किसानों को मिलेगी मुफ्त बोरिंग एवं अनाज भण्डारण हेतु गोदाम बनाने की सुविधा: कृषि मंत्री

Image default
उत्तर प्रदेश

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के कृषि मंत्री, श्री सूर्य प्रताप शाही के अथक प्रयासों से प्रदेश के देवरिया एवं अमेठी जनपद को आगामी वित्तीय वर्ष 2020-21 से बी0जी0आर0ई0आई0 (ठतपदहपदह ळतममद त्मअवसनजपवद पद म्ंेजमतद प्दकपं) योजना के अन्तर्गत चावल एवं गेहूँ के लिये शामिल कर लिया गया है। इससे पूर्व इन जनपदों को एन0एफ0एस0एम0 (छंजपवदंस थ्ववक ैमबनतपजल डपेेपवद) योजनान्तर्गत सुविधायें अनुमन्य हो रही थीं।

श्री शाही ने बताया कि बी0जी0आर0ई0आई0 योजना के अन्तर्गत पूर्व में 14 जनपद आच्छादित थे, जो आगामी वित्तीय वर्ष से बढ़कर 16 हो जायेंगे। जबकि गेंहँू एवं चावल दोनो का उत्पादन करने वाले जनपदों की संख्या 5 से बढ़कर 7 हो जायेगी। उन्होंने बताया कि इस योजना के अन्तर्गत अब इन जनपदों के किसानों को 12000 रूपये तक की मुफ्त बोरिंग की सुविधा अनुमन्य होगी। साथ ही किसानों को 1000 मी0टन तक के अनाज के भण्डारण हेतु गोदाम बनाने की सुविधा भी मिलेगी, जिससे वे खाद्यान्न का स्वयं भण्डारण कर सकेंगे।

कृषि मंत्री ने बताया कि बी0जी0आर0ई0आई0 योजना के अन्तर्गत किसानों को कुछ विशेष कृषि यंत्रांे की सुविधा भी अनुमन्य होगी, जिस पर प्रदेश सरकार द्वारा अनुदान दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि इन कृषि यंत्रों में मुख्य रूप से पम्पसेट, रोटावेटर, सेल्फ प्रोपेल्ड पैडी ट्रांसप्लांटर, मानव चालित स्प्रेयर, नैपसेक स्प्रेयर, पैर चालित स्प्रेयर, पावर नैपसेक स्प्रेयर, पैडी थ्रेशर, मल्टी क्राॅप थ्रेशर, सीड ड्रिल, जीरो टिल सीड कम फर्टीड्रिल आदि हैं।

उन्होंने बताया कि इसके अतिरिक्त देवरिया एवं अमेठी के किसानों को स्थल विशेष क्रियाकलाप के अन्तर्गत मिनी राईस मिल, आल टाईप आफ क्लीनर कम ग्रेडर, ग्रेडिएन्ट सेपरेटर, स्पेसिफिक ग्रेविटी सेपरेटर फूडग्रेन, पानी लाने हेतु पाइप, स्ट्राॅ रीपर, रीपर कम्बाइन्डर के लिये प्रदेश सरकार द्वारा अनुदान भी दिया जायेगा।

Related posts

मुख्यमंत्री ने प्रदेश में फिल्म ‘हमारी अधूरी कहानी’ को टैक्स फ्री किए जाने की घोषणा की

मुख्यमंत्री ने जनपद आगरा में परिवहन निगम की बस के दुर्घटनाग्रस्त हो जाने से 29 लोगों की मृत्यु पर शोक व्यक्त किया

प्रधानमंत्री आवास योजना के अधूरे आवासों को आगामी 31 जुलाई तक पूरा करें यदि ग्राम्य विकास विभाग में रहना है, तो गांवों में जाना होगा: ग्राम्य विकास मंत्री