राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के क्रियान्वयन हेतु प्रस्तावित कार्य योजना के सम्बन्ध में विचार विमर्श करते हुए: मुख्य सचिव

Image default
उत्तराखंड

देहरादून: मुख्य सचिव श्री ओम प्रकाश की अध्यक्षता में राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के क्रियान्वयन हेतु प्रस्तावित कार्य योजना के सम्बन्ध में राज्य उच्च स्तरीय अनुमोदन समिति की बैठक आयोजित की गयी।
बैठक में शिक्षा विभाग द्वारा नई शिक्षा नीति-2020 को प्राथमिक, माध्यमिक और उच्च शिक्षा स्तर तीनों स्तरों पर क्रियान्वयन करने हेतु प्रस्तावित कार्ययोजना के सम्बन्ध में व्यापक विचार विमर्श किया गया तथा उपस्थित अधिकारियों द्वारा महत्वपूर्ण सुझाव भी साझा किये गये।
बैठक में मुख्य सचिव ने सम्बन्धित अधिकारियों को शिक्षा की गुणवत्ता बढ़ाने और रोजगार प्रदान किये जाने से सम्बन्धित नई शिक्षा के प्रावधानों को प्रथम चरण में लागू करने के निर्देश दिये। उन्होंने निर्देश दिये कि शिक्षा की गुणवत्ता और सुधार से सम्बन्धित नई शिक्षा नीति में जो प्रावधान सहज है और जिनको व्यापक विचार विमर्श के बिना लागू किया जा सकता है उन पर कार्य प्रारंभ कर दें, बाकि ऐसे प्रावधान जिस पर व्यापक विचार-विमर्श की आवश्यकता है उनको आगे विचार विमर्श के लिए रखे जाएं।
मुख्य सचिव ने अगली बैठक में नई शिक्षा नीति के प्रावधानों के अनुरूप शिक्षा को ढालने तथा उसकी अवसरंचना तैयार करने के लिए सरकारी और गैर सरकारी शिक्षाविदों को भी बैठक में आमंत्रित करने को कहा। उन्होंने शिक्षा नीति के प्रावधानों के अनुरूप पहले चरण में विभिन्न निकायों, समितियों और उप समितियों के गठन की रूपरेखा तैयार करने तथा शिक्षा नीति के मुख्य प्रावधानों के अनुपालन हेतु विस्तृत होमवर्क करने के निर्देश दिये।
उन्होंने विभिन्न कार्यों के संचालक हेतु आवश्यकतानुसार समितियों और उप समितियों का गठन करने को कहा। ये समितियां शिक्षा नीति के विभिन्न प्रावधानों पर व्यापक विचार विमर्श करते हुए उसके बेहतर क्रियान्वयन का मार्ग प्रशस्त करेंगी।
इस दौरान बैठक में प्रमुख सचिव श्री आनन्द वर्द्धन, सचिव शिक्षा श्री आर0मीनाक्षी सुन्दरम, सचिव श्री हरवंश सिंह चुग, निदेशक अकादमी शोध एवं प्रशिक्षण संस्थान सीमा जौनसारी सहित सम्बधित विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

Related posts

जिला प्रशासन/पुलिस अधिकारियों को ब्रिफ करते उच्चाधिकारी

निशंक को भूटान के प्रधानमंत्री ने हैप्पीनेस अवार्ड से किया सम्मानित

सेवा दिवस के रूप में मनेगा प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी का जन्म दिन