प्रदेश में अब तक लगभग 161.69 लाख कुन्तल गेहूँ की हुई खरीद: अवनीश कुमार अवस्थी – Online Latest News Hindi News , Bollywood News
Breaking News
Home » उत्तर प्रदेश » प्रदेश में अब तक लगभग 161.69 लाख कुन्तल गेहूँ की हुई खरीद: अवनीश कुमार अवस्थी

प्रदेश में अब तक लगभग 161.69 लाख कुन्तल गेहूँ की हुई खरीद: अवनीश कुमार अवस्थी

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव गृह एवं सूचना श्री अवनीश कुमार अवस्थी ने आज यहां लोक भवन स्थित मीडिया सेल में प्रेस प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए बताया कि मुख्यमंत्री जी ने निर्देश दिये हंै कि विभिन्न राज्यों से उत्तर प्रदेश लौटने वाले प्रवासियों की एक सूची उपलब्ध करायी जाए, ताकि उन्हंे उ0प्र0 सुरक्षित लाया जा सके। उ0प्र0 सरकार सभी प्रवासियों की सकुशल एवं सुरक्षित प्रदेश वापसी के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा है कि कोरोना संक्रमण के फैलाव को रोकने तथा परिस्थिति की माॅनीटरिंग के लिए आगरा, मेरठ तथा कानपुर जनपदों में एक उच्च स्तरीय मेडिकल टीम भेजी जाए। साथ ही इन जनपदों में वरिष्ठ प्रशासनिक एवं पुलिस अधिकारियों को भी भेजने के निर्देश दिए हैं। इस क्रम में उन्होंने आगरा में प्रमुख सचिव औद्योगिक विकास श्री आलोक कुमार एवं प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा श्री रजनीश दुबे, पुलिस महानिरीक्षक श्री विजय प्रकाश तथा पी0जी0आई0 से एक वरिष्ठ डाॅक्टर को भी कैम्प करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने जनपद मेरठ में प्रमुख सचिव सिंचाई श्री टी0 वेंकटेश के साथ पुलिस महानिरीक्षक श्रीमती लक्ष्मी सिंह व चिकित्सा शिक्षा, स्वास्थ्य के वरिष्ठ अधिकारियों को कैम्प करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने जनपद कानपुर में एम0डी0 यू0पी0 सीडा श्री अनिल गर्ग एवं पुलिस महानिरीक्षक श्री दीपक रतन तथा स्वास्थ्य विभाग के दो वरिष्ठ अधिकारियों को कैम्प करने के निर्देश दिए है।
श्री अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने कोरोना संक्रमण की जांच के लिए टेस्टिंग क्षमता बढ़ाने के लिए कहा। उन्होंने पूल टेस्टिंग की संख्या बढ़ाने की आवश्यकता पर भी बल दिया। उन्होंने कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए सभी मेडिकल काॅलेजों के प्रधानाचार्यों से संवाद बनाने की आवश्यकता पर भी बल दिया। उन्होंने डाॅक्टरों, पैरामेडिकल के साथ-साथ सभी डिग्री व इन्टर काॅलेजों के प्रधानाचार्यों को प्रशिक्षित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा है कि लाॅकडाउन का सख्ती से पालन सुनिश्चित किया जाए। अन्तर्राज्यीय तथा अन्तर्राष्ट्रीय सीमाओं पर विशेष सतर्कता बरती जाए। साथ ही, विभिन्न राज्यों की सीमाओं से कोई भी व्यक्ति पैदल न चले, हर हाल में पलायन को रोका जाए। साथ ही, सभी अस्पतालों में पी0पी0ई0 किट, एन-95 मास्क, सेनिटाइजर सहित अन्य सभी आवश्यक वस्तुओं की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए।
