Online Latest News Hindi News , Bollywood News

कोविड हेल्प डेस्क के माध्यम से 14763 लोगों में लक्षणोें की पहचान की गई

उत्तर प्रदेश

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव गृह एवं सूचना श्री अवनीश कुमार अवस्थी ने आज यहां लोक भवन में प्रेस प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए बताया कि मुख्यमंत्री जी ने टेस्टिंग क्षमता की समीक्षा किया तथा इसमे निरन्तर वृद्धि करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि टेस्टिंग क्षमता को बढ़ाकर 40,000 टेस्ट प्रतिदिन किया जाए। आर0टी0पी0सी0आर0 विधि से 30,000 टेस्ट प्रतिदिन तथा ट्रूनैट एवं रैपिड एन्टीजन टेस्ट के माध्यम से 10,000 टेस्ट प्रतिदिन किए जाएं। उन्होंने कहा है कि किसी भी स्तर पर लापरवाही होने से संक्रमण का प्रसार बढ़ने की सम्भावना रहती है। सावधानी बरतकर कोरोना के संक्रमण से बचा जा सकता है। उन्होंने जनपद कानपुर नगर, झांसी तथा वाराणसी में विशेषज्ञ चिकित्सकों की मेडिकल टीम भेजने के निर्देश देते हुए कहा है कि इन जनपदों में संक्रमण की स्थिति को देखते हुए विशेष सतर्कता बरतना जरूरी है। उन्होंने अधिक संक्रमण वाले जनपदों के कोविड अस्पतालों में बेड की संख्या में वृद्धि करने के निर्देश भी दिए हैं।

श्री अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने कहा है कि कोरोना से बचाव का व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाए। लोगों को मास्क का उपयोग करने, सोशल डिस्टेंसिंग अपनाने तथा अनावश्यक घर से बाहर न निकलने के सम्बन्ध में जागरूक किया जाए। इसके लिए विभिन्न माध्यमों का उपयोग करते हुए लोगों को प्रिंट तथा इलेक्ट्राॅनिक मीडिया सहित पोस्टर, बैनर तथा पब्लिक एड्रेस सिस्टम के द्वारा जागरूक करने की कार्यवाही की जाए। मेडिकल टीम को कोविड-19 के संक्रमण से सुरक्षित रखने के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम पूरी सक्रियता से संचालित किए जाएं। पुलिस तथा पी0ए0सी0 के कार्मिकों को संक्रमण से बचाने के लिए सभी सावधानियां लगातार बरती जाएं।

श्री अवस्थी ने बताया कि गृह विभाग की धारा 188 के तहत 87,147 एफआईआर दर्ज करते हुये 2,22,854 लोगों को नामजद किया गया है। प्रदेश में अब तक 88,29,637 वाहनांे की सघन चेकिंग में 61,619 वाहन सीज किये गये। चेकिंग अभियान के दौरान 41,65,46,347 रूपए का शमन शुल्क वसूल किया गया। कालाबाजारी एवं जमाखोरी करने वाले 977 लोगों के खिलाफ 733 एफआईआर दर्ज करते हुए 353 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने बताया कि फेक न्यूज के तहत अब तक 1741 मामलों को संज्ञान में लेते हुए कार्यवाही की गई है। 09 जुलाई को कुल 10 मामले, जिनमें ट्विटर के 08, फेसबुक के 02 मामले को संज्ञान में लिया गया हंै तथा साइबर सेल को आवश्यक कार्यवाही हेतु प्रेषित किया गया। उन्होंने बताया कि प्रदेश के 3351 हाॅट स्पाॅट के 831 थानान्तर्गत 8,85,167 मकानों के 50,98,845 लोगों को चिन्हित किया गया है। इन हाॅट स्पाॅट क्षेत्रों में कोरोना पाॅजीटिव लोगों की संख्या 10,306 है। इंस्टीट्यूशनल क्वारेंटाइन किये गये लोगों की संख्या 10,837 है। उन्होंने बताया कि हाटस्पाट एरिया में रात्रि और दिन में पूरी चैकसी बरती जाये, केवल स्वच्छता, सुरक्षा एवं सफाई से जुड़े लोगों का ही हाटस्पाॅट क्षेत्रों में आवागमन रहे। उन्होंने बताया कि प्रदेश में हाॅटस्पाॅट वाले बस्तियों में 4797 डोर स्टेप डिलिवरी मिल्क बूथ/मैन के द्वारा दूध वितरित किया गया है। डोर स्टेप डिलिवरी ‘फल, सब्जी आदि’ कुल 7160 वाहन लगाये गये हैं। डोर स्टेप डिलिवरी वाले प्रोविजन स्टोर की संख्या 5644 है। हाॅट स्पाॅट क्षेत्रों में कुल 35 प्रचलित सामुदायिक किचन हैं। इन बस्तियों में 8,42,555 राशन कार्डों पर खाद्यान्न का वितरण किया गया है। उन्होंने बताया कि निर्माण कार्यों से जुडे़ 18.16 लाख श्रमिकों, नगरीय क्षेत्र के  8.91 लाख श्रमिकों तथा ग्रामीण क्षेत्रों के 6.74 लाख निराश्रित व्यक्तियों को रु0 1,000- 1,000ध्- के आधार पर कुल 33.81 लाख लोगों को 338.05 करोड़ रुपये का भुगतान किया गया है। उन्होंनें बताया कि उत्तर प्रदेश परिवहन निगम द्वारा 6327 बसों से कल 758350 लोगों ने यात्रा की।

अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य श्री अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में टेस्टिंग का कार्य तेजी से किया जा रहा है। कल 30,000 सैम्पल प्रतिदिन जांच के लक्ष्य को पार करते हुए 32,826 सैम्पल की जांच की गयी। इस प्रकार प्रदेश ने कोविड-19 की जांच में 10 लाख का आकड़ा पार करते हुए अब तक कुल 10,36,106 सैम्पल की जांच की गयी है। इससे प्रदेश कोरोना टेस्ट में देश के अग्रणी राज्यों में शामिल हो गया है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में 10,373 कोरोना के मामले एक्टिव हैं। उन्होंने बताया कि अब तक 21,1271 मरीज पूरी तरह से उपचारित हो चुके हैं। उन्होंने बताया कि पूल टेस्ट के अन्तर्गत कुल 2328 पूल की जांच की गयी, जिसमें 1964 पूल 5-5 सैम्पल के तथा 364 पूल 10-10 सैम्पल की जांच की गयी।

श्री प्रसाद ने बताया कि ग्राम एवं मोहल्ला निगरानी समितियों के द्वारा निगरानी का कार्य सक्रियता से किया जा रहा है। अब तक 1,62,438 सर्विलांस टीम द्वारा 1,18,15,327 घरों के 6,03,32,201 से अधिक लोगों का सर्वेक्षण किया गया है। उन्होंने बताया कि आरोग्य सेतु ऐप से अलर्ट जनरेट आने पर कन्ट्रोल रूम द्वारा निरन्तर फोन किया जा रहा है। अलर्ट जनरेट होने पर अब तक 1,56,783 लोगों को कंट्रोल रूम द्वारा फोन कर जानकारी प्राप्त की गयी। उन्होंने बताया कि सी0एम0 हेल्प लाइन से भी निरन्तर फोन किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में विभिन्न विभागों द्वारा 35,809 कोविड हेल्प डेस्क स्थापित किये जा चुके है। इन कोविड हेल्प डेस्क के माध्यम से 14,763 लक्षणात्मक लोगों का चिन्हाकंन किया गया है। उन्होंने बताया कि अगले दो दिनों में गोण्डा, मिर्जापुर, बरेली, मुरादाबाद, वाराणसी और अलीगढ़ में कोविड-19 की 07 नयी प्रयोगशाला सक्रिय हो जायेगी। उन्होंने कहा कि आपस में साथ-साथ रहने अथवा बैठने वालों में संक्रमण की सम्भावना अधिक रहती है। उन्होंने कहा कि सभी लोग मास्क लगाये तथा सोशल डिस्टेसिंग का पालन करे।

Related posts

राज्यपाल एवं मुख्यमंत्री ने ऐशबाग ईदगाह पहुंचकर लोगों को ईद की मुबारकबाद दी

admin

अध्यापकों के चयन के लिए मण्डल एवं राज्य स्तर पर समिति का गठन, पुरस्कार राशि 25000 रुपये प्रति शिक्षक

admin

मुख्यमंत्री के निर्देश पर भूकम्प पीडि़तों की सहायता के लिए राज्य सरकार लगातार राहत एवं बचाव कार्य में सक्रिय

admin