33 C
Lucknow

शस्त्र लाईसेंसो के दुरूपयोग करने वालों के विरूद्ध प्रभावी विधिक कार्यवाही हो: मुख्यमंत्री

उत्तर प्रदेश

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने प्रदेश में शान्ति व्यवस्था को और अधिक सुदृढ़ करने तथा अपराधों पर प्रभावी नियंत्रण हेतु विभिन्न प्रकार के रंजिश के मामलो में शामिल व्यक्तियों को चिन्हित कर भारी मुचलको पर पाबन्द करने तथा शस्त्र लाईसेंसो के दुरूपयोग की घटनाओं में तत्परता से प्रभावी विधिक कार्यवाही सुनिश्चित करने के निर्देश दिये हैं।
अपर मुख्य सचिव, गृह श्री अवनीश कुमार अवस्थी ने उक्त जानकारी देते हुये बताया कि प्रदेश में जिला प्रशासन एवं पुलिस प्रशासन एवं वरिष्ठ अधिकारियों को इस संबंध में जरूरी निर्देश भेजे जा चुके हैं। निर्देशों में कहा गया है कि शान्ति एवं व्यवस्था के दृष्टिगत आपसी रंजिश, पंचायत चुनाव सम्बन्धी रंजिश, विवादजन्य रंजिश आदि के मामलो को अभियान चलाकर चिन्हित किया जाय। चिन्हित मामलो में प्रभावी निरोधात्मक कार्यवाही सुनिश्चित की जाय तथा उन्हें भारी मुचलके पर पाबन्द किया जाय।
शासन द्वारा कहा गया है कि पाबन्दी का उल्लघंन कर शान्ति भंग करने वालो को प्राथमिकता पर चिन्हित कर उनसे मुचलके व बंधपत्र राशि की वसूली सुनिश्चित करते हुये नियमानुसार सख्त कार्यवाही की जाय। जिलाधिकारियों को इस बात के सख्त निर्देश दिये गये हैं कि पाबन्द करने के बाद भी शान्ति भंग करने वालो को प्राथमिकता पर चिन्हित कर उनसे मुचलके बंध पत्र की राशि की वसूली कर नियमानुसार संख्त कार्यवाही भी की जाए।
शासन द्वारा यह भी निर्देश दिये गये हैं कि शस्त्र लाईसेंसो के दुरूपयोग की घटनाओं पर सख्ती से नियंत्रण लगाया जाय। शस्त्र के दुरूपयोग करने वाले शस्त्र लाईसेंस धारियों के शस्त्र लाईसेंस निरस्त करने की कार्यवाही भी तत्परतापूर्वक नियमानुसार की जाय।
उल्लेखनीय है कि प्रदेश में इस वर्ष 16 जून से विशेष अभियान भी चलाया गया है, जिसके तहत अब तक 74700 व्यक्तियों को धारा-107 द0प्र0स0 के तहत चालान किया गया है। इस अवधि में 74033 लोगो को नोटिस दी गयी तथा 35645 लोगो को पाबंद किया गया है। अन्तिम रूप से पाबन्द लोगो की संख्या-1 लाख 15 हजार 975 है। अभियान के दौरान 26 पाबन्द व्यक्तियों के विरूद्ध शस्त्र लाईसेंस निलम्बित/निरस्त करने की रिपोर्ट सक्षम न्यायालय को भेजी गयी। अभियान के दौरान 252 शस्त्र निरस्तीकरण वाद दर्ज किये गये हैं तथा 256 शस्त्र लाईसेंस निलम्बित तथा 112 शस्त्र लाईसेंस निरस्त किये गये हैं।
यह भी उल्लेखनीय है कि इस वर्ष अब तक कुल 4 लाख 18 हजार 400 व्यक्तियो का धारा-107 द0प्र0सं0 के अन्तर्गत चालान किया गया है तथा 4 लाख 3 हजार 970 लोगो को नोटिस दी गयी है। साथ ही कुल 1 लाख 81 हजार 944 लोगो पाबंद किया गया है। अन्तिम रूप से पाबन्द लोगो की संख्या 6 लाख 71 हजार 631 है। साथ ही साथ 231 पाबन्द व्यक्तियों के विरूद्ध शस्त्र लाइसेंस निलम्बित/निरस्त करने की रिपोर्ट सक्षम न्यायालय को भेजी गयी है। इस वर्ष अब तक 1940 शस्त्र निरस्तीकरण वाद दर्ज किये गये हैं तथा 1702 शस्त्र लाईसेंस निलम्बित तथा 469 शस्त्र लाईसेंस निरस्त किये गये हैं।

Related posts

निर्माण कार्यों में विलम्ब करने वाले अधिकारियों को भुगतने पड़ेंगे गम्भीर परिणाम: केशव प्रसाद मौर्य

कोविड-19 के कारण चीन से हटने वाली कम्पनियों से प्रदेश को होगा फायदा: सिद्धार्थ नाथ सिंह

मुख्यमंत्री ने नई दिल्ली में आयोजित अन्तर्राष्ट्रीय व्यापार मेले में यू0पी0 पैवेलियन का भ्रमण एवं निरीक्षण किया