श्री अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने कहा है कि सभी कम्युनिटी किचन में साफ-सफाई सुनिश्चित की जाए। साथ ही, इन्हें सेनेटाइज भी किया जाए। इन किचन के माध्यम से जरूरतमंदों को अच्छा भोजन पर्याप्त मात्रा में देना सुनिश्चित किया जाए। सभी प्रवासी श्रमिकों/कामगारों का स्वास्थ्य परीक्षण अनिवार्य रूप से किया जाए। अस्वस्थ होने की दशा में उन्हें उपचारित किया जाए। सभी स्वस्थ प्रवासी श्रमिकों/जरूरतमंदों को घर भेजते समय खाद्यान्न की किट एवं भरण-पोषण भत्ता भी उपलब्ध करवायें। मुख्यमंत्री जी ने कहा है कि सभी जनपदों में निरन्तर साफ-सफाई व सेनिटाइजेशन सुनिश्चित करने के साथ ही, कम्युनिटी किचन में खाना बनाने वालों का प्रतिदिन स्वास्थ्य परीक्षण करने के लिए कहा। उन्होंने डोर स्टेप डिलीवरी तथा सप्लाई चेन को मजबूत करने के निर्देश दिए। उन्होंने लोगों के मध्य राज्य के आयुष विभाग द्वारा लाॅन्च किए गए ‘आयुष कवच कोविड’ एप को प्रोत्साहित करने के लिए कहा। इससे लोगों को अपनी इम्युनिटी बढ़ाने में काफी मदद मिलेगी, क्योंकि इसमें आयुर्वेद एवं योग के सम्बन्ध में काफी जानकारी मौजूद है।
श्री अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने कहा है कि सभी जनपदों में मौजूद वेण्टीलेटर्स को फंक्शनल किया जाए। इसके अलावा एनेस्थीशिया डाॅक्टरों की सूची भी बना ली जाए। उन्हें ट्रेनिंग देकर वेण्टीलेटर्स संचालित कराए जाएं। उन्होंने इमरजेंसी मेडिकल सेवाएं स्वास्थ्य विभाग द्वारा निर्धारित प्रोटोकाॅल के अनुसार संचालित करने के निर्देश दिए। साथ ही, उन्होंने कहा कि नर्सिंग, डेन्टल तथा इंजीनियरिंग काॅलेजों में एल-1 कोविड अस्पताल स्थापित किए जाएं, ताकि किसी भी आकस्मिकता से निपटा जा सके। उन्होंने कहा कि पुलिस बल को इन्फेक्शन से बचाने के लिए हर सम्भव प्रयास किए जाएं।
श्री अवस्थी ने बताया कि प्रदेश में विभिन्न राज्यों से 115 टेªन के माध्यम से प्रवासी कामगारों एवं श्रमिकों की वापसी हो चुकी है, आज 57 टेªन से लगभग 70 हजार यात्री आयेंगे। लखनऊ, गोरखपुर में 15-15 ट्रेन, प्रयागराज में 09 ट्रेन सहित प्रदेश के 42 स्टेशनों पर विभिन्न प्रदेशों से ट्रेन लायी जा रही है। इसी प्रकार बाराबंकी, आजमगढ़, आगरा, कानपुर, जौनपुर, बरेली, बलिया, वाराणसी, गाजीपुर, प्रतापगढ़, रायबरेली, अमेठी, मऊ, कन्नौज, बांदा, हरदोई, अयोध्या, सोनभद्र, गोण्डा, सीतापुर, उन्नाव, बस्ती, कासगंज, मानिकपुर (चित्रकूट), सुल्तानपुर, लखीमपुर खीरी, बहराइच, अम्बेडकरनगर, फतेहपुर, फर्रूखाबाद, चन्दौली, हमीरपुर, कुशीनगर, एटा, जालौन (उरई), इटावा, रामपुर, शाहजहांपुर तथा अलीगढ़ आदि जनपदों में भी प्रवासी कामगारों को लेकर ट्रेन पहुंच चुकी है या पहुंच रही हैं।
श्री अवस्थी ने बताया कि कोरोना वायरस के दृष्टिगत प्रदेश में लाॅक डाउन अवधि में पुलिस विभाग द्वारा की गयी कार्यवाही में अब तक धारा 188 के तहत 41,258 लोगों के विरूद्ध एफआईआर दर्ज की गई। प्रदेश में अब तक 35,04,919 वाहनांे की सघन चेकिंग में 37,999 वाहन सीज किये गये। चेकिंग अभियान के दौरान 16,79,08,572 रूपए का शमन शुल्क वसूल किया गया। आवश्यक सेवाओं हेतु कुल 2,20,724 वाहनों के परमिट जारी किये गये हैं। उन्होंने बताया कि कालाबाजारी एवं जमाखोरी करने वाले 768 लोगों के खिलाफ 603 एफआईआर दर्ज करते हुए 278 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने बताया कि प्रदेश के 467 हाॅटस्पाॅट क्षेत्र के 308 थानान्तर्गत 8,77,744 मकान चिन्हित किये गये। इनमें 49,06,846 लोगों को चिन्हित किया गया है। इन हाॅटस्पाॅट क्षेत्रों में कोरोना पाॅजिटिव पाये गये लोगों की संख्या 2028 है। हाॅटस्पाॅट क्षेत्रों में 23,246 वाहनों का चालान करते हुए 1444 वाहन जब्त किये गये। श्री अवस्थी ने बताया कि प्रदेश के कुल 20 जनपदों के तब्लीगी जमात में शामिल 2670 व्यक्तियों को क्वारेंटाइन किया गया है। 325 विदेशी तब्लीगी व्यक्ति जो प्रदेश के विभिन्न जनपदों में आये और मौजूद हैं, सभी 325 विदेशी व्यक्तियों का चिकित्सकीय परीक्षण करके क्वारेंटाइन किया गया है। तब्लीगी जमात के 45 विदेशी सदस्यों पर एफआईआर दर्ज की गई है तथा 259 पासपोर्ट जब्त किये गये हैं।
