27 विकास कार्यों का लोकार्पण एवं शिलान्यास करते हुएः सीएम

Image default
उत्तराखंड

पिथौरागढ़: मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने पिथौरागढ़ के विकास हेतु  कुल 112 करोड़ 47 लाख 11हजार की लागत के 27 विकास कार्यों का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया। जिसमें 32 करोड़, 30 लाख, 63 हजार रूपये की लागत से निर्मित 15 योजनाओं का लोकार्पण एवं 80 करोड़, 16 लाख, 48 हजार रूपये की लागत की कुल 12 विकास कार्यों का शिलान्यास शामिल है।
देवसिंह मैदान में स्थित नवनिर्मित बहुमंजिला कार पार्किंग के लोकार्पण कार्यक्रम के अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्तमान राज्य सरकार के आज साढ़े तीन साल पूर्ण हो रहे हैं। सरकार द्वारा इन साढ़े तीन सालों में राज्य के विकास हेतु जो वादे किये गये थे उनमें से अधिकांश पूर्ण कर लिये गये हैं। शेष विकास कार्यों को शीघ्र पूर्ण करने हेतु कार्य तेजी से कराए जा रहे हैं। सरकार द्वारा राज्य में इन्वेस्टर समिट का आयोजन कर पहाड़ों के लिए 40 हजार करोड़ के एम0ओ0यू0 साइन किये गये, इनमें से अनेक होटल व्यवसाय के क्षेत्र में भी कार्य हुए जिनसे पर्यटन गतिविधियों को बढ़ावा मिला है जिसका सीधा लाभ स्थानीय जनता को मिल रहा है। वर्तमान में सरकार द्वारा स्वरोजगार को बढ़ाये जाने हेतु विभिन्न योजनाओं के माध्यम से कार्य कराये जा रहे हैं जिसमें से 800 करोड़ की  सोलर फार्मिंग का कार्य प्रारम्भ हो गया है।
मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि स्वरोजगार के क्षेत्र में राज्य में 10 हजार नौजवानों को मोटर बाईक टैक्सी दी जा रही है, इसके अतिरिक्त कैंपा के तहत 40 हजार लोगों को प्रत्येक गांव में ही कार्य उपलब्ध कराया जा रहा है। उन्होंने कहा कि किसानों एवं काश्तकारों को  बन्दरों से होने वाले नुकसान को रोके जाने हेतु सरकार द्वारा प्रदेश में 25 हजार बन्दरों की क्षमता वाले 04 बन्दरबाडे बनाये जा रहे हैं जिसका शिलान्यास आगामी 09 नवम्बर 2020 को किया जायेगा। उन्होंने कहा कि राज्य में समय-समय पर सरकारी विभागों में नौकरी हेतु भर्तियां की गयी, वर्ष 2017 में राज्य में 1084 चिकित्सक तैनात थे जो आज 2500 तक हो गये हैं। अधीनस्थ सेवा चयन आयोग के माध्यम से शीघ्र ही 4 हजार नयी भर्तियां की जायेगी। उन्होंने कहा कि वर्तमान में राज्य की कुल 86 प्रतिशत साक्षरता दर है इससे शत प्रतिशत करने के लिये एक पढ़े, एक को पढ़ायें के तहत राज्य की निरक्षरता को दूर कर उत्तराखंड को निरक्षरता से दूर किया जा सकता है।
देवसिंह मैदान स्थित पार्किंग स्थल के निरीक्षण के दौरान मुख्यमंत्री ने देवसिंह खेल मैदान को एक ऐतिहासिक खेल मैदान बताते हुए  जिलाधिकारी को खेल मैदान के सुधारीकरण एवं कार पार्किंग की ओर दर्शक दीर्घा बनाये जाने हेतु आगणन तैयार कर प्रस्तुत करने के निर्देश दिए।
मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने इससे पूर्व जिले के आपदा प्रभावित क्षेत्र बरम में आपदा से प्रभावितों हेतु स्थापित राहत शिविरों का स्थलीय भ्रमण कर आपदा प्रभावितों से मुलाकात  भी की। उन्होंने जिला मुख्यालय में एडीबी पर्यटन द्वारा नवनिर्मित बहुमंजिला कार पार्किंग तथा निर्माणाधीन नर्सिंग कॉलेज का स्थलीय निरीक्षण भी किया।
इस अवसर पर विधायक पिथौरागढ़ चंद्रा पंत, गंगोलीहाट मीना गंगोला,डीडीहाट विशन सिंह चूफाल,राज्य मंत्री शमशेर सत्याल, राज्य मंत्री फकीर राम टमटा, अध्यक्ष जिला पंचायत दीपिका बोहरा,कुमाऊं मंडल विकास निगम के अध्यक्ष केदार जोशी आयुक्त कुमॉऊ अरविन्द सिंह ह्यांकी, पुलिस महानिरीक्षक कुमांऊ अजय रौतेला, जिलाधिकारी डा0 विजय कुमार जोगदण्डे, पुलिस अधीक्षक प्रीति प्रियदर्शनी, मुख्य विकास अधिकारी सौरभ गहरवार एव अन्य जनप्रतिनिधि उपस्थित रहे।

Related posts

तकनीकी शिक्षा, विभाग के निर्माण कार्यों की समीक्षा करते हुएः यशपाल आर्य

सचिवालय में मुख्यमंत्री हरीश रावत से भेट करती हुएः साध्वी प्राची

खटीमा में जनता की शिकायतों को सुनते हुएः मुख्यमंत्री हरीश रावत