 29,117 सैम्पल की जांच की गयी। पिछले 03 दिनों की औसत टेस्टिंग संख्या 27,569 प्रतिदिन है। उन्होंने बताया कि मा0 मुख्यमंत्री जी द्वारा निर्धारित 25 हजार टेस्टिंग के लक्ष्य को पार करते हुए शीघ्र ही 30 हजार टेस्ट प्रतिदिन के लक्ष्य को प्राप्त कर लिया जायेगा। उन्होंने बताया कि कल एक दिन में रैपिड एन्टीजन टेस्ट के अन्तर्गत 2703, ट्रूनैट मशीनों से टेस्ट के अन्तर्गत 1468 टेस्ट किये गये। उन्होंने बताया कि प्रदेश में कल सर्वाधिक केजीएमयू द्वारा 3579 टेस्ट किये गये। आईएमएस बीएचयू वाराणसी में 1178, एलएलआरएम मेडिकल काॅलेज मेरठ में 1344, एसजीपीजीआई लखनऊ में 2148, आरएमआरसी गोरखपुर में 1274, बीआरडी मेडिकल काॅलेज गोरखपुर में 1041, एमएलएनएमसी प्रयागराज में 1006, आरएमएलआईएमएस लखनऊ में 1700, एसएनएमसी आगरा में 1173, जीएसवीएम कानपुर में 1356, एनआईबी नोएडा में 1028 टेस्ट किये गये।
श्री अवस्थी ने बताया कि प्रदेश में 8,161 कोरोना के मामले एक्टिव हैं। उन्होंने बताया कि अब तक 18,761 मरीज पूरी तरह से उपचारित हो चुके हैं। उन्होंने बताया कि विगत 24 घण्टे में 1155 मरीज कोरोना पाॅजीटिव पाये हैं।

Related posts

विवाह बंधन में बंधे तेजू-राजलक्ष्मी, लालू-मुलायम बने समधी

admin

योगी सरकार का बहनों को बड़ा तोहफा, बस यात्रा फ्री, मिठाई दुकानों को अनुमति

admin

मुख्यमंत्री ने लखनऊ आगमन पर प्रधानमंत्री का स्वागत किया

admin