श्री अवस्थी ने बताया कि प्रदेश में स्थापित 5774 क्रय केन्द्रों के माध्यम से लगभग
161.69 लाख कुन्तल गेहूँ की खरीद की जा चुकी है। प्रदेश में निःशुल्क खाद्यान्न वितरण के द्वितीय चरण में प्रचलित कुल 3,52,22,073 राशन कार्डो के सापेक्ष मई माह में लगभग 3,17,58,774 कार्डो पर 7,32,322.86 मी0टन खाद्यान्न का निःशुल्क वितरण किया गया है। प्रदेश में 939 सरकारी तथा 837 स्वैच्छिक कम्यूनिटी किचन के माध्यम से 10,26,948 लोगों को फूड पैकेट्स वितरित किये गये हैं। डोर-स्टेप-डिलीवरी व्यवस्था के अन्तर्गत 23,852 किराना स्टोर क्रियाशील हैं, जिनके माध्यम से 51,956 डिलीवरी मैन आवश्यक सामग्री निरंतर पहुंचा रहे हैं। फल एवं सब्जी वितरण व्यवस्था के अन्तर्गत कुल 44,724 वाहनों की व्यवस्था की गयी है। इसी क्रम में कुल 53.94 लाख लीटर दूध उपार्जन के सापेक्ष 34.64 लाख लीटर दूध का वितरण 21,550 डिलीवरी वैन के माध्यम से किया गया है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के सम्बंध में राहत आयुक्त कार्यालय में राज्य स्तर पर स्थापित एकीकृत आपदा नियंत्रण केन्द्र के टोल फ्री हेल्पलाईन नं0 1070 पर प्राप्त 69,140 काॅल्स में से 65,645 का निस्तारण किया गया।
श्री अवस्थी ने बताया कि उत्तर प्रदेश भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड की श्रमिक भरण-पोषण योजना के तहत निर्माण कार्यों से जुड़े, नगरीय एवं ग्रामीण क्षेत्र के लगभग
31.42 लाख श्रमिकों एवं निराश्रित व्यक्तियों को भी एक-एक हजार रूपए की धनराशि का भुगतान किया जा चुका है। उन्होंने बताया कि प्रदेश की 64,066 औद्योगिक इकाइयों से संपर्क किया गया, जिनमें से 59,153 इकाइयों द्वारा अपने कार्मिकों को रु0 643.80 करोड़ के वेतन का वितरण किया जा चुका है।
श्री अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश के 66 जनपदों में 1884 मामले एक्टिव हैं। उन्होंने बताया कि अब तक 1504 मरीज पूरी तरह से उपचारित हो चुके हैं। अब तक प्रदेश के 71 जिलों से 3462 कोरोना पाॅजिटिव के मामले सामने आए हैं। उन्होंने बताया कि कल 273 पूल टेस्ट के माध्यम से 1365 सैम्पल टेस्ट किये गयेे। 1953 लोगों को आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है तथा 9003 लोगों को फैसिलिटी क्वारेंटाइन में रखा गया है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में कोरोना टेस्टिंग लैब की संख्या बढ़कर 26 हो गयी है। उन्होंने बताया कि चिकित्सा शिक्षा विभाग द्वारा कोविड चिकित्सालयों हेतु मेंटर इन्स्टीट्यूशन नामित किये गये हैं। पश्चिमी क्षेत्र के जनपदों के लिए मेडिकल कालेज मेरठ, मध्य क्षेत्र के जनपदों के लिए मेडिकल कालेज कानपुर तथा पूर्वांचल के जनपदों हेतु मेडिकल कालेज प्रयागराज में टीम गठित की गयी है। इसके अतिरिक्त उच्चस्तरीय चिकित्सीय परामर्श हेतु पश्चिमी क्षेत्र के जनपदों के लिए एस0जी0पी0जी0आई0, लखनऊ, मध्य क्षेत्र के जनपदों के लिए के0जी0एम0यू0, लखनऊ तथा पूर्वांचल के जनपदों हेतु बी0एच0यू0 वाराणसी में टीम गठित की गयी है। उन्होंने बताया कि इस पूरे सिस्टम को इलेक्ट्राॅनिक कोविड केयर सपोर्ट सिस्टम नाम दिया गया है।

About admin